Samo Rice Dosa Recipe – Samavat Rice Dosa Recipe

व्रत के लिये खास उपयोग में आने वाले समा के चावल की खीर और खिचड़ी सभी ने चखी होगी पर समा के चावल से एक और डिश तैयार की जाती है – समा का दोसा जो खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होता है. सिंघाड़े के आटे और समा के चावल से बनाया जाने वाला व्रत के लिये खास समा का दोसा अन्य दोसा की तरह ही बेहद कुरकुरा और ज़ायकेदार होता है. फलाहारी नारियल की चटनी के साथ परोसे गये समा के दोसे का स्वाद और भी बड़ जाता है. आईये तैयार करते है व्रत के लिये समा का दोसा.

Samo Rice Dosa Recipe – Samavat Rice Dosa Recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

समा के चावल को साफ करके, धोकर 2 घंटे के लिये पानी में भिगो दीजिये. चावल से अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये और चावल को मिक्सर में डालिये और 2-3 टेबल स्पून पानी डालकर चावल को पीस कर तैयार कर लीजिये.

samo rice dosa

बनाने की विधि

चावल के पेस्ट को प्याले में निकालिये और सिंघाड़े का आटा डालकर मिलाइये, बैटर गाढा़ है तो इसमें पानी डालिये और दोसे के लिये बैटर इतना पतला कर लीजिये कि उसे तवे पर आसानी से फैलाया जा सके.

samo rice dosaबैटर में सैंधा नमक, काली मिर्च, और थोड़ा सा हरा धनिया डालकर मिक्स कर लीजिये. बैटर को 15 -20 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये, ताकि ये फूल कर तैयार हो जाय.

samo rice dosaजब तक बैटर सैट होता है तब तक नारियल, दही, सैंधा नमक, काली मिर्च मिक्सर जार में डालकर बारीक होने तक पीस लीजिये. पेस्ट को प्याले में निकाल लीजिए.

samo rice dosaचटनी में तड़का लगाने के लिये तड़का पैन में घी डालकर गरम कर लीजिये, गरम घी में तिल डालकर, हल्के से भून लीजिये और तिल के भून जाने पर गैस बंद कर दीजिए.

samo rice dosaइस तड़के को चटनी में डालकर मिला दीजिये. व्रत के लिये नारियल की चटनी बनकर तैयार है.

samo rice dosa15-20 मिनिट बाद डोसे के लिए बैटर तैयार है. तवे को गरम कीजिये, घी लगाकर चिकना कर लीजिये, 1-1.5 चमचा बैटर डालिये और पतला दोसा फैलाइये, दोसे के चारों ओर थोड़ा थोड़ा घी डालिये, थोड़ा सा घी दोसे के ऊपर डालिये, दोसे को निचली सतह को हल्का ब्राउन होने तक सिकने दीजिये.

samo rice dosaडोसे के निचली सतह के सिकने पर दोसे को पलट दीजिये और दूसरी ओर भी गोल्डन ब्राउन होने तक सिकने दीजिये, दोसा सिक कर तैयार है, दोसे को उतार कर किसी प्लेट में बिछे फोइल पर रखें और सारे दोसे इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये. 1 डोसा बनने में लगभग 4-5 मिनिट का समय लग जाता है.

samo rice dosa

परोसिये

  • गरमा गरम फलाहारी समा के चावल के दोसे, फलाहारी नारियल कि चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

Samo Rice Dosa Recipe - Samavat Rice Dosa Recipe samo-rice-dosa
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • समा के चावल - 1 कप
  • सिंघाड़े का आटा - ½ कप
  • घी - 2 टेबल स्पून
  • सैंधा नमक - ½ छोटी चम्मच
  • साबुत काली मिर्च - ¼ छोटी चम्मच
  • हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • ताजा नारियल - 1 कप कद्दूकस किया हुआ
  • दही - ½ कप
  • सैंधा नमक - ¾ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • काली मिर्च पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • तिल - 1 छोटी चम्मच
  • घी - 1 छोटी चम्मच
Instructions
  1. समा के चावल को साफ करके, धोकर 2 घंटे के लिये पानी में भिगो दीजिये. चावल से अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये और चावल को मिक्सर में डालिये और 2-3 टेबल स्पून पानी डालकर चावल को पीस कर तैयार कर लीजिये.
  2. चावल के पेस्ट को प्याले में निकालिये और सिंघाड़े का आटा डालकर मिलाइये, बैटर गाढा़ है तो इसमें पानी डालिये और दोसे के लिये बैटर इतना पतला कर लीजिये कि उसे तवे पर आसानी से फैलाया जा सके.
  3. बैटर में सैंधा नमक, काली मिर्च, और थोड़ा सा हरा धनिया डालकर मिक्स कर लीजिये. बैटर को 15 -20 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये, ताकि ये फूल कर तैयार हो जाय.
  4. जब तक बैटर सैट होता है तब तक नारियल, दही, सैंधा नमक, काली मिर्च मिक्सर जार में डालकर बारीक होने तक पीस लीजिये. पेस्ट को प्याले में निकाल लीजिए.
  5. चटनी में तड़का लगाने के लिये तड़का पैन में घी डालकर गरम कर लीजिये, गरम घी में तिल डालकर, हल्के से भून लीजिये और तिल के भून जाने पर गैस बंद कर दीजिए.
  6. इस तड़के को चटनी में डालकर मिला दीजिये. व्रत के लिये नारियल की चटनी बनकर तैयार है.
  7. -20 मिनिट बाद डोसे के लिए बैटर तैयार है. तवे को गरम कीजिये, घी लगाकर चिकना कर लीजिये, 1-1.5 चमचा बैटर डालिये और पतला दोसा फैलाइये, दोसे के चारों ओर थोड़ा थोड़ा घी डालिये, थोड़ा सा घी दोसे के ऊपर डालिये, दोसे को निचली सतह को हल्का ब्राउन होने तक सिकने दीजिये.
  8. डोसे के निचली सतह के सिकने पर दोसे को पलट दीजिये और दूसरी ओर भी गोल्डन ब्राउन होने तक सिकने दीजिये, दोसा सिक कर तैयार है, दोसे को उतार कर किसी प्लेट में बिछे फोइल पर रखें और सारे दोसे इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये. 1 डोसा बनने में लगभग 4-5 मिनिट का समय लग जाता है.

 

Instant Lauki Halwa | दूधी का हलवा । Doodhi Halwa with Milk Powder | Bottle Gourd Halwa

लौकी का हलवा स्वाद में लाजवाब और स्वाद से भरपूर होता है. आप इस हलवे को किसी व्रत-उपवास के दौरान बहुत आसानी से झटपट से तैयार कर सकते हैं. ये मिठाई  बहुत आसानी से और कम समय में बन जाती है. अधिकतर लोग इस‌े दूधी भी कहते हैं. लौकी का हलवा बहुत स्वादिष्ट बनता है, इसे आप व्रत में भी बनाकर खा स‌कते हैं.लौकी का हलवा स्वाद के साथ साथ सेहत के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद होता है

Instant Lauki Halwa | दूधी का हलवा । Doodhi Halwa with Milk Powder | Bottle Gourd Halwa

निर्देश

तैयारी के लिए

हलवा बनाने के लिए, लौकी के डंठल को काटकर हटा दीजिए और इसे छीलिए. लौकी को 3-4 इंच के बड़े टुकड़ों में काट लीजिए. अब लौकी को साफ पानी से धो लीजिए. लौकी को चारों तरफ स‌े कद्दूकस कर लीजिए, इसके बीच के नरम भाग और बीज को हटा दीजिए.

milkpowder louki halwa20-25 काजू और बादाम को लम्बे लम्बे टुकड़ों मे काट कर तैयार कर लीजिए, काजू को भी इसी तरह लम्बाई में काटते हुए टुकड़े कर लीजिए और कुछ काजू को दो टुकड़े करते हुए काट लीजिए.

milkpowder louki halwa

इलायची को छीलकर इसके बीजों का पाउडर बना लीजिए.

milkpowder louki halwa

बनाने की विधि

पैन को गैस पर गरम कर दीजिए, और पैन में 1/2 कप घी डाल कर गरम होने दीजिए. घी के गरम होने पर इसमें कटे हुए काजू और बादाम डाल कर हल्का सा रोस्ट कर लीजिए. काजू के हल्का सा कलर बदल जाने पर काजू बादाम भून कर तैयार हैं, गैस बंद कर दीजिए और इन्हें प्याली में निकाल लीजिए.

milkpowder louki halwaअब गैस आॉन करें और बचे हुए घी में लौकी डाल दीजिए और लौकी को 2-3 मिनिट लगातार चलाते हुए भून लीजिए. 3 मिनिट बाद लौकी को ढक कर 5 मिनिट के लिए धीमी मध्यम आंच पर पकने दीजिए.

milkpowder louki halwa

5 मिनिट बाद लौकी को चैक कीजिए, लौकी को अच्छे से मिक्स कर दीजिए. लौकी हल्की सी पक चुकी है. अब लौकी को फिर से ढक कर 5 मिनिट के लिए पकने दीजिए.

milkpowder louki halwa

लौकी को चैक करें. लौकी पक कर तैयार है. लौकी में 1 कप चीनी डाल कर मिक्स कीजिए. और 2 मिनिट के लिए ढक कर पका लीजिए.

milkpowder louki halwa

2 मिनिट बाद लौकी चैक करें, लौकी में से काफी जूस निकल आया है. गैस धीमी कर लीजिए और लौकी में थोडा़-थोडा़ मिल्क पाउडर डाल कर अच्छे से मिक्स करें. 2-3 मिनिट तक पका लेने के बाद जूस काफी कम हो जाता है. अब इसमें भूने हुए काजू और बादाम डाल दीजिए और थोड़े से काजू बादाम बचा लीजिए. साथ ही इलायची पाउडर डाल कर मिक्स कर दीजिए. हलवा अच्छा गाढा़ बन कर तैयार है गैस बंद कर दीजिए और हलवे को प्याले में निकाल लीजिए. हलवा लगभग 20 मिनिट में बनकर तैयार हो जाता है.

milkpowder louki halwa

परोसिये

लौकी का स्वादिष्ट हलवा बनाकर तैयार है. हलवे के ऊपर बचा कर रखे भूने हुए काजू और बादाम डाल कर हलवे को सजा दीजिए.

