Kanji vada | दीपावली के लिये पाचक कांजी बड़ा | Rajasthani Kanji Wada

कांजी वड़ा राजस्थान और उत्तर प्रदेश का पारंपरिक व्यंजन है. जब कभी त्यौहारों के मौसम में तला भुना और मीठा खाकर पेट खराब हो जाता है, तब कांजी वड़ा खासतौर पर बनाकर पिया जाता है, यह पेट के पाचन तंत्र को सही करता है, साथ ही शरीर को ठंडक भी देता है. खट्टी-खट्टी कांजी आपके पेट को सही करने के साथ-साथ आपके मुंह का ज़ायका भी बढ़िया कर देती है. इसका सेवन अमूमन गर्मियों के दिनों में किया जाता है.

Kanji vada | दीपावली के लिये पाचक कांजी बड़ा | Rajasthani Kanji Wada

निर्देश

तैयारी के लिए

कांच या फूड ग्रेड प्लास्टिक का कन्टेनर लीजिए. इसे पानी से अच्छे से धोकर पूरी तरह सुखा लीजिए.

kanji vadaमूंगदाल को पानी से अच्छे से धोइए और 2 से 3 घंटे पानी में भिगोकर रख दीजिए.

kanji vada

बनाने की विधि

जार में पिसी हुई राई, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, हींग, नमक और सरसों का तेल डाल दीजिए.

kanji vadaजार में थोड़ा सा पानी डाल दीजिए और मसालों को 2 से 3 मिनिट तक मिक्स कर लीजिए. फिर इसमें सारा पानी डाल दीजिए और अच्छे से मिक्स कर दीजिए.

kanji vadaजार का ढक्कन लगा दीजिए और इसे किसी गरम जगह पर रख दीजिए तथा रोजाना चमचे से चला दीजिए. 3 दिन बाद, कांजी अच्छी तरह से खट्टी होकर तैयार हो जाएगी.

kanji vadaवड़े बनाने के लिए भीगी हुई मूंग की दाल लीजिए. इसमें से अतिरिक्त पानी निकाल दीजिए. दाल को मिक्सर जार में डालिए और इसे हल्का दरदरा पीस लीजिए. दाल में पानी मत डालिए.

kanji vadaपिसी हुई दाल को एक प्याले में निकाल लीजिए. इसमें नमक और हींग डाल दीजिए.

kanji vadaदाल को फूलने तक पूरे 4 से 5 मिनिट अच्छी तरह से फैंट लीजिए.

kanji vadaपैन गरम कीजिए और इसमें तेल डाल दीजिए. तेल के गरम होने पर इसमें एक वड़ा डालकर चैक कर लीजिए. वड़ा सिक रहा है यानिकि तेल अच्छा गरम है.

kanji vadaजितने वड़े कढ़ाही में बन जाएं, उतने वड़े तेल में डाल दीजिए. वड़ों को कलछी से पलट-पलटकर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए.

kanji vadaवड़े तैयार हैं. कलछी को कढ़ाही के किनारे पर पकड़िए ताकि वड़ों में से तेल कढ़ाही में ही वापस चला जाए. फिर, वड़ों को निकालकर प्लेट में रख लीजिए.

kanji vadaइन वड़ों को कांजी में 30 मिनिट डालकर रख दीजिए ताकि ये कांजी सोख लें. कांजी में वड़े डालने के बाद 1 बार इन्हें चला लीजिए. एक बार के वड़े तलने में 5 से 6 मिनिट लग जाते हैं.

kanji vada

परोसिए

वड़े फूल गए हैं और तैयार हैं. स्वाद में मज़ेदार कांजी वड़ा सर्व होने के लिए तैयार है. एक गिलास में 3 से 4 वड़े डालिए और ऊपर से कांजी डाल दीजिए.

सुझाव

  • आप अतिरिक्त वड़ों को चाट या स्नैक्स के रूप में खा सकते हैं.
  • अगर आप आ रो का पानी इस्तेमाल नही कर रहे हैं, तो पानी को पहले उबालिए, ठंडा कीजिए और फिर ऊपर दी गई विधि के अनुसार वड़े बना लीजिए.
  • अगर आपने वड़े ना बनाएं हो, तो कांजी को बूंदी के साथ भी सर्व कर सकते हैं. कांजी में 1 से 2 छोटी चम्मच बूंदी डालिए और सर्व कीजिए.

