Gajar, Shalgam, Gobi Ka Achar | शलगम गाजर गोभी सेम का अचार । Shalgam Gajar Mix Veg Pickle

शलगम, गाजर, गोभी इत्यादि सर्दियों में बहुतायत में मिलती हैं. इनसे स्वादिष्ट करी तो बनती ही हैं. साथ ही इन सभी सब्जियों को मिलाकर बनने वाला अचार भी बहुत ही उम्दा स्वाद का होता है. शलगम गाजर सेम गोभी का अचार आप पराठे, चपाती, पूरी, किसी के साथ भी मज़े से खा सकते हैं. इस अचार को तो लोग बिना किसी के साथ भी ऎसे ही चटखारे लेने के लिए भी खाते हैं. आइए हम और आप मिलकर इस सीजन शलगम गाजर सेम गोभी का अचार बनाएं.

Gajar, Shalgam, Gobi Ka Achar | शलगम गाजर गोभी सेम का अचार । Shalgam Gajar Mix Veg Pickle

निर्देश

बनाने की विधि

2 शलगम, 2 गाजर और सेम का बंच और फूलगोभी लीजिए. इन्हें 2 से 3 बार अच्छे से धोकर पानी सूखने तक सुखाकर ले लीजिए.

shalgam-gajar-sem-gobhi-mix-acharशलगम को ½ से ¾ से मी के टुकड़ों में काट लीजिए. इसी तरह से गाजर और बीन्स को भी काट लीजिए. गोभी को फ्लोरेट कीजिए. अदरक को पतले-पतले छोटे टुकड़ों में काट लीजिए और हरी मिर्च को लंबाई में 2 टुकड़े करते हुए या एक गिराई साइज के टुकड़ों में काट लीजिए.

shalgam-gajar-sem-gobhi-mix-acharएक बर्तन में इतना पानी ले लीजिए कि इसमें सारी सब्जियां अच्छे से डूब सकें और पानी को उबलने रख दीजिए. पानी में उबाल आने पर शलगम, गाजर, सेम और फूलगोभी इसमें डाल दीजिए. सब्जियों को ढककर पूरे 3 मिनिट उबलने दीजिए. 3 मिनिट बाद, सब्जियों को पानी से निकाल लीजिए.

shalgam-gajar-sem-gobhi-mix-acharसब्जियों को छलनी में डाल दीजिए और छलनी को किसी बर्तन के ऊपर 5 मिनिट के लिए रख दीजिए ताकि इनमें से अतिरिक्त पानी निकल जाए. सब्जियों को कपड़े पर डालकर पतला पतला फैला दीजिए. इससे सब्जियों में जो भी पानी बचा होगा वो कपड़ा सोख लेगा. सब्जियों को एक प्लेट में रख लीजिए.

shalgam-gajar-sem-gobhi-mix-acharअचार का मसाला बनाने के लिए साबुत मसाले भून लीजिए. पैन गरम कीजिए. इसमें 1 छोटी चम्मच जीरा, 1 छोटी चम्मच काली मिर्च, 2 छोटी चम्मच मेथी दाने और 4 छोटी चम्मच सौंफ डाल दीजिए. मसालों को हल्का सा 1 मिनिट भून लीजिए. भुने मसालों को एक प्लेट में निकाल लीजिए ताकि ये जल्दी से ठंडे हो जाए.

shalgam-gajar-sem-gobhi-mix-acharपैन में 1 कप सरसों का तेल डालिए और तेल को अच्छे से गरम होने दीजिए. इसी बीच, मसालों को मिक्सर जार में डालकर दरदरा पीस लीजिए. तेल के अच्छे से गरम होने पर गैस बंद कर दीजिए और तेल को ठंडा होने दीजिए.

shalgam-gajar-sem-gobhi-mix-acharतेल के ठंडे होने पर इसमें 1 पिंच हींग, हल्दी पाउडर और दरदरे कुटे मसाले डाल दीजिए. सभी को अच्छे से मिला लीजिए. इसी में हरी मिर्च और अदरक डाल दीजिए. 4 टेबल स्पून सरसों का पाउडर, 2 छोटी चम्मच लाल मिर्च पाउडर और 3 छोटी चम्मच नमक डाल दीजिए. सब्जियों में तेल मसाले डालकर अच्छे से मिला लीजिए. इसमें ⅓ कप सिरका डालकर भी अच्छे से मिला लीजिए.

shalgam-gajar-sem-gobhi-mix-achar

परोसिए

अचार तैयार है. अचार को अभी भी खाया जा सकता है लेकिन अचार का स्वाद 3 दिन बाद आएगा जब मसाले इसमें अच्छे से ज़ज़्ब हो जाएंगे. गोभी गाजर शलगम के स्वादिष्ट अचार को फूड ग्रेड प्लास्टिक या कांच के कन्टेनर में भरकर रख दीजिए, यह अचार पूरे 3 से 4 महीने तक खा सकते हैं.

shalgam-gajar-sem-gobhi-mix-achar

सुझाव

  • सब्जियों को सूखने के लिए आप धूप में भी रख सकते हैं या 1 से 1.5 घंटे के लिए पंखे के नीचे भी रख सकते हैं.
  • सब्जियों को ब्लांच करने की जगह, सब्जियों में नमक डालकर 1 दिन के लिए रख दीजिए. इससे सब्जियों का जूस बाहर निकल आता है. उसे हटाकर सब्जियों से अचार बना सकते हैं.
  • इसके अलावा, अचार एक और तरीके से भी बना सकते हैं. सब्जियों को धोकर काटकर कपड़े पर फैलाकर धूप में 3 से 4 घंटे के लिए रख दीजिए. इनका जूस खत्म हो जाना चाहिए और उसके बाद अचार बना लीजिए. सब्जियों के जूस को कम करके ही अचार लंबे समय तक चलते हैं.
  • सिरका डालने से अचार का स्वाद भी अच्छा आता है और अचार लंबे समय तक भी चलते हैं.
    आप अपनी पसंद के अनुसार सब्जियों में कोई भी कम या ज्यादा ले सकते हैं.
  • अचार के लिए जो भी बर्तन इस्तेमाल करें, वो सूखा और साफ होना चाहिए. कन्टेनर को उबलते पानी में धोएं और धूप में सुखाकर यूज करें. अचार को निकालने के लिए सूखे और साफ चम्मच का उपयोग करें.

Gajar, Shalgam, Gobi Ka Achar | शलगम गाजर गोभी सेम का अचार shalgam-gajar-sem-gobhi-mix-achar
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • छिली हुई शलगम- 2 (250 ग्राम)
  • छिली हुई गाजर- 2 (250 ग्राम)
  • सेम- 250 ग्राम
  • फूलगोभी- 1 (300 ग्राम) (फ्लोरेट की हुई)
  • हरी मिर्च- 100 ग्राम
  • अदरक- 100 ग्राम
  • सरसों का तेल- 1 कप
  • सिरका- ⅓ कप
  • सरसों के दाने/ राई- 4 टेबल स्पून (दरदरी कुटी)
  • नमक- 3 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • हींग- 1 पिंच
  • जीरा- 1 छोटी चम्मच
  • काली मिर्च- 1 छोटी चम्मच
  • मेथी दाने- 2 छोटी चम्मच
  • सौंफ- 4 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर- 2 छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर- 1.5 छोटी चम्मच
Instructions
  1. शलगम, 2 गाजर और सेम का बंच और फूलगोभी लीजिए. इन्हें 2 से 3 बार अच्छे से धोकर पानी सूखने तक सुखाकर ले लीजिए.
  2. शलगम को ½ से ¾ से मी के टुकड़ों में काट लीजिए. इसी तरह से गाजर और बीन्स को भी काट लीजिए. गोभी को फ्लोरेट कीजिए. अदरक को पतले-पतले छोटे टुकड़ों में काट लीजिए और हरी मिर्च को लंबाई में 2 टुकड़े करते हुए या एक गिराई साइज के टुकड़ों में काट लीजिए.
  3. एक बर्तन में इतना पानी ले लीजिए कि इसमें सारी सब्जियां अच्छे से डूब सकें और पानी को उबलने रख दीजिए. पानी में उबाल आने पर शलगम, गाजर, सेम और फूलगोभी इसमें डाल दीजिए. सब्जियों को ढककर पूरे 3 मिनिट उबलने दीजिए. 3 मिनिट बाद, सब्जियों को पानी से निकाल लीजिए.
  4. सब्जियों को छलनी में डाल दीजिए और छलनी को किसी बर्तन के ऊपर 5 मिनिट के लिए रख दीजिए ताकि इनमें से अतिरिक्त पानी निकल जाए. सब्जियों को कपड़े पर डालकर पतला पतला फैला दीजिए. इससे सब्जियों में जो भी पानी बचा होगा वो कपड़ा सोख लेगा. सब्जियों को एक प्लेट में रख लीजिए.
  5. अचार का मसाला बनाने के लिए साबुत मसाले भून लीजिए. पैन गरम कीजिए. इसमें 1 छोटी चम्मच जीरा, 1 छोटी चम्मच काली मिर्च, 2 छोटी चम्मच मेथी दाने और 4 छोटी चम्मच सौंफ डाल दीजिए. मसालों को हल्का सा 1 मिनिट भून लीजिए. भुने मसालों को एक प्लेट में निकाल लीजिए ताकि ये जल्दी से ठंडे हो जाए.
  6. पैन में 1 कप सरसों का तेल डालिए और तेल को अच्छे से गरम होने दीजिए. इसी बीच, मसालों को मिक्सर जार में डालकर दरदरा पीस लीजिए. तेल के अच्छे से गरम होने पर गैस बंद कर दीजिए और तेल को ठंडा होने दीजिए.
  7. तेल के ठंडे होने पर इसमें 1 पिंच हींग, हल्दी पाउडर और दरदरे कुटे मसाले डाल दीजिए. सभी को अच्छे से मिला लीजिए. इसी में हरी मिर्च और अदरक डाल दीजिए. 4 टेबल स्पून सरसों का पाउडर, 2 छोटी चम्मच लाल मिर्च पाउडर और 3 छोटी चम्मच नमक डाल दीजिए. सब्जियों में तेल मसाले डालकर अच्छे से मिला लीजिए. इसमें ⅓ कप सिरका डालकर भी अच्छे से मिला लीजिए.
  8. अचार तैयार है. अचार को अभी भी खाया जा सकता है लेकिन अचार का स्वाद 3 दिन बाद आएगा जब मसाले इसमें अच्छे से ज़ज़्ब हो जाएंगे. गोभी गाजर शलगम के स्वादिष्ट अचार को फूड ग्रेड प्लास्टिक या कांच के कन्टेनर में भरकर रख दीजिए, यह अचार पूरे 3 से 4 महीने तक खा सकते हैं.