सुझाव

  • लौकी का हलवा बनाने स‌े पहले एक बार लौकी को टेस्ट जरुर कर लीजिए, क्योंकि कभी-कभी लौकी कड़वी निकल जाती हैं. जिससे आपका हलवा कड़वा हो सकता है.
  • लौकी के बचे हुए पल्प को आप सूप बनाने के लिए उपयोग कर सकते हैं.
  • हलवा बनाने के लिए लौकी को उसी समय कद्दूकस कर के लीजिए. अगर आप लौकी को पहले से कद्दूकस करके रख देंगे तो वह काली हो जाएगी.

Instant Lauki Halwa | दूधी का हलवा milkpowder-louki-halwa
Author: 
Recipe type: Sweets
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • लौकी - 1 किलो
  • चीनी - 1 कप (250 ग्राम)
  • मिल्क पाउडर - 1 कप (200 ग्राम)
  • घी - ½ कप (100 ग्राम)
  • काजू - 20-25
  • बादाम -20-25
  • इलायची - 7
Instructions
  1. हलवा बनाने के लिए, लौकी के डंठल को काटकर हटा दीजिए और इसे छीलिए. लौकी को 3-4 इंच के बड़े टुकड़ों में काट लीजिए. अब लौकी को साफ पानी से धो लीजिए. लौकी को चारों तरफ स‌े कद्दूकस कर लीजिए, इसके बीच के नरम भाग और बीज को हटा दीजिए.
  2. -25 काजू और बादाम को लम्बे लम्बे टुकड़ों मे काट कर तैयार कर लीजिए, काजू को भी इसी तरह लम्बाई में काटते हुए टुकड़े कर लीजिए और कुछ काजू को दो टुकड़े करते हुए काट लीजिए.
  3. इलायची को छीलकर इसके बीजों का पाउडर बना लीजिए.
  4. पैन को गैस पर गरम कर दीजिए, और पैन में ½ कप घी डाल कर गरम होने दीजिए. घी के गरम होने पर इसमें कटे हुए काजू और बादाम डाल कर हल्का सा रोस्ट कर लीजिए. काजू के हल्का सा कलर बदल जाने पर काजू बादाम भून कर तैयार हैं, गैस बंद कर दीजिए और इन्हें प्याली में निकाल लीजिए.
  5. अब गैस आॉन करें और बचे हुए घी में लौकी डाल दीजिए और लौकी को 2-3 मिनिट लगातार चलाते हुए भून लीजिए. 3 मिनिट बाद लौकी को ढक कर 5 मिनिट के लिए धीमी मध्यम आंच पर पकने दीजिए.
  6. मिनिट बाद लौकी को चैक कीजिए, लौकी को अच्छे से मिक्स कर दीजिए. लौकी हल्की सी पक चुकी है. अब लौकी को फिर से ढक कर 5 मिनिट के लिए पकने दीजिए.
  7. लौकी को चैक करें. लौकी पक कर तैयार है. लौकी में 1 कप चीनी डाल कर मिक्स कीजिए. और 2 मिनिट के लिए ढक कर पका लीजिए.
  8. मिनिट बाद लौकी चैक करें, लौकी में से काफी जूस निकल आया है. गैस धीमी कर लीजिए और लौकी में थोडा़-थोडा़ मिल्क पाउडर डाल कर अच्छे से मिक्स करें. 2-3 मिनिट तक पका लेने के बाद जूस काफी कम हो जाता है. अब इसमें भूने हुए काजू और बादाम डाल दीजिए और थोड़े से काजू बादाम बचा लीजिए. साथ ही इलायची पाउडर डाल कर मिक्स कर दीजिए. हलवा अच्छा गाढा़ बन कर तैयार है गैस बंद कर दीजिए और हलवे को प्याले में निकाल लीजिए. हलवा लगभग 20 मिनिट में बनकर तैयार हो जाता है.

 

Aloo Tikki for Vrat | फराली आलू टिक्की | Potato Cutlet for Navratra

व्रत में आप आलू से बहुत सी चीजें बनाते होंगे, आलू के पकौड़े, आलू के फ्रैंच फ्राई, आलू के चिप्स इत्यादि पर आज हम आपके लिए व्रत में बनाई जाने वाली आलू टिक्की की रेसिपी लेकर आए हैं. कद्दूकस किए हुए आलू में सिंघाड़े का आटा मिक्स करके सैंधा नमक, काली मिर्च, अदरक मिलाकर स्वादिष्ट आलू टिक्की बनाई जाती है. आलू की टिक्की को घर पर बनाकर परिवार के स‌ाथ इसका स्वाद ले स‌कते हैं. आलू की टिक्की को झटपट बनाकर तैयार किया जा स‌कता है. आलू की टिक्की बाहर स‌े कुरकुरी और अंदर स‌े खाने में नरम होती है. बच्चों स‌े लेकर बड़ों तक को आलू की टिक्की बहुत पसंद करते हैं.

Aloo Tikki for Vrat | Potato Cutlet for Navratra

निर्देश

तैयारी के लिए

5 उबले हुए आलू छील कर ले लीजिए और इन्हें किसी बड़े प्याले में कद्दूकस कर लीजिए.

falahari aloo tikki

बनाने की विधि

कद्दूकस किए हुए आलू में 1 छोटी चम्मच, सैंधा नमक, दरदरी कुटी काली मिर्च, बारीक कटी हरी मिर्च, ½ इंच अदरक का टुकडा़ बारीक कटा हुआ, 1/4 कप सिंघाड़े का आटा, दरदरे भूने मूंगफली के दाने और बारीक कटा हरा धनिया डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिए.

falahari aloo tikkiहाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर मिश्रण में से थोड़ा सा मिश्रण निकाल लीजिए (टिक्की आप अपनी पसंद अनुसार बडी़ या छोटी जैसे चाहें बना सकते हैं).मिश्रण को हाथ में रखिये और गोल कर लीजिये, गोले को हथेली से दबाकर चपटा कर के टिक्की का शेप दे दीजिये. सभी गोले इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये.

falahari aloo tikkiटिक्की को शैलो फ्राय करने के लिए गैस पर पैन रखें और पैन में 2-3 टेबल स्पून घी डाल दीजिये, घी के गरम होने के बाद सारी टिक्की पैन पर सिकने के लिये लगा कर रख दीजिये, धीमी – मीडियम आग पर आलू टिक्की सेकिये, टिक्की नीचे से हल्की सी सिक चुकी है इसे पलट दीजिए और टिक्कियों को कलछी की सहायता से पलट-पलट कर, दोनों ओर से गोल्डन ब्राउन होने तक सिकने दीजिये. आलू की टिक्की तैयार हैं. इसे प्लेट में निकाल लीजिए. स्वादिष्ट आलू टिक्की बनकर तैयर है टिक्की को बनने में लगभग 12 मिनिट का समय लग जाता है.

falahari aloo tikki

परोसिये

गरमा गरम फलाहारी आलू की टिक्की बनकर के तैयार हैं. इन्हें सर्व करने के लिए दही, व्रत की हरे धनिये की चटनी, मूंगफली के दानों की फलाहारी चटनी के साथ सर्व कर सकते हैं.

falahari aloo tikki

सुझाव

  • मिर्च आप अपने स्वादानुसार कम या ज्यादा जैसी रखना चाहें रख सकते हैं.
  • सिंघाड़े के आटे के बदले कुट्टू का आटा लिया जा सकता है. अगर आप इसे व्रत के लिए नहीं बना रहे हैं तो अरारोट डाल सकते हैं.
  • मूंगफली के दाने अगर नहीं डालना चाहें तो हटा सकते हैं.
  • टिक्की को घी के बदले व्रत में खाने वाले किसी भी रिफाइंड तेल में बना सकते हैं.
  • व्रत में अगर आप बहुत कम मसाले खाते हैं तो सिर्फ काली मिर्च और सैंधा नमक से भी टिक्की बना कर खा सकते हैं.