Kanji vada | दीपावली के लिये पाचक कांजी बड़ा kanji-vada
Author: 
Recipe type: Miscellaneous
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • कांजी के लिए
  • आ रो पानी- 2 लीटर
  • राई- 4 टेबल स्पून (बारीक पिसी हुई)
  • हल्दी पाउडर- 1 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर- 1 छोटी चम्मच
  • हींग- ½ पिंच
  • सरसों का तेल- 2 छोटी चम्मच
  • नमक- 2 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • वड़ों के लिए
  • मूंग की दाल- 1 कप (180 ग्राम) (भीगी हुई)
  • नमक- ½ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • हींग- ½ पिंच
  • तेल- तलने के लिए
Instructions
  1. कांच या फूड ग्रेड प्लास्टिक का कन्टेनर लीजिए. इसे पानी से अच्छे से धोकर पूरी तरह सुखा लीजिए.
  2. मूंगदाल को पानी से अच्छे से धोइए और 2 से 3 घंटे पानी में भिगोकर रख दीजिए.
  3. जार में पिसी हुई राई, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, हींग, नमक और सरसों का तेल डाल दीजिए.
  4. जार में थोड़ा सा पानी डाल दीजिए और मसालों को 2 से 3 मिनिट तक मिक्स कर लीजिए. फिर इसमें सारा पानी डाल दीजिए और अच्छे से मिक्स कर दीजिए.
  5. जार का ढक्कन लगा दीजिए और इसे किसी गरम जगह पर रख दीजिए तथा रोजाना चमचे से चला दीजिए. 3 दिन बाद, कांजी अच्छी तरह से खट्टी होकर तैयार हो जाएगी.
  6. वड़े बनाने के लिए भीगी हुई मूंग की दाल लीजिए. इसमें से अतिरिक्त पानी निकाल दीजिए. दाल को मिक्सर जार में डालिए और इसे हल्का दरदरा पीस लीजिए. दाल में पानी मत डालिए.
  7. पिसी हुई दाल को एक प्याले में निकाल लीजिए. इसमें नमक और हींग डाल दीजिए.
  8. दाल को फूलने तक पूरे 4 से 5 मिनिट अच्छी तरह से फैंट लीजिए.
  9. पैन गरम कीजिए और इसमें तेल डाल दीजिए. तेल के गरम होने पर इसमें एक वड़ा डालकर चैक कर लीजिए. वड़ा सिक रहा है यानिकि तेल अच्छा गरम है.
  10. जितने वड़े कढ़ाही में बन जाएं, उतने वड़े तेल में डाल दीजिए. वड़ों को कलछी से पलट-पलटकर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए.
  11. वड़े तैयार हैं. कलछी को कढ़ाही के किनारे पर पकड़िए ताकि वड़ों में से तेल कढ़ाही में ही वापस चला जाए. फिर, वड़ों को निकालकर प्लेट में रख लीजिए.
  12. इन वड़ों को कांजी में 30 मिनिट डालकर रख दीजिए ताकि ये कांजी सोख लें. कांजी में वड़े डालने के बाद 1 बार इन्हें चला लीजिए. एक बार के वड़े तलने में 5 से 6 मिनिट लग जाते हैं.

 

 

मिस्सी रोटी – Missi Roti Recipe – Rajathani Misi Roti recipe

आटे और बेसन को मिलाकर बनाई गई मिस्सी रोटी का स्वाद सच में बहुत लाजवाब होता है. मिस्सी रोटी स्वादिष्ट होने के साथ साथ पौष्टिक भी होती है. अजवायन, हल्दी, घी और अन्य मसालों को बनाकर बनाई गई ये रोटी आप चाय, काफी, दही, चटनी या अचार जिस किसी के साथ गरम-गरम खाएं इसका स्वाद आपको बहुत भाने वाला है. मिस्सी रोटी लन्च या डिनर में कभी भी बनाइये आपको बहुत पसन्द आयेगी, आप इसे बच्चों के टिफिन में डाल कर खाने को दे सकते हैं.

Missi Roti Recipe – Rajathani Misi Roti recipe

निर्देश

बनाने की विधि

आटे और बेसन को किसी प्याले में निकाल लीजिये. नमक, अजवायन, हींग, हल्दी, कसूरी मेथी और तेल डालकर मिला लीजिये.

missi rotiपानी की सहायता से नरम आटा गूंथिये. आटे को सैट होने के लिये ढककर 20 मिनिट के लिये रख दीजिये.

missi rotiअब हाथ पर थोड़ा तेल लगाकर आटे को मल कर चिकना कीजिये. मिस्सी रोटी बनाने के लिये आटा तैयार है. गुथे आटे से थोड़ा सा, एक मध्यम आकार के अमरूद के बराबर आटा निकाल कर गोल लोई बनाइये, लोई को सूखे आटे (परोथन) में लपेटिये. अब लोई को 5-6 इंच के व्यास में पतला बेलिये.

missi rotiतवा गरम होने के लिये गैस पर रखिये. बेली गई रोटी को गरम तवे पर डालिये और नीचे की सतह पर हल्का सा सिकने पर पलट दीजिये.