 

 

Shalgam Gajar ka Paniwala Achar | मिक्स वेज पानी वाला अचार । Mix Veg Paniaala Pickle

सर्दियों में  शलगम, मूली और गाजर का अचार बहुत ही लाज़वाब लगता है. तेल से बना अचार तो आप अक्सर ही खाते रहते होंगे लेकिन शलगम गाजर का पानी वाला अचार आप एक बार खाकर देखिए, आप इस अचार के दीवाने हो जाएंगे. सिरका और मसाले डालकर बना यह चटपटा अचार 2 महीने तक खाने योग्य रहता है. आप शलगम गाजर के पानी वाले अचार को रोटी, पराठे, पूरी या चावल किसी के साथ भी खाएं, यह आपको  उम्दा स्वाद ही देगा.

Shalgam Gajar ka Paniwala Achar | मिक्स वेज पानी वाला अचार । Mix Veg Paniaala Pickle

निर्देश

बनाने की विधि

बर्तन में 3 कप (600 मि ली) पानी डालिए. पानी इतना होना चाहिए कि सब्जियां उसमें अच्छे से डूब जाएं. बर्तन को ढककर पानी उबलने रख दीजिए.

pani wala acharछिले हुए शलगम, गाजर और मूली को 1 इंच के टुकड़ों में काट लीजिए.

pani wala acharपानी में उबाल आने पर सब्जियों को पानी में डालकर ढक दीजिए और सब्जियों को 3 मिनिट तक उबलने दीजिए. इसके बाद, गैस बंद कर दीजिए. सब्जियों को 5 मिनिट ऎसे ही ढके रहने दीजिए.

pani wala acharबाद में सब्जी को ठंडा होने दीजिए. ठंडा होने पर, सब्जियों को पानी सहित प्याले में डाल लीजिए.

pani wala acharइसमें नमक, सरसों का दरदरा पाउडर, सौंफ पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर डाल दीजिए. सरसों का तेल और सिरका डालकर भी सारी चीजों को अच्छे से मिक्स कर दीजिए.

pani wala achar

परोसिए

शलगम गाजर मूली का पानी वाला अचार बनकर तैयार है. अचार को किसी कन्टेनर में भरकर रख लीजिए. इस अचार को फ्रिज के बाहर रखकर 1.5 से 2 महीने तक खा सकते हैं.

pani wala achar

सुझाव

  • सब्जियां अपनी पसंद के अनुसार कम या ज्यादा कर सकते हैं.
  • सब्जियां छोटी या बड़े साइज की काट सकते हैं.
  • अगर आपको सरसों के तेल का तीखापन नापसंद हो, तो सरसों के तेल को थोड़ा सा गरम करके ठंडा होने के बाद डालिए.
  • अचार को बिना सिरके के भी बना सकते हैं लेकिन अचार की शेल्फ लाइफ कम होती है, 10 से 12 दिन में अचार खत्म कर देना चाहिए.
  • यह अचार आप तीनों चीजों से अलग-अलग भी बना सकते हैं.
  • अचार को जिस कन्टेनर में भरें, उसे उबलते पानी से धो लीजिए और धूप में सुखा लीजिए.
  • अचार के लिए जो भी चीज यूज करे, बर्तन या कन्टेनर वो गीली या गंदी ना हो.
  • अचार को सूखे और साफ चम्मच से निकालें.

Shalgam Gajar ka Paniwala Achar | मिक्स वेज पानी वाला अचार । Mix Veg Paniaala Pickle pani-wala-achar
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • छिले हुए शलगम- 2 (200 ग्राम)
  • छिली हुई गाजर- 2 (200 ग्राम)
  • छिली हुई मूली- 1 (100 ग्राम)
  • सरसों का तेल- 2 टेबल स्पून
  • सिरका- 2 टेबल स्पून
  • नमक- 1.5 से 2 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • सरसों के दाने- 3 छोटी चम्मच (दरदरी कुटी हुई)
  • सौंफ- 1 छोटी चम्मच (दरदरी कुटी हुई)
  • लाल मिर्च पाउडर- ½ छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर- ½ छोटी चम्मच
Instructions
  1. बर्तन में 3 कप (600 मि ली) पानी डालिए. पानी इतना होना चाहिए कि सब्जियां उसमें अच्छे से डूब जाएं. बर्तन को ढककर पानी उबलने रख दीजिए.
  2. छिले हुए शलगम, गाजर और मूली को 1 इंच के टुकड़ों में काट लीजिए.
  3. पानी में उबाल आने पर सब्जियों को पानी में डालकर ढक दीजिए और सब्जियों को 3 मिनिट तक उबलने दीजिए. इसके बाद, गैस बंद कर दीजिए. सब्जियों को 5 मिनिट ऎसे ही ढके रहने दीजिए.
  4. बाद में सब्जी को ठंडा होने दीजिए. ठंडा होने पर, सब्जियों को पानी सहित प्याले में डाल लीजिए.
  5. इसमें नमक, सरसों का दरदरा पाउडर, सौंफ पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर डाल दीजिए. सरसों का तेल और सिरका डालकर भी सारी चीजों को अच्छे से मिक्स कर दीजिए.
  6. शलगम गाजर मूली का पानी वाला अचार बनकर तैयार है. अचार को किसी कन्टेनर में भरकर रख लीजिए. इस अचार को फ्रिज के बाहर रखकर 1.5 से 2 महीने तक खा सकते हैं.

 

 

Mooli Gajar ka mix Achaar । सर्दियों के लिये खास गाजर मूली का अचार । Gaazar Muli Pickle

भोजन के साथ अचार का स्वाद भोजन के स्वाद और ज़ायको बढा़ देने का काम करता है. गाजर, मूली, अदरक और हरी मिर्च का अचार आपको काफी पसंद आएगा.  सादे खाने को मसालेदार और तीखा स्वाद देने के लिए इस अचार को एक बार बनाकर रख लीजिए और पूरे 3 से 4 माह तक मज़े से सेवन कीजिए.

Mooli Gajar ka mix Achaar । सर्दियों के लिये खास गाजर मूली का अचार । Gaazar Muli Pickle

निर्देश

तैयारी के लिए

500 ग्राम मूली, 250 ग्राम गाजर, 50 ग्राम अदरक और 50 ग्राम. हरी मिर्च को इसे अच्छे से धोकर पानी सूखने तक सुखा कर ले लीजिए.

gajar mooli ka achar

बनाने की विधि

मूली को 2 इंच के टुकड़ों में काट लीजिए और इन टुकडों को लम्बाई में पतले काट लीजिए. गाजर को भी इसी तरह से काट कर तैयार कर लीजिए और प्याले में निकाल लीजिए.

gajar mooli ka acharअदरक को लम्बाई में पतला पतला काट कर और छोटा करते हुए 2 या 3 भाग करते हुए काट लीजिए और प्याले में निकाल लीजिए.

gajar mooli ka acharहरी मिर्च को लम्बाई में दो भाग करते हुए काट लीजिए और इसे भी प्याले में निकाल लीजिए. अब इस सब में 2 छोटे चम्मच नमक डाल कर अच्छे से मिक्स कर दीजिए.

gajar mooli ka acharसभी चीजों के अच्छे से मिक्स हो जाने पर इन्हें कंटेनर में डाल कर भर दीजिए और कंटेनर को बंद कर के 24 घंटे के लिए रख दीजिए. 10-12 घंटे के बाद कंटेनर को एक बार अच्छे से हिला दीजिए ताकी कंटेनर में रखी सामग्री अच्छे से मिक्स हो जाए.