Aloo Tikki for Vrat | फराली आलू टिक्की falahari-aloo-tikki
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • उबले हुए आलू - 5 (400 ग्राम)
  • सिंघाड़े का आटा - ¼ कप (50 ग्राम)
  • मूंगफली के दाने - ¼ कप (50 ग्राम) (दरदरे कुटे हुए)
  • हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • घी - 2-3 टेबल स्पून
  • अदरक - ½ छोटी चम्मच (बारीक कटी हुई)
  • हरी मिर्च - 1-2 (बारीक कटी हुई)
  • काली मिर्च - 8-10 (दरदरी कुटी हुई)
  • सैंधा नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
Instructions
  1. उबले हुए आलू छील कर ले लीजिए और इन्हें किसी बड़े प्याले में कद्दूकस कर लीजिए.
  2. कद्दूकस किए हुए आलू में 1 छोटी चम्मच, सैंधा नमक, दरदरी कुटी काली मिर्च, बारीक कटी हरी मिर्च, ½ इंच अदरक का टुकडा़ बारीक कटा हुआ, ¼ कप सिंघाड़े का आटा, दरदरे भूने मूंगफली के दाने और बारीक कटा हरा धनिया डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिए.
  3. हाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर मिश्रण में से थोड़ा सा मिश्रण निकाल लीजिए (टिक्की आप अपनी पसंद अनुसार बडी़ या छोटी जैसे चाहें बना सकते हैं).मिश्रण को हाथ में रखिये और गोल कर लीजिये, गोले को हथेली से दबाकर चपटा कर के टिक्की का शेप दे दीजिये. सभी गोले इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये.
  4. टिक्की को शैलो फ्राय करने के लिए गैस पर पैन रखें और पैन में 2-3 टेबल स्पून घी डाल दीजिये, घी के गरम होने के बाद सारी टिक्की पैन पर सिकने के लिये लगा कर रख दीजिये, धीमी - मीडियम आग पर आलू टिक्की सेकिये, टिक्की नीचे से हल्की सी सिक चुकी है इसे पलट दीजिए और टिक्कियों को कलछी की सहायता से पलट-पलट कर, दोनों ओर से गोल्डन ब्राउन होने तक सिकने दीजिये. आलू की टिक्की तैयार हैं. इसे प्लेट में निकाल लीजिए. स्वादिष्ट आलू टिक्की बनकर तैयर है टिक्की को बनने में लगभग 12 मिनिट का समय लग जाता है.
  5. गरमा गरम फलाहारी आलू की टिक्की बनकर के तैयार हैं. इन्हें सर्व करने के लिए दही, व्रत की हरे धनिये की चटनी, मूंगफली के दानों की फलाहारी चटनी के साथ सर्व कर सकते हैं.

 

Aloo Singhda Paratha for Navratri | फराली आलू परांठा । Farali Potato Paratha

व्रत के दौरान सिंघाड़े के आटे से बने आलू के परांठे स्वाद में लाजवाब होते हैं. आलू परांठों के साथ दही या रायता का स्वाद बेहद स्वादिष्ट लगता है. तो इस दौरान व्रत में हम आपके सामने स्वादिष्ट सिंघाड़े के आटे से बने आलू परांठे की रेसिपी ला रहे हैं.  आलू को आटे के साथ गुंथ कर आप इसे बहुत आसानी से बना कर तैयार कर सकते हैं.  तो चलिये बनाते हैं टेस्ट से भरपूर आलू सिंघाडा़ परांठा.

Aloo Singhda Paratha for Navratri | फराली आलू परांठा । Farali Potato Paratha

निर्देश

तैयारी के लिए

उबले आलू को छील लीजिए, और इसे कद्दूकस कर लीजिए.

aloo singhare parantha

बनाने की विधि

एक बड़े प्याले में 1 कप सिंघाड़े का आटा निकाल लीजिए. इसमें कद्दूकस किए हुए आलू डाल दीजिए. अब इसमें 1/2 छोटी चम्मच से थोडा़ सा ज्यादा सेंधा नमक, 2 बारीक कटी हरी मिर्च, 2 टेबल स्पून बारीक कटा हरा धनिया और 1 छोटी चम्मच घी डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिक्स करते हुए थोडा़ सख्त आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए.

aloo singhare paranthaआटे को ढककर 15-20 मिनिट के लिए रख दीजिए आटा सैट होकर तैयार हो जाएगा. इतना आटा लगाने में 1/4 कप पानी उपयोग किया था समें 2 चम्मच पानी बच गया. 20 मिनिट बाद आटा सैट होकर तैयार है, हाथ पर थोडा़ सा घी लगाकर आटे को मसल लीजिए.

aloo singhare paranthaगैस पर तवा गरम होने के लिए रखिये, आटे में से थोडा़ सा आटा तोड़ कर लोई बना लीजिए. लोई हथेली से दबाव देते हुए पेड़े का आकार दीजिए और इस पेड़े को सूखे सिंघाड़े के आटे में लपेट लीजिए.

aloo singhare paranthaपेड़े को चकले पर रखें और बेलन की सहायता से 3-4 इंच के व्यास में बेल लीजिए. अगर आटा चिपक रहा हो तो इसे फिर से सूखे आटे से लपेट कर बेल लीजिए. बेले गये परांठे के ऊपर थोडा़ सा घी लगाकर चारों ओर फैला दीजिए और आटे को आधा करते हुए फोल्ड कीजिए. परांठे पर फिर से थोडा़ तेल लगाकर उसे फिर से तिकोन आकार देते हुए फोल्ड कर लीजिए. हाथों ओर उंगलियों की सहायता से गोल कर के पेड़े का आकार दे दीजिए.

aloo singhare paranthaअब इस पेड़े को सूखे आटे में लपेट कर 5-6 इंच के व्यास में हल्का दबाव देते हुए थोड़ा सा मोटा परांठा बेल कर तैयार कर लीजिए.

aloo singhare paranthaतवा गरम होने पर, तवे पर थोड़ा सा घी लगाइये और बेला हुआ परांठा गरम तवे पर डाल दीजिए. गैस मीडियम कर दीजिए और परांठे को निचे की ओर से हल्का सा सिकने दीजिए.

aloo singhare paranthaपरांठा नीचे से सिकने पर पलटिये, दूसरी तरफ से सिकने पर ऊपर की ओर घी लगाइये और परांठे को पलट कर इस ओर भी घी लगाइये और सेकिये.

aloo singhare parantha

कलछी से चारों ओर हल्का दबाव देते हुये परांठे को दोनों तरफ अच्छी ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये. सिके हुए परांठे को किसी प्लेट पर रखी प्याली पर रख लीजिये. सारे परांठे इसी तरह बनाकर तैयार कर लीजिये. इतने आटे में लगभग 5 परांठे बनकर तैयार हो जाते हैं और एक परांठा सिकने में लगभग 5 से 6 मिनिट का समय लग जाता है. परांठों को प्याली से हटा कर प्लेट पर रख दीजिए.

aloo singhare parantha

परोसिये

आलू के गरमागरम स्वादिष्ट परांठों को आप हरे दही, व्रत वाले रायते या चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

सुझाव

  • आटा थोड़ा सख्त गूंथे क्योंकि आटे में आलू डालकर गूंथने पर आटा थोड़ा नरम हो जाता है.
  • परांठे को हल्के हाथों से दबाव देते हुए बेलें, धीमी मीडियम आंच पर परांठों को सेकें.

Aloo Singhda Paratha for Navratri | फराली आलू परांठा aloo-singhare-parantha
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • सिंघाड़े का आटा - 1 कप (150 ग्राम)
  • उबले हुए आलू - 2 (150 ग्राम)
  • घी - 2-3 टेबल स्पून
  • हरा धनिया - 2 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • हरी मिर्च - 2 (बारीक कटी हुई)
  • सेंधा नमक - ½ छोटी चम्मच से थोड़ा सा ज्यादा या स्वादानुसार
Instructions
  1. उबले आलू को छील लीजिए, और इसे कद्दूकस कर लीजिए.
  2. एक बड़े प्याले में 1 कप सिंघाड़े का आटा निकाल लीजिए. इसमें कद्दूकस किए हुए आलू डाल दीजिए. अब इसमें ½ छोटी चम्मच से थोडा़ सा ज्यादा सेंधा नमक, 2 बारीक कटी हरी मिर्च, 2 टेबल स्पून बारीक कटा हरा धनिया और 1 छोटी चम्मच घी डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिक्स करते हुए थोडा़ सख्त आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए.
  3. आटे को ढककर 15-20 मिनिट के लिए रख दीजिए आटा सैट होकर तैयार हो जाएगा. इतना आटा लगाने में ¼ कप पानी उपयोग किया था समें 2 चम्मच पानी बच गया. 20 मिनिट बाद आटा सैट होकर तैयार है, हाथ पर थोडा़ सा घी लगाकर आटे को मसल लीजिए
  4. गैस पर तवा गरम होने के लिए रखिये, आटे में से थोडा़ सा आटा तोड़ कर लोई बना लीजिए. लोई हथेली से दबाव देते हुए पेड़े का आकार दीजिए और इस पेड़े को सूखे सिंघाड़े के आटे में लपेट लीजिए.
  5. पेड़े को चकले पर रखें और बेलन की सहायता से 3-4 इंच के व्यास में बेल लीजिए. अगर आटा चिपक रहा हो तो इसे फिर से सूखे आटे से लपेट कर बेल लीजिए. बेले गये परांठे के ऊपर थोडा़ सा घी लगाकर चारों ओर फैला दीजिए और आटे को आधा करते हुए फोल्ड कीजिए. परांठे पर फिर से थोडा़ तेल लगाकर उसे फिर से तिकोन आकार देते हुए फोल्ड कर लीजिए. हाथों ओर उंगलियों की सहायता से गोल कर के पेड़े का आकार दे दीजिए.
  6. अब इस पेड़े को सूखे आटे में लपेट कर 5-6 इंच के व्यास में हल्का दबाव देते हुए थोड़ा सा मोटा परांठा बेल कर तैयार कर लीजिए.
  7. तवा गरम होने पर, तवे पर थोड़ा सा घी लगाइये और बेला हुआ परांठा गरम तवे पर डाल दीजिए. गैस मीडियम कर दीजिए और परांठे को निचे की ओर से हल्का सा सिकने दीजिए.
  8. परांठा नीचे से सिकने पर पलटिये, दूसरी तरफ से सिकने पर ऊपर की ओर घी लगाइये और परांठे को पलट कर इस ओर भी घी लगाइये और सेकिये.
  9. कलछी से चारों ओर हल्का दबाव देते हुये परांठे को दोनों तरफ अच्छी ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये. सिके हुए परांठे को किसी प्लेट पर रखी प्याली पर रख लीजिये. सारे परांठे इसी तरह बनाकर तैयार कर लीजिये. इतने आटे में लगभग 5 परांठे बनकर तैयार हो जाते हैं और एक परांठा सिकने में लगभग 5 से 6 मिनिट का समय लग जाता है. परांठों को प्याली से हटा कर प्लेट पर रख दीजिए.

 

Samvat Rice Khichdi navratri Special | समा चावल खिचडी | Farali Samak or Morthan Khichdi

स‌मा के चावल का उपयोग मुख्यत: व्रत में किया जाता है, इससे कई तरह के स्वादिष्ट पकवान बना जाते हैं जैसे स‌मा के चावल की खीर, पुलाव, चकली इत्यादि इस स‌भी चीजों को हम व्रत में बना कर खा स‌कते हैं. आज हम व्रत में खाई जाने वाली स‌मा के चावल की खिचडी़ बना रहे हैं.  इसे बहुत आस‌ानी स‌े बनाया जा स‌कता है और यह स्वाद में भी बहुत लाजवाब होती है. तो चलिये बनाते हैं समा के चावल की स्वादिष्ट खिचडी़

Samvat Rice Khichdi navratri Special | समा चावल खिचडी | Farali Samak or Morthan Khichdi

निर्देश

तैयारी के लिए

समा के चावल को साफ कीजिये, अच्छी तरह धोइये और 30 मिनिट के लिये पानी में भिगो दीजिये. आधे घंटे बाद अतिरिक्त पानी हटाकर चावल ले लीजिए.

samo rice khichdiआलू को छीलकर धो लीजिए और छोटे छोटे टुकड़ों में काट लीजिए.

samo rice khichdi

बनाने की विधि

किसी बर्तन में 2 छोटे चम्मच घी डालकर गरम कीजिये. गरम घी में 1/2 छोटी चम्मच जीरा डाल कर भून लीजिए.

samo rice khichdiजीरा भून जाने पर इसमें बारीक कटी हरी मिर्च और दरदरी कुटी काली मिर्च डालकर 1-2 मिनिट हल्का सा भून लीजिए. फिर इसमें चावल डाल दीजिए और चावल को लगातार चलाते हुए 1-2 मिनिट भून लीजिए. इसके बाद इन चावल में 2 कप पानी और सेंधा नमक डाल कर अच्छे से मिक्स कर दीजिए. खिचड़ी़ को ढककर 3-4 मिनिट तक मध्यम आंच पर पकने दीजिए. बीच-बीच में खिचड़ी को चला दीजिए.

samo rice khichdiएक दूसरे पैन को गैस पर रखकर गरम कीजिए. पैन में 3-4 छोटे चम्मच घी डालकर गरम होने दीजिए. घी के गरम होने पर इसमें आलू डाल दीजिए. आलू को थोड़ा सा नरम और क्रिस्पी होने तक तलकर निकाल लीजिए. घी में मूंगफली के दाने डाल कर इन्हें भी भून लीजिए. मूंगफली के दाने भून कर तैयार है. चावलों को चैक कीजिए खिचड़ी अगर अधिक गाढ़ी लग रही हो तो, खिचड़ी़ में पानी डालने के लिए पौना कप पानी को मूंगफली के दानों के साथ डालकर उबाल लीजिए और फिर उबले हुए पानी और मूंगफली को खिचड़ी में डाल दीजिए. आप इसमें पानी की मात्रा अपने अनुसार कम या ज्यादा जैसी रखना चाहें रख सकते हैं. साथ ही फ्राय किए हुए आलू भी डालकर मिक्स कर दीजिए. खिचड़ी में थोड़ा सा हरा धनिया डालकर मिला दीजिए. सभी चीजें अच्छे से मिक्स हो जाने के बाद गैस बंद कर दीजिए.

samo rice khichdi

परोसिये

खिचड़ी़ को प्याले में निकाल लीजिए. खिचड़ी के ऊपर थोड़ा सा घी डाल दीजिए. घी डालने से खिचड़ी का स्वाद और भी बढ़ जाता है और थोड़ा सा हरा धनिया डालकर खिचड़ी को सजाएं. गरमागरम समा चावल की खिचड़ी बनकर तैयार है. खिचड़ी को आप दही, व्रत की चटनी, रायता या जिसके साथ चाहें परोस सकते हैं.

samo rice khichdi

सुझाव

  • खिचडी़ में घी की मात्रा आप अपने अनुसार कम या ज्यादा जैसी रखना चाहें रख सकते हैं.
  • जब खिचडी़ खुले बर्तन में बना रहे हों तो उसका ढक्कन पूरी तरह से न ढकें थोड़ा सा हटा कर ही रखें जिससे भाप निकल सके और खिचडी़ का पानी उफन कर बर्तन से बाहर न गिरे.

Samvat Rice Khichdi navratri Special | समा चावल खिचडी samo-rice-khichdi
Author: 
Recipe type: Miscellaneous
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • समा के चावल - ½ कप (100 ग्राम)
  • आलू - 2 (100 ग्राम)
  • मूंगफली के दाने - 2-3 टेबल स्पून
  • घी - 3-4 टेबल स्पून
  • हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • जीरा - ½ छोटी चम्मच
  • हरी मिर्च - 2 (बारीक कटी हुई)
  • काली मिर्च - 8-10 (दरदरी कुटी हुई)
  • सेंधा नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
Instructions
  1. समा के चावल को साफ कीजिये, अच्छी तरह धोइये और 30 मिनिट के लिये पानी में भिगो दीजिये. आधे घंटे बाद अतिरिक्त पानी हटाकर चावल ले लीजिए.
  2. आलू को छीलकर धो लीजिए और छोटे छोटे टुकड़ों में काट लीजिए.
  3. किसी बर्तन में 2 छोटे चम्मच घी डालकर गरम कीजिये. गरम घी में ½ छोटी चम्मच जीरा डाल कर भून लीजिए.
  4. जीरा भून जाने पर इसमें बारीक कटी हरी मिर्च और दरदरी कुटी काली मिर्च डालकर 1-2 मिनिट हल्का सा भून लीजिए. फिर इसमें चावल डाल दीजिए और चावल को लगातार चलाते हुए 1-2 मिनिट भून लीजिए. इसके बाद इन चावल में 2 कप पानी और सेंधा नमक डाल कर अच्छे से मिक्स कर दीजिए. खिचड़ी़ को ढककर 3-4 मिनिट तक मध्यम आंच पर पकने दीजिए. बीच-बीच में खिचड़ी को चला दीजिए.
  5. एक दूसरे पैन को गैस पर रखकर गरम कीजिए. पैन में 3-4 छोटे चम्मच घी डालकर गरम होने दीजिए. घी के गरम होने पर इसमें आलू डाल दीजिए. आलू को थोड़ा सा नरम और क्रिस्पी होने तक तलकर निकाल लीजिए. घी में मूंगफली के दाने डाल कर इन्हें भी भून लीजिए. मूंगफली के दाने भून कर तैयार है. चावलों को चैक कीजिए खिचड़ी अगर अधिक गाढ़ी लग रही हो तो, खिचड़ी़ में पानी डालने के लिए पौना कप पानी को मूंगफली के दानों के साथ डालकर उबाल लीजिए और फिर उबले हुए पानी और मूंगफली को खिचड़ी में डाल दीजिए. आप इसमें पानी की मात्रा अपने अनुसार कम या ज्यादा जैसी रखना चाहें रख सकते हैं. साथ ही फ्राय किए हुए आलू भी डालकर मिक्स कर दीजिए. खिचड़ी में थोड़ा सा हरा धनिया डालकर मिला दीजिए. सभी चीजें अच्छे से मिक्स हो जाने के बाद गैस बंद कर दीजिए
  6. खिचड़ी़ को प्याले में निकाल लीजिए. खिचड़ी के ऊपर थोड़ा सा घी डाल दीजिए. घी डालने से खिचड़ी का स्वाद और भी बढ़ जाता है और थोड़ा सा हरा धनिया डालकर खिचड़ी को सजाएं. गरमागरम समा चावल की खिचड़ी बनकर तैयार है. खिचड़ी को आप दही, व्रत की चटनी, रायता या जिसके साथ चाहें परोस सकते हैं.