gajar mooli ka acharअगले दिन यानी के 24 घंटे बाद कंटेनर के अंदर मूली गाजर का जो जूस नीचे जमा हो गया है उसे अलग करेंगे इसके लिए किसी प्याले के ऊपर छलनी रख कर इस पर कंटेनर में रखी मूली गाजर डाल दीजिए ऐसा करने से सारा जूस नीचे प्याले में निकल जाएगा. 10 मिनिट के लिए मूली गाजर को छलनी में ही रखे रहने दीजिए ताकी सारा जूस इसमें से निकल कर प्याले में आ जाए.

gajar mooli ka acharसारा जूस निकल जाने के बाद मूली, गाजर, अदरक, मिर्च को किसी ट्रे पर डाल कर अच्छे से फैला दीजिए और धूप या पंखे की हवा के नीचे रख दीजिए ताकि बचा हुआ जूस भी सूख जाए.

gajar mooli ka acharमूली गाजर सूख कर तैयार हैं, मूली-गाजर को प्याले में निकाल लीजिए.

gajar mooli ka acharपैन में सरसों का तेल डाल कर अच्छे से गरम कर लीजिए. तेल इतना गरम करें की तेल में से धुआं उठता दिखाई दे. तेल गरम होने के बंद गैस बंद कर दीजिए और तेल को थोड़ा ठंडा होने दीजिए.

gajar mooli ka acharजब तक तेल गरम हो रहा है तब तक अचार में 2 छोटे चम्मच नमक, 1 छोटी चम्मच हल्दी पाउडर, 1 छोटी चम्मच लाल मिर्च पाउडर, ½ छोटी चम्मच काली मिर्च, अजवायन ½ छोटी चम्मच, 6 छोटी चम्मच दरदरा कुटा सरसों पाउडर डाल दीजिए.

gajar mooli ka acharतेल के हल्का ठंडा होने पर इसमें हींग डाल कर मिक्स कर दीजिए और इस तेल को अचार में डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिए.

gajar mooli ka acharसारे मसाले अच्छे से मिल जाने के बाद इसमें 2 टेबल स्पून सिरका डाल कर मिला दीजिए. मूली गाजर का स्वादिष्ट अचार बन कर तैयार है. इस अचार का सेवन अभी भी किया जा सकता हैं, पर अचार का असली स्वाद 3 दिन के बाद ही मिलेगा, जब मूली-गाजर-अदरक और हरी मिर्च मसाले को अच्छे से सोख लेंगे. अचार को किसी भी कन्टेनर में भरकर रख दीजिए और 2 से 3 दिन तक सूखे साफ चम्मच से अचार को ऊपर नीचे करते रहिए. यह अचार पूरे 3 से 4 महीनों तक रखकर खाया जा सकता है.

gajar mooli ka achar

सुझाव

  • अगर गाजर के अंदर का पीला भाग सख्त हो और आपको पसंद न हो तो आप उसे हटा सकते हैं.
  • तेल को बिना गरम किए भी उपयोग में ला सकते हैं. लेकिन अगर आप तेल का तीखापन पसंद नहीं करते हैं तो आप इसे गरम करके उपयोग में ला सकते हैं.
  • सिरका डालने से अचार का स्वाद बढ़ता है और अचार की शैल्फ लाइफ भी बढ़ जाती है.
  • जिस बर्तन में अचार बना रहे हो वह अच्छे से साफ और सूखा होना चाहिए.
  • जब भी अचार निकालें, तो साफ और सूखी चम्मच का ही उपयोग कीजिए. अचार को जिस कन्टेनर में रख रहे हैं, उसे उबले पानी से अच्छे से धो ले और फिर धूप या ओवन में सुखा लीजिए. ध्यान रखें कि कन्टेनर में किसी भी तरह की नमी न रहें.

Mooli Gajar ka mix Achaar । सर्दियों के लिये खास गाजर मूली का अचार gajar-mooli-adarak-achar
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • मूली - 500 ग्राम (छिली हुई)
  • गाजर - 250 ग्राम (छिली हुई)
  • अदरक - 50 ग्राम (छिली हुई)
  • हरी मिर्च - 50 ग्राम
  • नमक - 2 छोटी चम्मच
  • सरसों का तेल - ½ कप
  • लल मिर्च पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • हल्दी पाडर - 1 छोटी चम्मच
  • नमक - 2 छोटी चम्मच
  • काली मिर्च - ½ छोटी चम्मच (दरदरी कुटी हुई)
  • अजवायन - ½ छोटी चम्मच
  • सरसों पाउडर - 6 छोटी चम्मच (दरदरी कुटी हुई)
  • हींग - 2 पिंच
  • सिरका - 2 टेबल स्पून
Instructions
  1. ग्राम मूली, 250 ग्राम गाजर, 50 ग्राम अदरक और 50 ग्राम. हरी मिर्च को इसे अच्छे से धोकर पानी सूखने तक सुखा कर ले लीजिए.
  2. मूली को 2 इंच के टुकड़ों में काट लीजिए और इन टुकडों को लम्बाई में पतले काट लीजिए. गाजर को भी इसी तरह से काट कर तैयार कर लीजिए और प्याले में निकाल लीजिए.
  3. अदरक को लम्बाई में पतला पतला काट कर और छोटा करते हुए 2 या 3 भाग करते हुए काट लीजिए और प्याले में निकाल लीजिए.
  4. हरी मिर्च को लम्बाई में दो भाग करते हुए काट लीजिए और इसे भी प्याले में निकाल लीजिए. अब इस सब में 2 छोटे चम्मच नमक डाल कर अच्छे से मिक्स कर दीजिए.
  5. सभी चीजों के अच्छे से मिक्स हो जाने पर इन्हें कंटेनर में डाल कर भर दीजिए और कंटेनर को बंद कर के 24 घंटे के लिए रख दीजिए. 10-12 घंटे के बाद कंटेनर को एक बार अच्छे से हिला दीजिए ताकी कंटेनर में रखी सामग्री अच्छे से मिक्स हो जाए.
  6. अगले दिन यानी के 24 घंटे बाद कंटेनर के अंदर मूली गाजर का जो जूस नीचे जमा हो गया है उसे अलग करेंगे इसके लिए किसी प्याले के ऊपर छलनी रख कर इस पर कंटेनर में रखी मूली गाजर डाल दीजिए ऐसा करने से सारा जूस नीचे प्याले में निकल जाएगा. 10 मिनिट के लिए मूली गाजर को छलनी में ही रखे रहने दीजिए ताकी सारा जूस इसमें से निकल कर प्याले में आ जाए.
  7. सारा जूस निकल जाने के बाद मूली, गाजर, अदरक, मिर्च को किसी ट्रे पर डाल कर अच्छे से फैला दीजिए और धूप या पंखे की हवा के नीचे रख दीजिए ताकि बचा हुआ जूस भी सूख जाए.
  8. मूली गाजर सूख कर तैयार हैं, मूली-गाजर को प्याले में निकाल लीजिए.
  9. पैन में सरसों का तेल डाल कर अच्छे से गरम कर लीजिए. तेल इतना गरम करें की तेल में से धुआं उठता दिखाई दे. तेल गरम होने के बंद गैस बंद कर दीजिए और तेल को थोड़ा ठंडा होने दीजिए.
  10. जब तक तेल गरम हो रहा है तब तक अचार में 2 छोटे चम्मच नमक, 1 छोटी चम्मच हल्दी पाउडर, 1 छोटी चम्मच लाल मिर्च पाउडर, ½ छोटी चम्मच काली मिर्च, अजवायन ½ छोटी चम्मच, 6 छोटी चम्मच दरदरा कुटा सरसों पाउडर डाल दीजिए,
  11. तेल के हल्का ठंडा होने पर इसमें हींग डाल कर मिक्स कर दीजिए और इस तेल को अचार में डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिए.
  12. सारे मसाले अच्छे से मिल जाने के बाद इसमें 2 टेबल स्पून सिरका डाल कर मिला दीजिए. मूली गाजर का स्वादिष्ट अचार बन कर तैयार है. इस अचार का सेवन अभी भी किया जा सकता हैं, पर अचार का असली स्वाद 3 दिन के बाद ही मिलेगा, जब मूली-गाजर-अदरक और हरी मिर्च मसाले को अच्छे से सोख लेंगे. अचार को किसी भी कन्टेनर में भरकर रख दीजिए और 2 से 3 दिन तक सूखे साफ चम्मच से अचार को ऊपर नीचे करते रहिए. यह अचार पूरे 3 से 4 महीनों तक रखकर खाया जा सकता है.

 

दाना मैथी का अचार – Methi Achar recipe – Fenugreek Seed Pickle recipe

सब्जियों, दाल, कढ़ी में पड़ने वली मैथी दाना का स्वाद भले ही हल्का कसैला हो, लेकिन यह सब्जी के स्वाद को बड़ाने और शरीर की बादी मारने में काफी हद तक कामयाब होता है. कसैले दाना मैथी का मसाले के अलावा अचार में भी उपयोग किया जाता है. इतना ही नही, सिर्फ दाना मैथी का अचार भी लोग खाना बहुत पसंद करते है. नींबू और चंद मसालों से चटपटा और मसालेदार दाना मैथी का अचार बन जाता है. आप इसे किसी भी भोजन के साथ परोसकर खाने के जायके में चार चाँद लगा सकते हैं. तो आईये विधिवत तैयार करें दाना मैथी का अचार.

Methi Achar recipe – Fenugreek Seed Pickle recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

नींबू को काट कर इसका जूस प्याले में निकाल लीजिए.

methi dana achar

बनाने की विधि

पैन में तेल डालकर गरम कीजिये, तेल को अच्छी तरह गरम यानी कि धुआं उठने तक गरम कर लीजिये, गैस एकदम धीमी कर दीजिये, और तेल को अब मीडियम गरम रहने तक ठंडा कर लीजिये, गरम तेल में मैथी के दाने डाल दीजिये और चलाते हुये 1 -2 मिनिट मैथी के दाने को लगातार चलाते हुये, मैथी के दाने का हल्का सा कलर चेन्ज होने तक भून लीजिये.

methi dana acharमैथी के दाने भून जाने पर गैस बन्द कर दीजिये और मेथी दाने में हींग पाउडर, काली मिर्च, सौंफ, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और नमक डालकर अच्छी तरह मिला दीजिये और अब इन्हें प्याले में निकाल लीजिये.

methi dana acharअचार में नीबू का रस डालकर मिला दीजिये. दाना मेथी का अचार तैयार है, लेकिन अचार खाने के लिये 3 दिन बाद तैयार होगा, जब तक मेथी के दाने नीबू के रस में फूल जायेंगे और सारे मसाले एब्जोर्ब कर लेंगे.

methi dana achar

परोसिये

स्वादिष्ट दाना मैथी का अचार खाने के लिये तैयार हो गया है, रोजाना अपने खाने के साथ 1 छोटी चम्मच मैथी दाने का अचार निकाल कर जरूर खाइये. अचार को 15-20 दिन तक रख कर खाया जा सकता है, अचार को अधिक दिन तक चलाने के लिये, अचार में 3-4 टेबल स्पून सिरका मिला दीजिये.

सुझाव

  • नींबू के रस की जगह 250 ग्राम कच्चा आम लेकर उसे छील कर छोटे छोटे टुकड़े कर लीजिये और कढ़ाई से मसाले मिक्स मैथी के दाने निकाल कर कटे हुये आम के टुकड़ों में मिलाकर रख दिजिये, कच्चे आम से रस बाहर जायेगा और मैथी के दाने उसमें फूल जायेंगे और अचार बन कर तैयार हो जायेगा.
  • अचार को जिस बर्तन में भर कर रखें उसे उबलते पानी से धो लीजिये और धूप या ओवन में सुखा लीजिये. अचार को जब भी खाने के लिये निकालें सूखी और साफ चम्मच का यूज कीजिये, अचार में किसी प्रकार की कोई नमी नहीं जानी चाहिये.

दाना मैथी का अचार - Methi Achar recipe methi-dana-achar
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • मैथी के दाने - ¼ कप (40 गाम)
  • सरसों का तेल - 2 टेबल स्पून
  • नीबू - 250 ग्राम (6-7 नींबू)
  • हींग - ¼ छोटी चम्मच से कम
  • काली मिर्च - ½ छोटी चम्मच (दरदरी पीसी हुई)
  • सौंफ - 1 छोटी चम्मच (दरदरी पीसी हुई)
  • हल्दी पाउडर - आधा छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - आधा छोटी चम्मच
  • नमक - 1.5 छोटी चम्मच
Instructions
  1. नींबू को काट कर इसका जूस प्याले में निकाल लीजिए.
  2. पैन में तेल डालकर गरम कीजिये, तेल को अच्छी तरह गरम यानी कि धुआं उठने तक गरम कर लीजिये, गैस एकदम धीमी कर दीजिये, और तेल को अब मीडियम गरम रहने तक ठंडा कर लीजिये, गरम तेल में मैथी के दाने डाल दीजिये और चलाते हुये 1 -2 मिनिट मैथी के दाने को लगातार चलाते हुये, मैथी के दाने का हल्का सा कलर चेन्ज होने तक भून लीजिये.
  3. मैथी के दाने भून जाने पर गैस बन्द कर दीजिये और मेथी दाने में हींग पाउडर, काली मिर्च, सौंफ, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और नमक डालकर अच्छी तरह मिला दीजिये और अब इन्हें प्याले में निकाल लीजिये.
  4. अचार में नीबू का रस डालकर मिला दीजिये. दाना मेथी का अचार तैयार है, लेकिन अचार खाने के लिये 3 दिन बाद तैयार होगा, जब तक मेथी के दाने नीबू के रस में फूल जायेंगे और सारे मसाले एब्जोर्ब कर लेंगे.

 

आम का सूखा अचार – Dry Mango Pickle recipe – Aam ka Sookha Achaar

आम का अचार हो तो खाने का स्वाद इतना बड़ जाता है कि लोग अपनी उंगलियां तक चाट जाते हैं. विभिन्न तरीकों से रखा जाने वाला आम का अचार हर उम्र क्रे लोगों को पसंद आता है. आज हम कच्चे आम से आम का सूखा अचार बनाने जा रहे हैं. कच्चे आम का सूखा अचार सरसों के तेल, मेथी दाने, अज़वायन, सरसों के दाने और लाल मिर्च से जल्दी ही बनकर के तैयार हो जाता है. कम तेल से बनने वाला आम का सूखा अचार किसी भी भोजन के स्वाद को बड़ा देता है. आईये विस्तार से जानें आम का सूखा अचार बनाने की विधि.

Dry Mango Pickle recipe – Aam ka Sookha Achaar

निर्देश

तैयारी के लिये

आम को अच्छे से पानी धोकर सुखा लीजिये. इसके बाद, आम के डंठल को काटकर हटा लीजिये और आम को छीलकर, गूदा निकाल कर गुठली हटा दीजिये. आम के गूदे को पतले पतले टुकड़ों में काटकर एक बड़े से प्याले में रख लीजिये.

dry mango pickle

मिक्सी जार में सौंफ, मैथी के दाने, अज़वायन और नमक डाल कर दरदरा पीस लीजिये.

dry mango pickle

मिक्सी जार से पिसे हुये मसाले निकाल कर एक प्याले में डालिये और सरसों पाउडर डाल कर चम्मच से अच्छे से मिक्स करिये.

dry mango pickle

आम के टुकड़ों में नमक और हल्दी पाउडर डाल लीजिये. मसाले के अच्छे से आम के टुकड़ों पर कोट होने तक मिलाते रहिये. आप इन आम के टुकड़ों को किसी डिब्बे में भी डाल सकते हैं या इसी प्याले में रख सकते हैं. प्याले या डिब्बे को एक साफ सूती कपड़े से ढक दीजिये और इसे बाँध कर धूप या कमरे के अंदर ही सात दिनों तक रखिये. 7 दिनों तक हर रोज एक बार चम्मच से अचार को चलाइये.

dry mango pickle

7 दिनों बाद, आम के टुकड़े मुलायम होने पर इन्हें एक प्लेट पर फैला कर धूप में 4-5 घंटे के लिये सुखा लीजिये. 4-5 घंटे खत्म होने पर आम के टुकड़े सूख चुके होंगे और अचार बनाने के लिये तैयार हो चुके होंगे.

dry mango pickle

कड़ाही को गैस पर गरम कर के तेल डाल लीजिये. तेल से धुआँ निकलने पर, गैस बंद कर दीजिये और कड़ाही को जाली स्टैन्ड पर रख दीजिये. तेल के हल्के ठंडे होने पर इसमें हींग, पीसे हुये मसाले और लाल मिर्च पाउडर डाल कर अच्छे से मिक्स करिये और थोड़ी देर भून लीजिये.

dry mango pickle

अब भुने हुये मसाले में आम के टुकड़ों से निकला रस डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिये और आम के टुकड़े भी डाल दीजिये. आम के टुकड़ों पर मसाले की परत चढ़ने तक, अच्छे से मसाले और आम को मिलाते रहिये. सब कुछ ठीक से मिलने के बाद सूखे आम का अचार तैयार है, इसे एक प्याले में निकाल लीजिये. आप इसे हाल भी खा सकते है लेकिन 3-4 दिनों बाद आम में मसाले के अच्छे से सोख जाने पर ज्यादा स्वादिष्ट लगेगा.

dry mango pickle

परोसने के लिये

इस चटपटे और ज़ायकेदार सूखे आम के अचार को किसी भी भोजन के साथ परोसिये. आप अचार को एक साल तक के लिये डिब्बे में बिना तेल डाले स्टोर कर के रख सकते हैं.

सुझाव

  • अचार को बनाने के लिये साफ और सूखे बर्तन का ही इस्तेमाल करिये. अचार को जिस बर्तन में भर कर रखें उसे उबलते पानी से धो लीजिये और धूप या ओवन में सुखा लीजिये. अचार को बर्तन से निकालने के लिये हमेशा सूखी व साफ चम्मच का ही इस्तेमाल करें.