 

Sabudana Sama ka Cheela Navratri Special | नवरात्रि के लिये फलाहारी चीला । Sago and Samak Cheela

फलाहारी चीला यानिकि व्रत के लिए चीला. समा के चावल और साबूदाना से बनने वाला यह चीला काफी क्रिस्पी और टेस्टी होता है. किसी भी व्रत में इस चीले का सेवन आप आराम से कर सकते हैं. स्वाद में बेहतरीन, इस हल्के फुल्के चीले को व्रत की मूंगफली के दानों की चटनी और हरे धनिये की चटनी के साथ सर्व कीजिए, लोग इसे मज़े से खाना पसंद करेंगे. फलाहारी चीला बनाने में बहुत ही आसान है, आइए देखते हैं, इसकी विधि.

Sabudana Sama ka Cheela Navratri Special | नवरात्रि के लिये फलाहारी चीला । Sago and Samak Cheela

निर्देश

तैयारी के लिए

साबूदाना और समा के चावल को धो लीजिए और दोनों को अलग-अलग प्याली में पानी में 3 घंटे के लिए भिगो दीजिए.

falahari cheela

बनाने की विधि

भीगे हुए साबूदाना और थोड़ा सा पानी मिक्सर में डालिए और साबूदाना बारीक पीस लीजिए. इसके बाद, पेस्ट को एक प्याले में निकाल लीजिए.

falahari cheelaसमा के चावल में से अतिरिक्त पानी हटाइए और इन्हें मिक्सर जार में डाल दीजिए. समां के चावलों को हल्का दरदरा पीस लीजिए. इन चावलों को भी पिसे हुए साबूदाना के साथ डाल दीजिए.

falahari cheelaचावल और साबूदाना के मिश्रण को मिला लीजिए. फिर इस मिश्रण में सेन्धा नमक, हरी मिर्च, हरा धनिया और जीरा डाल दीजिए. सारी सामग्रियों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए. इसमें थोड़ा सा पानी डालकर बैटर की कन्सिस्टेन्सी पतली एकदम चम्मच से गिराने वाली कनिस्टेन्सी जैसी कर लीजिए. इतना बैटर बनाने के लिए 1 कप पानी का इस्तेमाल हुआ है.

falahari cheelaगैस जलाकर तवा गरम कीजिए. इस पर थोड़ा सा तेल डालकर सभी तरफ फैला लीजिए. गैस धीमी कर दीजिए ताकि तवा थोड़ा सा ठंडा हो जाए. तवे पर से अतिरिक्त तेल टिशू पेपर से पौंछ लीजिए.

falahari cheelaतवा हल्का गरम है. तवे पर 2 से 3 टेबल स्पून बैटर डाल दीजिए और चीले को चमच़े से गोल-गोल घुमाते हुए फैला दीजिए. इसके बाद, आंच़ तेज कर लीजिए और चीले के चारों ओर तथा बीच में थोड़ा-थोड़ा तेल डाल दीजिए और सब तरफ चमचे से दबाकर एक जैसा कर दीजिए.

falahari cheelaचीले को नीचे की ओर से गोल्डन ब्राउन होने पर पलट दीजिए और दूसरी तरफ से हल्की चित्ती आने तक चमचे से दबा-दबाकर सेक लीजिए. चीले के सिक जाने के बाद इसे एक प्लेट में निकाल लीजिए.

falahari cheelaफिर से गैस कम कर दीजिए और तवे पर थोड़ा सा पानी डालिए और गीले कपड़े से पौंछकर इसे ठंडा कर लीजिए तथा दूसरा चीला भी बिल्कुल इसी तरह फैला दीजिए.

falahari cheelaचीले को एक अलग तरीके से बनाने के लिए, बैटर में ½ से ¾ कप पानी डालकर इसेे एकदम पतली कन्सिस्टेन्सी वाला बना लीजिए. फिर तवे पर पतला चीला फैला दीजिए. गैस तेज कर दीजिए और इसके चारों ओर और चीले के ऊपर तेल डालकर फैला दीजिए. इसे नीचे की ओर से गोल्ड्न ब्राउन होने तक सिकने दीजिए.

falahari cheela

जब भी दोबारा चीला बनाएं, तो घोल को चमचे से ज़रूर चला लीजिए ताकि चावल का आटा तले पर जाकर बैठ जाता है. चीला को दोबारा से फैलाइए. इतने बैटर में 6 से 7 चीले बनकर तैयार हो जाते हैं.

परोसिए

व्रत के लिए करारे-करारे चीले बनकर तैयार हैं. इन्हें गरमागरम हरे धनिये और मूंगफली के दाने की फलाहारी चटनी के साथ सर्व कीजिए, सभी मज़े से खाएंगे.

सुझाव

  • चीला आप अपनी पसंदानुसार थोड़ा सा बड़ा या छोटा बना सकते हैं.
  • पतले चीले फैलाने के लिए तवे को ठंडा करना आवश्यक है.

Sabudana Sama ka Cheela Navratri Special | नवरात्रि के लिये फलाहारी चीला - falahari-cheela
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • समा के चावल- 1 कप (200 ग्राम) (भीगे हुए)
  • साबूदाना- ¼ कप (50 ग्राम) (भीगे हुए)
  • तेल- 3 से 4 टेबल स्पून
  • हरा धनिया- 2 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • हरी मिर्च- 2 (बारीक कटी हुई)
  • सेन्धा नमक- ¾ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • जीरा- ½ छोटी चम्मच
Instructions
  1. साबूदाना और समा के चावल को धो लीजिए और दोनों को अलग-अलग प्याली में पानी में 3 घंटे के लिए भिगो दीजिए.
  2. भीगे हुए साबूदाना और थोड़ा सा पानी मिक्सर में डालिए और साबूदाना बारीक पीस लीजिए. इसके बाद, पेस्ट को एक प्याले में निकाल लीजिए.
  3. समा के चावल में से अतिरिक्त पानी हटाइए और इन्हें मिक्सर जार में डाल दीजिए. समां के चावलों को हल्का दरदरा पीस लीजिए. इन चावलों को भी पिसे हुए साबूदाना के साथ डाल दीजिए.
  4. चावल और साबूदाना के मिश्रण को मिला लीजिए. फिर इस मिश्रण में सेन्धा नमक, हरी मिर्च, हरा धनिया और जीरा डाल दीजिए. सारी सामग्रियों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए. इसमें थोड़ा सा पानी डालकर बैटर की कन्सिस्टेन्सी पतली एकदम चम्मच से गिराने वाली कनिस्टेन्सी जैसी कर लीजिए. इतना बैटर बनाने के लिए 1 कप पानी का इस्तेमाल हुआ है.
  5. गैस जलाकर तवा गरम कीजिए. इस पर थोड़ा सा तेल डालकर सभी तरफ फैला लीजिए. गैस धीमी कर दीजिए ताकि तवा थोड़ा सा ठंडा हो जाए. तवे पर से अतिरिक्त तेल टिशू पेपर से पौंछ लीजिए.
  6. तवा हल्का गरम है. तवे पर 2 से 3 टेबल स्पून बैटर डाल दीजिए और चीले को चमच़े से गोल-गोल घुमाते हुए फैला दीजिए. इसके बाद, आंच़ तेज कर लीजिए और चीले के चारों ओर तथा बीच में थोड़ा-थोड़ा तेल डाल दीजिए और सब तरफ चमचे से दबाकर एक जैसा कर दीजिए
  7. चीले को नीचे की ओर से गोल्डन ब्राउन होने पर पलट दीजिए और दूसरी तरफ से हल्की चित्ती आने तक चमचे से दबा-दबाकर सेक लीजिए. चीले के सिक जाने के बाद इसे एक प्लेट में निकाल लीजिए.
  8. फिर से गैस कम कर दीजिए और तवे पर थोड़ा सा पानी डालिए और गीले कपड़े से पौंछकर इसे ठंडा कर लीजिए तथा दूसरा चीला भी बिल्कुल इसी तरह फैला दीजिए.
  9. चीले को एक अलग तरीके से बनाने के लिए, बैटर में ½ से ¾ कप पानी डालकर इसेे एकदम पतली कन्सिस्टेन्सी वाला बना लीजिए. फिर तवे पर पतला चीला फैला दीजिए. गैस तेज कर दीजिए और इसके चारों ओर और चीले के ऊपर तेल डालकर फैला दीजिए. इसे नीचे की ओर से गोल्ड्न ब्राउन होने तक सिकने दीजिए.