आम का सूखा अचार - Dry Mango Pickle recipe dry-mango-pickle
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • कच्चे आम - 3 (500 ग्राम)
  • नमक - 2 छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • सरसों का तेल - ¼ कप
  • नमक - 1 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • हींग - ¼ छोटी चम्मच
  • अज़वायन - 1 छोटी चम्मच
  • मैथी दाना - 2 टेबल स्पून
  • सौंफ - 2 टेबल स्पून
  • सरसों के दाने - 2 टेबल स्पून (दरदरे कुटे हुये)
Instructions
  1. आम को अच्छे से पानी धोकर सुखा लीजिये. इसके बाद, आम के डंठल को काटकर हटा लीजिये और आम को छीलकर, गूदा निकाल कर गुठली हटा दीजिये. आम के गूदे को पतले पतले टुकड़ों में काटकर एक बड़े से प्याले में रख लीजिये.
  2. मिक्सी जार में सौंफ, मैथी के दाने, अज़वायन और नमक डाल कर दरदरा पीस लीजिये.
  3. मिक्सी जार से पिसे हुये मसाले निकाल कर एक प्याले में डालिये और सरसों पाउडर डाल कर चम्मच से अच्छे से मिक्स करिये.
  4. आम के टुकड़ों में नमक और हल्दी पाउडर डाल लीजिये. मसाले के अच्छे से आम के टुकड़ों पर कोट होने तक मिलाते रहिये. आप इन आम के टुकड़ों को किसी डिब्बे में भी डाल सकते हैं या इसी प्याले में रख सकते हैं. प्याले या डिब्बे को एक साफ सूती कपड़े से ढक दीजिये और इसे बाँध कर धूप या कमरे के अंदर ही सात दिनों तक रखिये. 7 दिनों तक हर रोज एक बार चम्मच से अचार को चलाइये.
  5. दिनों बाद, आम के टुकड़े मुलायम होने पर इन्हें एक प्लेट पर फैला कर धूप में 4-5 घंटे के लिये सुखा लीजिये. 4-5 घंटे खत्म होने पर आम के टुकड़े सूख चुके होंगे और अचार बनाने के लिये तैयार हो चुके होंगे.
  6. कड़ाही को गैस पर गरम कर के तेल डाल लीजिये. तेल से धुआँ निकलने पर, गैस बंद कर दीजिये और कड़ाही को जाली स्टैन्ड पर रख दीजिये. तेल के हल्के ठंडे होने पर इसमें हींग, पीसे हुये मसाले और लाल मिर्च पाउडर डाल कर अच्छे से मिक्स करिये और थोड़ी देर भून लीजिये.
  7. अब भुने हुये मसाले में आम के टुकड़ों से निकला रस डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिये और आम के टुकड़े भी डाल दीजिये. आम के टुकड़ों पर मसाले की परत चढ़ने तक, अच्छे से मसाले और आम को मिलाते रहिये. सब कुछ ठीक से मिलने के बाद सूखे आम का अचार तैयार है, इसे एक प्याले में निकाल लीजिये. आप इसे हाल भी खा सकते है लेकिन 3-4 दिनों बाद आम में मसाले के अच्छे से सोख जाने पर ज्यादा स्वादिष्ट लगेगा.

 

आन्ध्रा स्टाइल आंवला अचार – Amla Pickle Recipe Andhra style – Andhra Style Spicy Amla pickle Recipe

विटामिन ए और सी से भरपूर आंवले से सब्जी, अचार, मुरब्बा, जूस इत्यादि बनाये जाते हैं. इनमें से आंवले का अचार सभी शौक से खाते हैं और अगर आंवला अचार को आन्ध्रा स्टाइल में बनाया जाये फिर तो आंवले के अचार का स्वाद बेजोड़ होगा. तिल के तेल, सरसों, लाल देगी मिर्च, हींग और मैथी से निर्मित आन्ध्रा स्टाइल आंवला अचार 6 महीने तक रखने के लिये तैयार हो जाता है. तो आप भी आज ही आजमायें आन्ध्रा स्टाइल आंवला अचार.

Amla Pickle Recipe Andhra style – Andhra Style Spicy Amla pickle Recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

आंवले को अच्छी तरह धोकर , पानी सूखने तक सुखा लीजिये, अच्छी तरह से सूखे आंवले को गुठलियां हटाकर 1/2-3/4 इंच के टुकड़े करते हुये छोटे छोटे काट लीजिये, सारे आंवले काट कर तैयार कर लीजिये.

amla pickle andhra style

बनाने की विधि

कडा़ही में तिल डालकर हल्के से फूलने तक और हल्का सा कलर बदलने तक रोस्ट कर के प्लेट में निकाल लीजिये, अब मेथी के दाने कढ़ाई में डालिये, हल्का सा रोस्ट यानी की सिर्फ 1 मिनिट धीमी आग पर रोस्ट कर लीजिये, ताकि मसालों की नमी खतम हो जाय, इसी में सरसों के दाने डालिये और 1/2 मिनिट रोस्ट करके मसाले प्लेट में निकाल लीजिये.

amla pickle andhra styleमैथी और सरसों के दाने भी कडा़ही में डाल कर नमी सूखने तक 1.5 मिनिट तक लगातर चलाते हुए भून लीजिए. भूने हुए मसालों को प्लेट में निकाल लीजिए.

amla pickle andhra styleतिल, मैथी और सरसों के दानों को हल्का ठंडा होने दीजिए. भूने तिल को मिक्सर जार में डाल कर दरदरा पीस लीजिए और प्याले में निकल लीजिए. अब मैथी और राई को भी मिक्स जार में डाल कर दरदरा पीस लीजिए और अलग से प्लेट में निकाल लिजिए.

amla pickle andhra styleतेल को कढ़ाई में डालकर गरम कर लीजिये, गरम तेल में कटे हुये आंवले डालिये और लगातार चलाते हुये हल्के नरम होने तक पका लीजिये.

amla pickle andhra styleआंवलों के नरम होने पर गैस बंद कर दीजिए. अब सबसे पहले आंवले में हींग डालकर मिला दीजिये, अब हल्दी पाउडर और नमक डालकर मिला दीजिये.

amla pickle andhra styleअब आंवलों में भूने मसाले और लाल मिर्च पाउडर डालिये और सारे मसाले अच्छी तरह मिलने तक मिला दीजिये. आंध्रा स्टाइल आंवले का अचार तैयार है, अभी अचार खाया जा सकता है, लेकिन अचार का असली स्वाद 3 दिन के बाद मिलेगा, जब तक सारे मसाले आंवले में जज्ब हो जायेंगे. अचार को पूरी तरह से ठंडा होने के बाद कन्टेनर में भरकर रख लीजिये, आंवले के अचार को साल भर तक रख कर खाया जा सकता है.

amla pickle andhra style

परोसिये

स्वादिष्ट आंध्रा स्टाइल आंवले का अचार चपाती, परांठे या अपने खाने के साथ परोसिये और खाइये. अचार 6 माह से 1 साल तक रख कर खाया जा सकता है. अचार लम्बे समय तक चलाने के लिये अचार में इतना तेल डाल दीजिये कि अचार तेल में डूबा रहे.

सुझाव

  • अचार को जिस कन्टेनर में भर कर रख रहे हैं, उसे उबलते पानी से धोकर, धूप में सुखा लीजिये.
  • अचार में किसी भी प्रकार की कैसी भी नमी या गन्दगी नहीं जानी चाहिये. अचार को जब भी निकाले, सूखे और साफ चम्मच से निकालिये.

आन्ध्रा स्टाइल आंवला अचार - Amla Pickle Recipe Andhra style amla-pickle-andhra-style
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • आंवले - 500 ग्राम
  • तिल का तेल - 1 कप
  • पीली सरसों - 4 टेबल स्पून
  • तिल - 4 टेबल स्पून
  • नमक - 4 टेबल स्पून
  • लाल देगी मिर्च - 4 टेबल स्पून
  • हल्दी पाउडर - 1 टेबल स्पून
  • मैथी - 2 टेबल स्पून
  • हींग - ¼ छोटी चम्मच
Instructions
  1. आंवले को अच्छी तरह धोकर , पानी सूखने तक सुखा लीजिये, अच्छी तरह से सूखे आंवले को गुठलियां हटाकर ½-3/4 इंच के टुकड़े करते हुये छोटे छोटे काट लीजिये, सारे आंवले काट कर तैयार कर लीजिये.
  2. कडा़ही में तिल डालकर हल्के से फूलने तक और हल्का सा कलर बदलने तक रोस्ट कर के प्लेट में निकाल लीजिये, अब मेथी के दाने कढ़ाई में डालिये, हल्का सा रोस्ट यानी की सिर्फ 1 मिनिट धीमी आग पर रोस्ट कर लीजिये, ताकि मसालों की नमी खतम हो जाय, इसी में सरसों के दाने डालिये और ½ मिनिट रोस्ट करके मसाले प्लेट में निकाल लीजिये.
  3. मैथी और सरसों के दाने भी कडा़ही में डाल कर नमी सूखने तक 1.5 मिनिट तक लगातर चलाते हुए भून लीजिए. भूने हुए मसालों को प्लेट में निकाल लीजिए.
  4. तिल, मैथी और सरसों के दानों को हल्का ठंडा होने दीजिए. भूने तिल को मिक्सर जार में डाल कर दरदरा पीस लीजिए और प्याले में निकल लीजिए. अब मैथी और राई को भी मिक्स जार में डाल कर दरदरा पीस लीजिए और अलग से प्लेट में निकाल लिजिए.
  5. तेल को कढ़ाई में डालकर गरम कर लीजिये, गरम तेल में कटे हुये आंवले डालिये और लगातार चलाते हुये हल्के नरम होने तक पका लीजिये.
  6. आंवलों के नरम होने पर गैस बंद कर दीजिए. अब सबसे पहले आंवले में हींग डालकर मिला दीजिये, अब हल्दी पाउडर और नमक डालकर मिला दीजिये.
  7. अब आंवलों में भूने मसाले और लाल मिर्च पाउडर डालिये और सारे मसाले अच्छी तरह मिलने तक मिला दीजिये. आंध्रा स्टाइल आंवले का अचार तैयार है, अभी अचार खाया जा सकता है, लेकिन अचार का असली स्वाद 3 दिन के बाद मिलेगा, जब तक सारे मसाले आंवले में जज्ब हो जायेंगे. अचार को पूरी तरह से ठंडा होने के बाद कन्टेनर में भरकर रख लीजिये, आंवले के अचार को साल भर तक रख कर खाया जा सकता है.

 

करेले का अचार – Bitter Gourd Pickle Recipe | Karela Achar Recipe

करेले की सब्जी के नाम से ही कुछ लोग खाने से दूर भागने लगते है और अगर इन्हीं करेलों से आप अचार बनाकें लोगों को खिलाये तो लोग झट से चट कर जायेंगे. ऎसे लोगों के लिये ही खास आज हम लम्बे करेले से पतले पतले टुकड़े काट कर अचार को बनायेंगे, क्यों कि इसे खाने में बड़ी आसानी होती है, कम अचार खाने वालों के लिये एक या दो टुकड़े करेले के लेकर अचार खाया जा सकता है, तो आइये शुरू करते हैं करेले का अचार बनाना.

Bitter Gourd Pickle Recipe | Karela Achar Recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

करेलों को साफ पानी से धोइये, धुले हुये करेले से चलनी या थाली में रख कर पानी को सुखाइये, डंठल काट कर अलग कर दीजिये, करेले को पतले पतले 1/2 सेमी के गोल कतरे काट कर बना लीजिये.

karela achar

बनाने की विधि

इन गोल कतरे करेले को 1 छोटी चम्मच नमक लगाकर किसी बर्तन में 1/2 घंटे के लिये रख दीजिये, इस तरह करेले से कड़वा पानी निकल कर अलग हो जाता है, करेले को अच्छी तरह धो लीजिये और छलनी में रख कर इसका पानी हटा लीजिए और फिर से पानी से धो लीजिए.

karela acharकरेले के टुकड़ों को हवा या धूप में 1-2 घंटे के लिये धुले साफ कपड़े पर फैला कर रख दीजिये ताकि इनका सारा पानी सूख जाय.

karela acharपैन को गैस पर रखें और इसमें मैथीदाने, जीरा, अजवायन और सौंफ को हल्का सा भून लीजिये, भूने मसालों को प्याले में निकाल लीजिए ओर ठंडा होने दीजिए.

karela acharमसालों के ठंडा हो जाने पर मसालों को मिक्सर जार में डाल दीजिए साथ में काली सरसों को डाल कर दरदरा पीस लीजिये.

karela acharपैन में तेल डालकर अच्छे से गरम कीजिए. तेल के गरम होने पर हींग डाल दीजिए और इसके तुरंत बाद करेले के टुकड़े डाल दीजिए साथ में हल्दी डाल कर भी अच्छे से मिक्स कर दीजिए. सभी चीजों को 3-4 मिनिट अच्छे से मिलाते हुए मिक्स कर लीजिए.

karela achar

4 मिनिट बाद गैस बंद कर दीजिए, इसमें पीसे मसाले, सौंफ पाउडर, नमक, काला नमक, गरम मसाला, और लाल मिर्च पाउडर डाल कर अच्छे से मिला लीजिए. पैन को ढक कर के 5 मिनिट रख दीजिए जिससे मसाले करेलों में अच्छे से समा जाएं.

karela achar5 मिनिट बाद करेले हल्के से ठंडे हो गए हैं, इनमें सिरका डाल दीजिए और सारी सामग्री को चमचे से अच्छी तरह मिलाइये.अचार बनकर तैयार है आप चाहें तो इसे अभी खा सकते हैं लेकिन अचार का असली स्वाद 3 दिन के बाद आएगा जब अचार में मसाले अच्छे से एब्जार्ब हो जाएंगे. अचार को 3-4 दिन के लिए धूप में रख दीजिए इससे अचार का स्वाद और इसकी शैल्फ लाइफ अच्छी रहती है.

karela achar

परोसिये

आप करेले के अचार को अपने लन्च या डिनर के साथ या नाश्ते में गरमा गरम परांठे, पूरी के साथ खाइये और परोसिये. मसाले मिले करेले को किसी प्लास्टिक या कांच के साफ और सूखे कन्टेनर में भर कर रखिये, अधिक दिन तक अचार खाने के लिये आप इस अचार में इतना सरसों का तेल डाल दीजिये कि अचार तेल में डुबा रहे.

karela achar

सुझाव

  • जिस कंटेनर में आप अचार डालना चाहते हैं उसे पानी में उबालकर, धूप में सूखा लीजिए अगर धूप नहीं है तो कंटेनर को ओवन या माइक्रोवेव में भी सुखा सकते हैं. ध्यान रखें कि इसमें किसी भी तरह की नमी बिल्कुल भी नहीं होनी चाहिए. जब भी अचार को खाने के लिए निकालें तो चम्मच साफ और सूखा होना चाहिए. अचार में किसी भी तरह की गंदगी या नमी बिल्कुल भी नहीं जानी चाहिए. अचार बहुत दिन तक चलते हैं.

करेले का अचार - Bitter Gourd Pickle Recipe karela-achar
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • करेले - 500 ग्राम
  • सरसों का तेल -1/2 कप (100 ग्राम)
  • राई या पीली सरसों - 4 छोटी चम्मच
  • जीरा - 2 छोटी चम्मच
  • मैथी - 2 छोटी चम्मच
  • हींग पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • अजवायन - 1 छोटी चम्मच
  • सादा नमक - 3 छोटी चम्मच
  • काला नमक - 1 छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • सौंफ - 2 चोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • गरम मसाला - ½ छोटी चम्मच
  • सिरका - ¼ कप
Instructions
  1. करेलों को साफ पानी से धोइये, धुले हुये करेले से चलनी या थाली में रख कर पानी को सुखाइये, डंठल काट कर अलग कर दीजिये, करेले को पतले पतले ½ सेमी के गोल कतरे काट कर बना लीजिये.
  2. इन गोल कतरे करेले को 1 छोटी चम्मच नमक लगाकर किसी बर्तन में ½ घंटे के लिये रख दीजिये, इस तरह करेले से कड़वा पानी निकल कर अलग हो जाता है, करेले को अच्छी तरह धो लीजिये और छलनी में रख कर इसका पानी हटा लीजिए और फिर से पानी से धो लीजिए.
  3. करेले के टुकड़ों को हवा या धूप में 1-2 घंटे के लिये धुले साफ कपड़े पर फैला कर रख दीजिये ताकि इनका सारा पानी सूख जाय.
  4. पैन को गैस पर रखें और इसमें मैथीदाने, जीरा, अजवायन और सौंफ को हल्का सा भून लीजिये, भूने मसालों को प्याले में निकाल लीजिए ओर ठंडा होने दीजिए.
  5. मसालों के ठंडा हो जाने पर मसालों को मिक्सर जार में डाल दीजिए साथ में काली सरसों को डाल कर दरदरा पीस लीजिये.
  6. पैन में तेल डालकर अच्छे से गरम कीजिए. तेल के गरम होने पर हींग डाल दीजिए और इसके तुरंत बाद करेले के टुकड़े डाल दीजिए साथ में हल्दी डाल कर भी अच्छे से मिक्स कर दीजिए. सभी चीजों को 3-4 मिनिट अच्छे से मिलाते हुए मिक्स कर लीजिए.
  7. मिनिट बाद गैस बंद कर दीजिए, इसमें पीसे मसाले, सौंफ पाउडर, नमक, काला नमक, गरम मसाला, और लाल मिर्च पाउडर डाल कर अच्छे से मिला लीजिए. पैन को ढक कर के 5 मिनिट रख दीजिए जिससे मसाले करेलों में अच्छे से समा जाएं.
  8. मिनिट बाद करेले हल्के से ठंडे हो गए हैं, इनमें सिरका डाल दीजिए और सारी सामग्री को चमचे से अच्छी तरह मिलाइये.अचार बनकर तैयार है आप चाहें तो इसे अभी खा सकते हैं लेकिन अचार का असली स्वाद 3 दिन के बाद आएगा जब अचार में मसाले अच्छे से एब्जार्ब हो जाएंगे. अचार को 3-4 दिन के लिए धूप में रख दीजिए इससे अचार का स्वाद और इसकी शैल्फ लाइफ अच्छी रहती है.
  9. आप करेले के अचार को अपने लन्च या डिनर के साथ या नाश्ते में गरमा गरम परांठे, पूरी के साथ खाइये और परोसिये. मसाले मिले करेले को किसी प्लास्टिक या कांच के साफ और सूखे कन्टेनर में भर कर रखिये, अधिक दिन तक अचार खाने के लिये आप इस अचार में इतना सरसों का तेल डाल दीजिये कि अचार तेल में डुबा रहे.