 

कुट्टू पनीर की कचौरी – Singhare Paneer ki Kachori – Aloo Paneer Kachori for navratri Vrat

नवरात्रि के दिनों में कई लोग पूरे नौ दिन व्रत रहते हैं. इतने दिनों तक व्रत में एक जैसा फलाहार करना काफी ऊबाऊ लगता है. इसीलिए आज हम खास व्रत में आसानी से बन जाने वाली कुट्टू/ सिंघाड़े पनीर की कचौरियों की रैसिपी लाए हैं. व्रत में उपयोग होने वाली सामग्री जैसे कि आलू, पनीर, सूखे मेवों के भरांवन से तैयार ये कचौरियां बेहद कुरकुरी और ज़ायकेदार होती हैं. दही और धनिये-पुदीने के चटनी के साथ कुट्टू पनीर की कचौरियां और भी स्वादिष्ट लगती हैं. आप भी इस बार व्रत में करारी-करारी कुट्टू पनीर की कचौरी बनाकर सभी को एक अलग ज़ायके का अनुभव कराइए.

Singhare Paneer ki Kachori – Aloo Paneer Kachori for navratri Vrat

निर्देश

तैयारी के लिए

उबले आलू को छीलकर एक प्याले में कद्दूकस कर लीजिए.

singhara paneer kachoriपनीर को भी अलग प्याले में कद्दूकस कर लीजिए.

singhara paneer kachori

बनाने की विधि

आलू में आधी मात्रा में कुटी काली मिर्च और सेन्धा नमक, थोड़ा सा हरा धनिया और सिंघाड़े का आटा डालिए. सभी सामग्री को अच्छे से मिक्स कर लीजिए. हाथों पर थोड़ा सा तेल लगाइए और तैयार मिश्रण को मसलकर गूंथ लीजिए.

singhara paneer kachoriपैन में 2 छोटी चम्मच तेल डालकर गरम कीजिए. गरम तेल में हरी मिर्च और काजू डालकर थोड़ी देर भून लीजिए.

singhara paneer kachoriइसके बाद, पैन में पनीर और साथ में सेन्धा नमक, काली मिर्च, किशमिश और हरा धनिया डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिल जाने तक चलाते हुए तलिए जिससे स्टफिंग तैयार हो जाए. गैस को बंद करके स्टफिंग को एक प्याले में निकाल लीजिए.

singhara paneer kachoriहाथों को जरा से तेल से चिकना कर लीजिए और गुंथे आटे को 8 हिस्सों में बांट लीजिए. आप स्टफिंग को भी 8 बराबर भागों में विभाजित कर सकते हैं. हाथों पर फिर से थोड़ा सा तेल लगाकर एक लोई को उठाइए और इसे चपटा करके कटोरी का आकार दे दीजिए.

singhara paneer kachoriलोई में 1 से 1.5 छोटी चम्मच स्टफिंग रखिए और इसे ठीक से बंद कर दीजिए. कचौरी को हल्का सा चपटा कर लीजिए.

singhara paneer kachoriकड़ाई में कचौरियां तलने के लिए प्रचुर मात्रा में तेल डालकर गरम कर लीजिए. अच्छे गरम तेल में कचौरी डालकर मध्यम-धीमी आंच पर तब तक फ्राय कीजिए जब तक कि यह दोनों ओर से गोल्डन ब्राउन हो जाए.

singhara paneer kachoriकचौरी को सही से तल जाने के बाद प्लेट पर रखे नैपकिन पेपर पर निकाल लीजिए और इसी तरह बची हुई कचौरियां फ्राय कर लीजिए. सिंघाड़े पनीर की कचौरियां तैयार हैं.

singhara paneer kachori

 

परोसिए

  • कुरकुरी एवं जायकेदार सिंघाड़े पनीर की गरमागरम कचौरियों को व्रत में दही और हरे धनिये-पुदीने की चटनी के साथ परोसिए.

कुट्टू पनीर की कचौरी - Singhare Paneer ki Kachori singhara-paneer-kachori
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • आलू- 3 (250 ग्राम) (उबले हुए)
  • पनीर- 100 ग्राम
  • हरा धनिया- 2 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • कुट्टू या सिंघाड़े का आटा- ¼ कप
  • किशमिश- 1 टेबल स्पून
  • काजू- 8 से 10
  • हरी मिर्च- 1 (बारीक कटी हुई)
  • कुटी काली मिर्च- ½ छोटी चम्मच
  • सेन्धा नमक- 1 छोटी चम्मच
  • तेल- कचौरियां तलने के लिए
Instructions
  1. उबले आलू को छीलकर एक प्याले में कद्दूकस कर लीजिए.
  2. पनीर को भी अलग प्याले में कद्दूकस कर लीजिए.
  3. आलू में आधी मात्रा में कुटी काली मिर्च और सेन्धा नमक, थोड़ा सा हरा धनिया और सिंघाड़े का आटा डालिए. सभी सामग्री को अच्छे से मिक्स कर लीजिए. हाथों पर थोड़ा सा तेल लगाइए और तैयार मिश्रण को मसलकर गूंथ लीजिए.
  4. पैन में 2 छोटी चम्मच तेल डालकर गरम कीजिए. गरम तेल में हरी मिर्च और काजू डालकर थोड़ी देर भून लीजिए.
  5. इसके बाद, पैन में पनीर और साथ में सेन्धा नमक, काली मिर्च, किशमिश और हरा धनिया डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिल जाने तक चलाते हुए तलिए जिससे स्टफिंग तैयार हो जाए. गैस को बंद करके स्टफिंग को एक प्याले में निकाल लीजिए.
  6. हाथों को जरा से तेल से चिकना कर लीजिए और गुंथे आटे को 8 हिस्सों में बांट लीजिए. आप स्टफिंग को भी 8 बराबर भागों में विभाजित कर सकते हैं. हाथों पर फिर से थोड़ा सा तेल लगाकर एक लोई को उठाइए और इसे चपटा करके कटोरी का आकार दे दीजिए.
  7. लोई में 1 से 1.5 छोटी चम्मच स्टफिंग रखिए और इसे ठीक से बंद कर दीजिए. कचौरी को हल्का सा चपटा कर लीजिए.
  8. कड़ाई में कचौरियां तलने के लिए प्रचुर मात्रा में तेल डालकर गरम कर लीजिए. अच्छे गरम तेल में कचौरी डालकर मध्यम-धीमी आंच पर तब तक फ्राय कीजिए जब तक कि यह दोनों ओर से गोल्डन ब्राउन हो जाए.
  9. कचौरी को सही से तल जाने के बाद प्लेट पर रखे नैपकिन पेपर पर निकाल लीजिए और इसी तरह बची हुई कचौरियां फ्राय कर लीजिए. सिंघाड़े पनीर की कचौरियां तैयार हैं.

 

फलाहारी मावा मालपुआ – Mawa Malpua for Vrat – Falahari Mawa Malpua for Navratri

आज हम आपके लिए व्रत में खाए जाने वाले मावा से बने मालपुआ की रैसिपी लेकर आए हैं. मावा मालपुआ मावा में सिघाड़े का आटा मिक्स करके साथ में ड्राय फ्रूट को मिलाकर बनाए जाते हैं. खाने में बहुत ही स्वादिष्ट मालपुआ नवरात्रि या अन्य व्रत के दौरान आप बना सकते हैं. मावा मालपुआ को चाशनी में डालकर मीठा तैयार किया जाता है, जिससे ये नरम और बहुत ही लाजवाब बनते हैं. तो आप भी इस नवरात्रों के दौरान इन मालपुओं को बनाएं और इनकी मिठास में खो जाएं.

Mawa Malpua for Vrat – Falahari Mawa Malpua for Navratri

निर्देश

तैयारी के लिए

पिस्ते बारीक काटकर तैयार कर लीजिए और इलायची का पाउडर बना लीजिए.

falahari mawa malpua

बनाने की विधि

मिक्सर में मावा, सिंघाड़े का आटा और दूध डालिये, फैंटकर, चिकना बैटर तैयार कर लीजिए. बैटर को प्याले में निकाल लीजिए. बैटर को 15-20 मिनिट के लिए रख दीजिए ताकि ये फूल कर तैयार हो जाएगा.

falahari mawa malpuaबर्तन में चीनी और आधा कप पानी डाल कर गरम करने रखिये, चीनी को पानी में घुलने तक पका लीजिए.

falahari mawa malpuaउबाल आने के बाद चाशनी को चैक कीजिए चम्मच से चाशनी निकाल कर प्लेट पर 1-2 बूद गिराइये, उंगली और अंगूठे के बीच चिपका कर देखिये, 1 तार निकल रही हो तो चाशनी बनकर तैयार है. चाशनी में छोटी इलाइची डाल कर मिला दीजिये. गैस बंद कर दीजिए और चाशनी को थोडा़ ठंडा होने दीजिए.

falahari mawa malpuaकढाई में घी गरम होने के लिए रखें, घी के मीडियम गरम होने पर 1 चमचा घोल डालिये. एक बार में जितने मालपुआ आ जाएं डाल दीजिए.