 

कचालू का अचार – Kachalu Pickle Recipe – Kachalu Achar Recipe – Yam pickle

कचालू की सब्जी और इसकी चाट तो आपने खाई ही होगी पर इससे बना आचार भी बहुत ही स्वादिष्ट होता है. कचालू के अचार को आप अपने खाने के साथ या पूरी, परांठे इत्यादि के साथ परोस सकते हैं. कचालू का अचार घर पर बहुत ही आसानी से और जल्दी से बनकर तैयार हो जाता है. इसके लिए कचालू को उबाल कर मसालों के साथ हल्का सा भून कर बनाया जाता है और इसमें डाला गया सिरका या नींबू का रस इसके स्वाद को और भी अधिक जायकेदार व चटपटा बनाता है, तो आप भी घर पर इस कचालू के अचार को बनाइये और इसके स्वाद का मजा लीजिए.

Kachalu Pickle Recipe – Kachalu Achar Recipe – Yam pickle

निर्देश

तैयारी के लिए

कचालू को धोइये और कुकर में डालिये,1.5 या 2 कप पानी डालकर ढक्कन बन्द करके कचालू को उबलने के लिये रख दीजिये. कुकर में 1 सीटी आने के बाद गैस धीमी कर दीजिए और कचालू को 6-7 मिनिट तक उबलने दीजिये. गैस बन्द कर दीजिये और कुकर का प्रेशर खतम होने दीजिए.

kachalu pickleकुकर का प्रेशर खतम होने दीजिए. तक कचालू को कुकर से निकाल कर, ठंडे करके, छील कर मीडियम साइज के टुकड़े में काट कर तैयार कर लीजिये.

kachalu pickle

बनाने की विधि

कढ़ाई में सरसों का तेल डालकर, अच्छा गरम कर लीजिये (तेल को अच्छा गरम करने से तेल का तीखा पन दूर हो जाता है), गैस बन्द करके तेल को थोड़ा ठंडा होने दीजिये, अब धीमी गैस करके हल्के गरम तेल में अजवायन, कलौजी, मेथी के दाने डालकर हल्का सा भून लीजिये.

kachalu pickleमसाले में कचालू के टुकड़े, हींग, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, सरसों पाउडर और नमक डाल कर सारी चीजों को मिक्स करके, चमचे से चलाते हुये 2 मिनिट तक पका लीजिए.

kachalu pickle2 मिनिट बाद गैस बंद कर दीजिए और अचार को थोडा़ ठंडा होने दीजिए. अचार के ठंडा होने के बाद सिरका भी डालकर अच्छी तरह मिक्स कर दीजिये. कचालू का अचार तैयार है, इसे प्याले में निकाल लीजिए. कचालू के अचार को अभी भी खाया जा सकता है, लेकिन अचार का असली स्वाद, 3 दिन के बाद मिलेगा तब तक कचालू में सारे मसाले जज्ब हो जायेंगे. कचालू के अचार को रोजाना दिन में 1 बार सूखी साफ चम्मच से चलाकर ऊपर नीचे कर दीजिये.

kachalu pickle

परोसिये

  • इस तीखे चटपटे अचार को आप अपने भोजन के साथ परोसिये और खाईये. कचालू के अचार को 15-20 दिन तक रखकर खाया जा सकता है.

कचालू का अचार - Kachalu Pickle Recipe kachalu-pickle
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • कचालू - 4 (500 ग्राम)
  • सरसों का तेल - ½ कप
  • सिरका - 3-4 टेबल स्पून
  • हींग - 1-2 पिंच
  • मेथी के दाने - ½ छोटी चम्मच
  • कलौंजी - ½ छोटी चम्मच
  • अजवायन - ½ छोटी चम्मच
  • पीली सरसों का पाउडर - 2 छोटी चम्मच
  • नमक - 1 छोटी चम्मच से थोड़ा सा ज्यादा या स्वादानुसार
  • हल्दी पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - 1 छोटी चम्मच
Instructions
  1. कचालू को धोइये और कुकर में डालिये,1.5 या 2 कप पानी डालकर ढक्कन बन्द करके कचालू को उबलने के लिये रख दीजिये. कुकर में 1 सीटी आने के बाद गैस धीमी कर दीजिए और कचालू को 6-7 मिनिट तक उबलने दीजिये. गैस बन्द कर दीजिये और कुकर का प्रेशर खतम होने दीजिए.
  2. कुकर का प्रेशर खतम होने दीजिए. तक कचालू को कुकर से निकाल कर, ठंडे करके, छील कर मीडियम साइज के टुकड़े में काट कर तैयार कर लीजिये.
  3. कढ़ाई में सरसों का तेल डालकर, अच्छा गरम कर लीजिये (तेल को अच्छा गरम करने से तेल का तीखा पन दूर हो जाता है), गैस बन्द करके तेल को थोड़ा ठंडा होने दीजिये, अब धीमी गैस करके हल्के गरम तेल में अजवायन, कलौजी, मेथी के दाने डालकर हल्का सा भून लीजिये.
  4. मसाले में कचालू के टुकड़े, हींग, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, सरसों पाउडर और नमक डाल कर सारी चीजों को मिक्स करके, चमचे से चलाते हुये 2 मिनिट तक पका लीजिए.
  5. मिनिट बाद गैस बंद कर दीजिए और अचार को थोडा़ ठंडा होने दीजिए. अचार के ठंडा होने के बाद सिरका भी डालकर अच्छी तरह मिक्स कर दीजिये. कचालू का अचार तैयार है, इसे प्याले में निकाल लीजिए. कचालू के अचार को अभी भी खाया जा सकता है, लेकिन अचार का असली स्वाद, 3 दिन के बाद मिलेगा तब तक कचालू में सारे मसाले जज्ब हो जायेंगे. कचालू के अचार को रोजाना दिन में 1 बार सूखी साफ चम्मच से चलाकर ऊपर नीचे कर दीजिये.

 

गाजर का अचार – Carrot Pickle Recipe | Gajar Ka Achar

सर्दियों का मौसम हो और गाजर का अचार खाने के साथ न दिखें तो खाना अधूरा सा लगता है़. विटामिन ए से भरपूर सेहत के लिये फायदेमंद गाजर का अचार सर्दियों के मौसम में ही रखा जाता है. सरसों के तेल, अदरक, मिर्च, मेथी दाने गाजर में डाल के लगभग 3- 4 दिनों में चटपटा गाजर का अचार तैयार हो जाता है. एक बार गाजर का अचार बना के आप पूरे 1 महीने तक इसके चटाखेदार ज़ायके का अनुभव ले सकते हैं. तो सर्दियों के मौसम में खुद घर पर बनायें स्वादिष्ट- गाजर का अचार.

Carrot Pickle Recipe | Gajar Ka Achar

निर्देश

तैयारी के लिए

गाजर धोइये, अच्छे से पानी सूख जाने के बाद छीलिये और लम्बी लम्बी काट लीजिये. हरी मिर्च धोइये, डंठल तोड़िये और लम्बाई में काट लीजिये. अदरक धोइये, छीलिये और पतला पतला काट लीजिये.

carrot pickle

बनाने की विधि

पैन को गैस पर रखें और इसमें अजवायन और मेथी दाना डाल कर लगातार चलाते हुए हल्का सा भून लीजिए. मसाले के भून जाने पर इन्हें प्याले में निकाल लीजिए.

carrot pickleभूने हुए साबुत मसालों को मिक्सर जार में डाल दीजिए साथ में राई डाल कर दरदरा पीस लीजिए. पीसे हुए मसाले को प्याले में निकाल लीजिए.

carrot pickleपैन में तेल डालकर अच्छे से गरम कीजिए. तेल के गरम होने पर इसमें हींग, कटे गाजर, हरी मिर्च , अदरक, हल्दी पाउडर और नमक डाल कर मिक्स करते हुए 2 मिनिट तक पकाइये.

carrot pickleमसालों के अच्छे से मिक्स हो जाने पर गैस बंद कर दीजिए और इसमें लाल मिर्च पाउडर और दरदरे कुटे मसाले डालकर सभी को अच्छी तरह मिला दीजिये. अचार को 10 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये.

carrot pickleअचार को ठंडा होने के बाद, नींबू का रस इसमें डालकर मिक्स कर दीजिये. अचार को प्याले में निकाल लीजिए. आपका गाजर का अचार का अचार तैयार है, आप चाहें तो इसे अभी खा सकते हैं लेकिन अचार का असली स्वाद तीन दिन के बाद ही आता है जब गाजर में मसाले अच्छे से मिक्स हो जाते हैं. 3-4 दिन तक रोजाना अचार को सूखे चमचे से चला कर ऊपर नीचे करते रहें ताकि मसाले अचार में अच्छे से मिक्स हो जाएं.

carrot pickle

परोसिये

अचार खाने के लिए तैयार है. अचार को किसी कांच के कन्टेनर में भर दीजिये और 1 माह तक इसके स्वाद का मजा लेते रहें. यदि आपको अचार ज्यादा दिनों तक रख कर खाना है, तब अचार में इतना तेल और डाल दीजिये कि गाजर तेल में डुबी रहें इससे अचार लम्बे समय तक चलत अहै.

सुझाव

  • अचार के कन्टेनर को धूप में ही रख लीजिये, 3-4 दिन तक अचार को धूप लगवा लेने से अचार का स्वाद अच्छा होता है और अचार लम्बे समय तक सुरक्षित भी रहता है.

गाजर का अचार - Carrot Pickle Recipe carrot-pickle
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • गाजर - 4-5 (500 ग्राम)
  • सरसों का तेल - ½ कप
  • अदरक - 50 ग्राम
  • हरी मिर्च - 6-7
  • नींबू - 1
  • हल्दी पाउडर -1 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च - ½ छोटी चम्मच
  • हींग - 2-3 पिंच
  • अजवायन - 1 छोटी चम्मच
  • मेथी दाने - 2 छोटी चम्मच
  • राई या पीली सरसों - 2 टेबल स्पून
  • नमक - 2.5 छोटी चम्मच
Instructions
  1. गाजर धोइये, अच्छे से पानी सूख जाने के बाद छीलिये और लम्बी लम्बी काट लीजिये. हरी मिर्च धोइये, डंठल तोड़िये और लम्बाई में काट लीजिये. अदरक धोइये, छीलिये और पतला पतला काट लीजिये.
  2. पैन को गैस पर रखें और इसमें अजवायन और मेथी दाना डाल कर लगातार चलाते हुए हल्का सा भून लीजिए. मसाले के भून जाने पर इन्हें प्याले में निकाल लीजिए.
  3. भूने हुए साबुत मसालों को मिक्सर जार में डाल दीजिए साथ में राई डाल कर दरदरा पीस लीजिए. पीसे हुए मसाले को प्याले में निकाल लीजिए.
  4. पैन में तेल डालकर अच्छे से गरम कीजिए. तेल के गरम होने पर इसमें हींग, कटे गाजर, हरी मिर्च , अदरक, हल्दी पाउडर और नमक डाल कर मिक्स करते हुए 2 मिनिट तक पकाइये.
  5. मसालों के अच्छे से मिक्स हो जाने पर गैस बंद कर दीजिए और इसमें लाल मिर्च पाउडर और दरदरे कुटे मसाले डालकर सभी को अच्छी तरह मिला दीजिये. अचार को 10 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये.
  6. अचार को ठंडा होने के बाद, नींबू का रस इसमें डालकर मिक्स कर दीजिये. अचार को प्याले में निकाल लीजिए. आपका गाजर का अचार का अचार तैयार है, आप चाहें तो इसे अभी खा सकते हैं लेकिन अचार का असली स्वाद तीन दिन के बाद ही आता है जब गाजर में मसाले अच्छे से मिक्स हो जाते हैं. 3-4 दिन तक रोजाना अचार को सूखे चमचे से चला कर ऊपर नीचे करते रहें ताकि मसाले अचार में अच्छे से मिक्स हो जाएं.

 

कटहल का अचार – Jackfruit Pickle Achar Recipe Video

बाजार में बिकने वाला सफेद-सफेद कच्चे कटहल से लोग सब्जी तो तैयार करते ही है, इससे महीनों तक के लिये अचार भी डाल कर रखते है. कटहल के अचार को डालने के लिये पहले कटहल को उबाला जाता है, सौंफ, अज़वायन, मेथी दाने और अन्य गरम मसालों को दरदरा पीसकर तैयार किया जाता है और सरसों के तेल में मसाले व कटहल को भूना जाता है. 4 दिनों तक कन्टेनर में रख कर के बेहद लज़ीज़ कटहल का अचार तैयार हो जाता है. आप इसे परांथे, पूरी या चपाती के साथ खा सकते है. आईये विस्तार से जानें कटहल का अचार तैयार करने की विधि.

Jackfruit Pickle Achar Recipe Video

निर्देश

तैयारी के लिए

कटहल को धो लीजिये, हाथों पर तेल लगा कर कटहल के बीजों से छिलके हटाते हुये काट लीजिये.

jackfruit pickle

पीली सरसों, अजवायन, मेथीदाना, जीरा, और काली मिर्च को मिक्सर जार की मदद से दरदरा पीस लीजिए. मसालों को प्याले में निकाल लीजिए.

jackfruit pickle

तैयारी के लिए

कटहल के टुकड़ों को कुकर में भाप में उबाल लीजिये. किसी बड़े बरतन में थोडा़ पानी डालिये और प्लेट जिसके किनारे करीब आधा इंच या इससे अधिक ऊंचे हों रख दीजिये. कटहल को सेपरेटर में भरिये, इस सेपरेटर को इस प्लेट के ऊपर रख दीजिये और बरतन का ढक्कन बन्द कर दीजिये और मीडियम गैस पर पकाइये. कटहल को कुकर में भी स्टीम करके नरम किया जा सकता है.

jackfruit pickleकटहल को चैक कीजिए, कटहल के नरम होने पर गैस बंद कर दीजिए और बड़े बरतन से कटहल वाला बरतन बाहर निकाल कर रख दीजिए.

jackfruit pickleपैन में तेल डाल कर गरम कीजिये. तेल के अच्छे से गरम होने पर गैस को धीमा कर दीजिए और पैन में हींग, हल्दी पाउडर और कटहल डाल कर अच्छी तरह 2 मिनिट लगातार चलाते हुए मिक्स कर लीजिए.

jackfruit pickleगैस बंद कर दीजिए और कटहल में पीसे हुए मसाले, लाल मिर्च पाउडर, सौंफ पाउडर, नमक, अदरक पाउडर और काला नमक डाल कर मिक्स कर दीजिए. कटहल का अचार बनकर तैयार है इसे प्याले में निकाल लीजिए. आप चाहें तो अचार को अभी खा सकते हैं लेकिन अचार का असली स्वाद 4 दिन बाद आता है जब अचार में सारे मसाले अच्छे से समा जाते हैं.

jackfruit pickle

परोसिये

कटहल के स्वादिष्ट अचार को आप चपाती, परांठे, पूरी, चावल खिचडी़ या जिसके साथ भी खाना चाहें खा सकते हैं. अचार के पूरी तरह से ठंडा होने पर इसे किसी कांच के कन्टेनर मे भर कर रख लीजिये और 6 माह तक इस अचार का सेवन कीजिए. यदि आप इसे अधिक दिन तक उपयोग करना चाहें तो कन्टेनर में इतना तेल डाल दें कि अचार तेल में डूब जाये.

सुझाव

  • आप चाहें तो कटहल को नमक वाले पानी में डाल कर उबाल कर भी बना सकते हैं. कटहल को उबाल लेने के बाद इसका पानी निकाल कर इसे धूप में 2-3 घंटे सूखने के लिए रख दीजिए और अचार तैयार कर लीजिए.
  • अचार बनाने के लिए जो भी बरतनों का उपयोग कर रहे हों सभी अच्छे से साफ सूखे होने चाहिए. जिस कंटेनर में अचार रखें वह एकदम साफ, सूखा होना चाहिए. अचार को हमेशा सूखे और साफ चमचे से निकालिये, अचार में किसी भी प्रकार की नमी नहीं आनी चाहिए.

कटहल का अचार - Jackfruit Pickle Achar jackfruit-pickle
Author: 
Recipe type: Pickle
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • कटहल - 500 ग्राम
  • सरसों का तेल - 1 कप
  • पीली सरसों - 3 टेबल स्पून
  • अदरक पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • नमक - 1.5 छोटी चम्मच
  • सौंफ पाउडर - 2 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • हींग - ¼ छोटी चम्मच से कम
  • अजवायन - 1 छोटी चम्मच
  • मेथी के दाने -2 छोटी चम्मच
  • जीरा - 2 छोटी चम्मच
  • काली मिर्च - 2 छोटी चमम्च
  • काला नमक - 1 छोटी चम्मच
Instructions
  1. कटहल को धो लीजिये, हाथों पर तेल लगा कर कटहल के बीजों से छिलके हटाते हुये काट लीजिये.
  2. पीली सरसों, अजवायन, मेथीदाना, जीरा, और काली मिर्च को मिक्सर जार की मदद से दरदरा पीस लीजिए. मसालों को प्याले में निकाल लीजिए.
  3. कटहल के टुकड़ों को कुकर में भाप में उबाल लीजिये. किसी बड़े बरतन में थोडा़ पानी डालिये और प्लेट जिसके किनारे करीब आधा इंच या इससे अधिक ऊंचे हों रख दीजिये. कटहल को सेपरेटर में भरिये, इस सेपरेटर को इस प्लेट के ऊपर रख दीजिये और बरतन का ढक्कन बन्द कर दीजिये और मीडियम गैस पर पकाइये. कटहल को कुकर में भी स्टीम करके नरम किया जा सकता है.
  4. कटहल को चैक कीजिए, कटहल के नरम होने पर गैस बंद कर दीजिए और बड़े बरतन से कटहल वाला बरतन बाहर निकाल कर रख दीजिए.
  5. पैन में तेल डाल कर गरम कीजिये. तेल के अच्छे से गरम होने पर गैस को धीमा कर दीजिए और पैन में हींग, हल्दी पाउडर और कटहल डाल कर अच्छी तरह 2 मिनिट लगातार चलाते हुए मिक्स कर लीजिए.
  6. गैस बंद कर दीजिए और कटहल में पीसे हुए मसाले, लाल मिर्च पाउडर, सौंफ पाउडर, नमक, अदरक पाउडर और काला नमक डाल कर मिक्स कर दीजिए. कटहल का अचार बनकर तैयार है इसे प्याले में निकाल लीजिए. आप चाहें तो अचार को अभी खा सकते हैं लेकिन अचार का असली स्वाद 4 दिन बाद आता है जब अचार में सारे मसाले अच्छे से समा जाते हैं.