falahari mawa malpuaमीडियम गैस फ्लेम पर मालपुआ तलिये, हलका ब्राउन होने पर पलटिये, दूसरी तरफ भी हल्का ब्राउन होने दीजिये. मालपुआ को दोनों ओर से गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए.

falahari mawa malpuaमालपुआ निकाल कर किसी प्लेट में रखिये और सारे मालपुआ इसी तरह तल कर तैयार कर लीजिये.

falahari mawa malpuaमालपुआ को चाशनी में डुबाइये, और निकाल कर प्लेट में निकाल लीजिए.

falahari mawa malpua

परोसिये

ऊपर से बारीक कटे पिस्ते डालकर सजाइये. फलाहारी स्वादिष्ट मावा मालपुआ बनकर तैयार हैं इन्हें परोसिये और खाइये.मालपुआ को आप फ्रिज में रख कर 4-5 दिनों तक खाया जा सकता है.

falahari mawa malpua

फलाहारी मावा मालपुआ - Mawa Malpua for Vrat falahari-mawa-malpua
Author: 
Recipe type: Sweets
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • मावा - ¾ कप (150 ग्राम)
  • सिंघाड़े का आटा - ½ कप (75 ग्राम)
  • चीनी - 1 कप (200 ग्राम)
  • दूध - 1 कप
  • पिस्ते - 10-12
  • इलायची - 6-7
  • घी - तलने के लिए
Instructions
  1. पिस्ते बारीक काटकर तैयार कर लीजिए और इलायची का पाउडर बना लीजिए.
  2. मिक्सर में मावा, सिंघाड़े का आटा और दूध डालिये, फैंटकर, चिकना बैटर तैयार कर लीजिए. बैटर को प्याले में निकाल लीजिए. बैटर को 15-20 मिनिट के लिए रख दीजिए ताकि ये फूल कर तैयार हो जाएगा.
  3. बर्तन में चीनी और आधा कप पानी डाल कर गरम करने रखिये, चीनी को पानी में घुलने तक पका लीजिए.
  4. उबाल आने के बाद चाशनी को चैक कीजिए चम्मच से चाशनी निकाल कर प्लेट पर 1-2 बूद गिराइये, उंगली और अंगूठे के बीच चिपका कर देखिये, 1 तार निकल रही हो तो चाशनी बनकर तैयार है. चाशनी में छोटी इलाइची डाल कर मिला दीजिये. गैस बंद कर दीजिए और चाशनी को थोडा़ ठंडा होने दीजिए.
  5. कढाई में घी गरम होने के लिए रखें, घी के मीडियम गरम होने पर 1 चमचा घोल डालिये. एक बार में जितने मालपुआ आ जाएं डाल दीजिए.
  6. मीडियम गैस फ्लेम पर मालपुआ तलिये, हलका ब्राउन होने पर पलटिये, दूसरी तरफ भी हल्का ब्राउन होने दीजिये. मालपुआ को दोनों ओर से गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए.
  7. मालपुआ निकाल कर किसी प्लेट में रखिये और सारे मालपुआ इसी तरह तल कर तैयार कर लीजिये.
  8. मालपुआ को चाशनी में डुबाइये, और निकाल कर प्लेट में निकाल लीजिए.
  9. ऊपर से बारीक कटे पिस्ते डालकर सजाइये. फलाहारी स्वादिष्ट मावा मालपुआ बनकर तैयार हैं इन्हें परोसिये और खाइये.मालपुआ को आप फ्रिज में रख कर 4-5 दिनों तक खाया जा सकता है.

 

नारियल मिल्क पाउडर की बर्फी- Milk Powder Coconut Barfi Recipe – Nariyal Milk Powder Burfi Recipe

नारियल की बर्फी अनेकों प्रकार से बनाई जाती है. आज हम इसे मिल्क पाउडर से बनाएंगे. मिल्क पाउडर से बनी नारियल बर्फी बनाने में बहुत ही आसान और बहुत ही स्वादिष्ट होती है. इसे आप किसी भी त्यौहार पर या व्रत के दौरान फलाहार के तौर पर भी बना कर घर की मिठाई का आनन्द ले सकते हैं. नारियल मिल्क पाउडर की बर्फी को झटपट बनाकर तैयार किया जा स‌कता है. नारियल मिल्क पाउडर की बर्फी को आप घर पर बनाइये और फ्रिज में रख कर 1 हफ्ते तक खाना खाने के बाद या जब आपका मीठा खाने का मन करें, तब इसे निकाल कर खाईये.

Milk Powder Coconut Barfi Recipe – Nariyal Milk Powder Burfi Recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

प्रत्येक पिस्ता को पतले-पतले टुकड़ों में काट कर प्याले में रख लीजिए. इलायची को छीलकर उसके दाने का बारीक पाउडर कूट कर तैयार कर लीजिए.

milk powder coconut burfi recipeप्लेट में चारों तरफ घी लगाकर चिकना कर लीजिए.

milk powder coconut burfi recipe

बनाने की विधि

पैन में मक्खन डाल कर गैस पर पिघला लीजिए. मक्खन पिघलने पर दूध डालिये और अच्छी तरह से मिक्स कर लीजिए गैस एकदम धीमी रहने दीजिए. दूध और मक्खन के अच्छे से मिक्स हो जाने पर, मिल्क पाउडर डालिये और लगातार चलाते हुए मिक्स कीजिये.

milk powder coconut burfi recipeमिश्रण को गुंठलिया स‌माप्त होने तक फेंट लीजिए. मिल्क पाउडर और दूध का मिश्रण नरम हो गया है. अब इसमें चीनी पाउडर डालकर इसे मसलते हुये पकाएं. ताकि इस‌की कंसिसटेन्सी गाढ़ी हो जाए.

milk powder coconut burfi recipeमिश्रण के गाढ़ा होने पर इसमें नारियल का चूरा और इलायची पाउडर डाल दीजिए और अच्छे स‌े मिक्स‌ कर लीजिए. गैस को धीमा कर दीजिए. मिश्रण को लगातार चलाते हुए पका लीजिए.

milk powder coconut burfi recipeमिश्रण के गाढा़ और चिकना हो गया हैं. बरफी के लिए मिश्रण बन कर तैयार हैं. गैस‌ बंद कर दीजिए.milk powder coconut burfi recipeबरफी बनाने के लिए मिश्रण को घी लगी प्लेट में निकाल लीजिए और चम्मच की मदद स‌े चारों ओर एक स‌ा फैला दीजिए.

milk powder coconut burfi recipeऊपर कटे हुये पिस्ते डाल कर चम्मच से दबा दीजिए. बर्फी को 1 घंटे के लिए स‌ैट होने के लिए फ्रिज में रख दीजिए.

milk powder coconut burfi recipeप्लेट को फ्रिज स‌े बाहर निकाल लीजिए. बरफी स‌ैट होकर तैयार है. बरफी को चाकू की मदद स‌े चोकोर आकार के टुकड़ों में काट लीजिए.

milk powder coconut burfi recipeबरफी की प्लेट को गैस पर रख कर हल्का स‌ा गरम कर लीजिए, ताकि वह आस‌ानी स‌े बरफी बन जाए.milk powder coconut burfi recipe

बरफी के टुकड़ों को प्लेट में निकाल कर रख लीजिए. नारियल की बरफी बनकर तैयार है.

milk powder coconut burfi recipe

परोसिये

नारियल की बरफी को खाने के बाद या जब आपका मीठा खाने का मन करे, तब निकालकर खाइये. नारियल की बरफी को आप व्रत में भी खा स‌कते हैं. बरफी को आप फ्रिज में रख कर 1 हफ्ते तक खा स‌कते हैं.

स‌ुझाव

  • जब आप दूध में मिल्क पाउडर मिला रहे हैं, तब गैस‌ को बंद कर दीजिए और मिल्क पाउडर डालकर अच्छे स‌े मिक्स कर लीजिए. उसके बाद गैस को ऑन कर लीजिए.

नारियल मिल्क पाउडर की बर्फी - Milk Powder Coconut Barfi Recipe milk-powder-coconut-burfi
Author: 
Recipe type: Dessert
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • मिल्क पाउडर - 1 कप (135 ग्राम)
  • नारियल का चूरा - 1 कप (80 ग्राम)
  • चीनी पाउडर - ¾ कप (125 ग्राम)
  • मिल्क - ¾ कप
  • छोटी इलायची - 6-7
  • पिस्ते-10-12
  • मक्खन - ¼ कप (55 ग्राम)
Instructions
  1. प्रत्येक पिस्ता को पतले-पतले टुकड़ों में काट कर प्याले में रख लीजिए. इलायची को छीलकर उसके दाने का बारीक पाउडर कूट कर तैयार कर लीजिए.
  2. प्लेट में चारों तरफ घी लगाकर चिकना कर लीजिए.
  3. पैन में मक्खन डाल कर गैस पर पिघला लीजिए. मक्खन पिघलने पर दूध डालिये और अच्छी तरह से मिक्स कर लीजिए गैस एकदम धीमी रहने दीजिए. दूध और मक्खन के अच्छे से मिक्स हो जाने पर, मिल्क पाउडर डालिये और लगातार चलाते हुए मिक्स कीजिये.
  4. मिश्रण को गुंठलिया स‌माप्त होने तक फेंट लीजिए. मिल्क पाउडर और दूध का मिश्रण नरम हो गया है. अब इसमें चीनी पाउडर डालकर इसे मसलते हुये पकाएं. ताकि इस‌की कंसिसटेन्सी गाढ़ी हो जाए.
  5. मिश्रण के गाढ़ा होने पर इसमें नारियल का चूरा और इलायची पाउडर डाल दीजिए और अच्छे स‌े मिक्स‌ कर लीजिए. गैस को धीमा कर दीजिए. मिश्रण को लगातार चलाते हुए पका लीजिए.
  6. मिश्रण के गाढा़ और चिकना हो गया हैं. बरफी के लिए मिश्रण बन कर तैयार हैं. गैस‌ बंद कर दीजिए.
  7. बरफी बनाने के लिए मिश्रण को घी लगी प्लेट में निकाल लीजिए और चम्मच की मदद स‌े चारों ओर एक स‌ा फैला दीजिए.
  8. ऊपर कटे हुये पिस्ते डाल कर चम्मच से दबा दीजिए. बर्फी को 1 घंटे के लिए स‌ैट होने के लिए फ्रिज में रख दीजिए.
  9. प्लेट को फ्रिज स‌े बाहर निकाल लीजिए. बरफी स‌ैट होकर तैयार है. बरफी को चाकू की मदद स‌े चोकोर आकार के टुकड़ों में काट लीजिए.
  10. बरफी की प्लेट को गैस पर रख कर हल्का स‌ा गरम कर लीजिए, ताकि वह आस‌ानी स‌े बरफी बन जाए.
  11. बरफी के टुकड़ों को प्लेट में निकाल कर रख लीजिए. नारियल की बरफी बनकर तैयार है.

 

समा की पूरी – Samo Rice Poori for Vrat – Sama ke chawal ki Poori recipe

स‌मा के चावल का उपयोग मुख्यत: व्रत में किया जाता है, स‌मा के चावल स‌े कई तरह के चीजें बनाई जाती हैं, जैसे स‌मा के चावल की खीर, नमकीन चावल या पूरी. इस स‌भी चीजों को हम व्रत में बना कर खा स‌कते है. आज हम व्रत में खाई जाने वाली स‌मा के चावल की पूरी बना रहे हैं.इसे बहुत आस‌ानी स‌े बनाया जा स‌कता है. लेकिन उसके लिए स‌मा के चावल को भिगो कर पीस लीजिए और नॉनस्टिक कढ़ाई या पैन पर आटे को भून लीजिए. फिर आटे को गूंथ कर पूरी को तेल में तल लीजिए. गरमा गरम पूरी को रायता, आलू या दही के स‌ाथ खाइए.

Samo Rice Poori for Vrat – Sama ke chawal ki Poori recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

समा के चावलों को धोकर 2 घंटे के लिए पानी में भिगो कर रख दीजिए. इसके बाद अतिरिक्त पानी निकाल कर इन्हें बिना पानी डाले मिक्सर में पीस लीजिये, अगर आवश्यकता हो तब 1 – 2 छोटी चम्मच पानी डाल स‌कते है.

samo rice poori recipe

बनाने की विधि

पैन या कड़ाही को गैस पर रखिए और इसमें चावल का पेस्ट डालकर 1 – 2 मिनट लगातार चलाते हुए, मीडियम आंच पर, हल्का सा भून लीजिए. पेस्ट को इतना गाढ़ा कर लीजिये कि वह गूंथे आटे के जैसा हो जाय.

samo rice poori recipeआटा अच्छे स‌े पकने पर इसे प्याले में निकाल लीजिए और हल्का सा ठंडा होने दीजिए. आटे में 1 छोटी चम्मच तेल और सेंधा नमक, काली मिर्च डालकर आटे को अच्छा चिकना होने तक मसल-मसल कर नरम आटा गूंथ लीजिए. पूरी बनाने के लिये आटा तैयार है.

samo rice poori recipeआटे से छोटी-छोटी लोइयां तोड कर तैयार कर लीजिए और इन्हें ढक कर रखें ताकि ये सूखे नहीं. पूरी बनाने के लिए कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये. हाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर एक लोई उठाइये और उसे गोल आकार दीजिए.

samo rice poori recipeलोई को पोलिथिन शीट पर रख दीजिए और थोड़ा स‌ा तेल पोलिथिन शीट पर फैला कर, हाथ से दबाव देते हुए पूरी का आकार दीजिए. पोलिथिन शीट स‌े लोई को फोल्ड कीजिए. अब लोई को हाथ से दबाव देते हुए पूरी का आकार दीजिए.

samo rice poori recipeपोलिथीन स‌े पूरी को निकालिए और गरम तेल में डाल कर तल लीजिए.

samo rice poori recipeपूरी को तेज आंच पर, कलछी से दबाकर फुलाइये. पूरी को पलट-पलट कर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए.

samo rice poori recipeतली हुई पूरी को प्लेट पर बिछे नैपकिन पेपर पर निकाल लीजिए. सारे आटे से इसी तरह पूरियां बना कर तैयार कर लीजिये. व्रत के लिए समा के चावल की पूरी बनकर तैयार हैं.

samo rice poori recipe

परोसिये

गरमा गरम समा के चावल की पूरी को व्रत वाले आलू की सब्जी, व्रत वाली नारियल की चटनी, रायता या दही किसी के भी साथ सर्व कीजिए और खाइये.

सुझाव

  • चावल को बारीक पीस कर तैयार कीजिये.
  • चावल के पेस्ट को भूनने के लिये नॉनस्टिक कड़ाही या पैन का उपयोग कीजिये, इससे आटा कड़ाही के तले पर लगेगा नहीं. अगर आटा पूरी तरह स‌े स‌ूख जाता है, तो आटे में 1-2 छोटी चम्मच पानी डाल कर गूंथ लीजिए. आटा बिना चिपके बड़ी आसानी गुंथ कर तैयार हो जाता है.
  • पूरी को पॉलिथिन पर बेलते समय ध्यान रखें कि पूरी थोड़ी सी मोटी रहे. और पूरी को तलने के लिए तेल अधिक गरम होना चाहिए.
  • 10-12 पूरी बनाने के लिये
  • समय – 35 मिनिट

समा की पूरी - Sama ke chawal ki Poori recipe samo-rice-poori
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • समा के चावल - ¾ कप (125 ग्राम)
  • सेंधा नमक - ⅓ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • काली मिर्च - ¼ छोटी चम्मच (ताजा कुटी हुई)
  • तेल - 1 छोटी चम्मच ( आटा गूंथने के लिए)
  • तेल - पूरी तलने के लिए
Instructions
  1. समा के चावलों को धोकर 2 घंटे के लिए पानी में भिगो कर रख दीजिए. इसके बाद अतिरिक्त पानी निकाल कर इन्हें बिना पानी डाले मिक्सर में पीस लीजिये, अगर आवश्यकता हो तब 1 - 2 छोटी चम्मच पानी डाल स‌कते है.
  2. पैन या कड़ाही को गैस पर रखिए और इसमें चावल का पेस्ट डालकर 1 - 2 मिनट लगातार चलाते हुए, मीडियम आंच पर, हल्का सा भून लीजिए. पेस्ट को इतना गाढ़ा कर लीजिये कि वह गूंथे आटे के जैसा हो जाय.
  3. आटा अच्छे स‌े पकने पर इसे प्याले में निकाल लीजिए और हल्का सा ठंडा होने दीजिए. आटे में 1 छोटी चम्मच तेल और सेंधा नमक, काली मिर्च डालकर आटे को अच्छा चिकना होने तक मसल-मसल कर नरम आटा गूंथ लीजिए. पूरी बनाने के लिये आटा तैयार है.
  4. आटे से छोटी-छोटी लोइयां तोड कर तैयार कर लीजिए और इन्हें ढक कर रखें ताकि ये सूखे नहीं. पूरी बनाने के लिए कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये. हाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर एक लोई उठाइये और उसे गोल आकार दीजिए.
  5. लोई को पोलिथिन शीट पर रख दीजिए और थोड़ा स‌ा तेल पोलिथिन शीट पर फैला कर, हाथ से दबाव देते हुए पूरी का आकार दीजिए. पोलिथिन शीट स‌े लोई को फोल्ड कीजिए. अब लोई को हाथ से दबाव देते हुए पूरी का आकार दीजिए.
  6. पोलिथीन स‌े पूरी को निकालिए और गरम तेल में डाल कर तल लीजिए.
  7. पूरी को तेज आंच पर, कलछी से दबाकर फुलाइये. पूरी को पलट-पलट कर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए.
  8. तली हुई पूरी को प्लेट पर बिछे नैपकिन पेपर पर निकाल लीजिए. सारे आटे से इसी तरह पूरियां बना कर तैयार कर लीजिये. व्रत के लिए समा के चावल की पूरी बनकर तैयार हैं.
  9. गरमा गरम समा के चावल की पूरी को व्रत वाले आलू की सब्जी, व्रत वाली नारियल की चटनी, रायता या दही किसी के भी साथ सर्व कीजिए और खाइये.