missi rotiदूसरी सतह पर सिकने के बाद तवे से उतारकर सीधे आग पर रखते हुये रोटी को घुमा घुमा कर दोनों ओर ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये.

missi rotiसेकी हुई रोटी के आगे की सतह पर घी लगाकर, रोटी रखने के डिब्बे (कैसरोल) में नेपकिन पेपर या फोइल बिछा कर रखते जाइये. सारी रोटी इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये.

missi roti

परोसिये

मिस्सी रोटी तैयार हैं, गरमा गरम मिस्सी रोटी अपनी मन पसन्द सब्जी, दही, चटनी और अचार के साथ परोसिये और खाइये.

सुझाव

  • बेसन के बदले चने का आटा भी लिया जा सकता है.

मिस्सी रोटी - Missi Roti Recipe missi-roti
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • गेहूं का आटा - 1 कप
  • बेसन - 1 कप
  • नमक - स्वादानुसार - आधा छोटी चम्मच से कम
  • अजवायन - ¼ छोटी चम्मच
  • हींग - 1-2 पिंच
  • हल्दी - ¼ छोटी चम्मच
  • कसूरी मेथी - 1 टेबल स्पून
  • तेल - 2 छोटी चम्मच
  • घी - परांठे पर लगाने के लिए
Instructions
  1. आटे और बेसन को किसी प्याले में निकाल लीजिये. नमक, अजवायन, हींग, हल्दी, कसूरी मेथी और तेल डालकर मिला लीजिये.
  2. पानी की सहायता से नरम आटा गूंथिये. आटे को सैट होने के लिये ढककर 20 मिनिट के लिये रख दीजिये.
  3. अब हाथ पर थोड़ा तेल लगाकर आटे को मल कर चिकना कीजिये. मिस्सी रोटी बनाने के लिये आटा तैयार है. गुथे आटे से थोड़ा सा, एक मध्यम आकार के अमरूद के बराबर आटा निकाल कर गोल लोई बनाइये, लोई को सूखे आटे (परोथन) में लपेटिये. अब लोई को 5-6 इंच के व्यास में पतला बेलिये.
  4. तवा गरम होने के लिये गैस पर रखिये. बेली गई रोटी को गरम तवे पर डालिये और नीचे की सतह पर हल्का सा सिकने पर पलट दीजिये.
  5. दूसरी सतह पर सिकने के बाद तवे से उतारकर सीधे आग पर रखते हुये रोटी को घुमा घुमा कर दोनों ओर ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये.
  6. सेकी हुई रोटी के आगे की सतह पर घी लगाकर, रोटी रखने के डिब्बे (कैसरोल) में नेपकिन पेपर या फोइल बिछा कर रखते जाइये. सारी रोटी इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये.

 

हल्दी की सब्जी – Fresh Turmeric Curry – Haldi Ki Sabzi recipe – Raw Turmeric Curry

कच्ची हल्दी की सब्जी जो मुख्यत: राजस्थान की ओर अधिक बनाई जाती है और वहां पर शादी या अन्य मांगलिक अवसरों पर इस सब्जी को प्रमुख रूप से भोजन में शामिल किया जाता है. सर्दियों के मौसम में कच्ची हल्दी बहुतायत में प्राप्त होती है, ऎसे में इस दौरान इस सब्जी को घरों में बड़े चाव के साथ बनाया जाता है. हल्दी खाने में बहुत गरम होती है, जुकाम या सर्दी से होने वाले दर्द में बहुत लाभदायक भी कही गई है.कच्ची हल्दी को देशी घी में तल कर सब्जी बनाते हैं ताकि इसका कड़वा स्वाद खाने में न आये,तो आप भी ये सब्जी बनाएं और इसके स्वाद से रूबरू हों.

Fresh Turmeric Curry – Haldi Ki Sabzi recipe – Raw Turmeric Curry

निर्देश

तैयारी के लिए

हल्दी की गांठों को अच्छी तरह धो लीजिये, पानी सुखाइये या कपड़े से पोंछ लीजिये, अब इन्हें छीलिये और फिर से एक बार धो लीजिये, पानी हटा कर हल्दी को कद्दूकस कर लीजिये.

fresh turmeric curryटमाटर धोइये, बड़े टुकड़ों में काटिये. हरी मिर्च के डंठल तोड़िये और धो लीजिये. अदरक छील कर धो लीजिये और बड़े टुकड़ों में काट लीजिये. सारी चीजें मिक्सर में बारीक पीस लीजिये.इलायची छील कर इसके बीजों, काली मिर्च, लौंग, दालचीनी को दरदरा कूट लीजिये.

fresh turmeric curry

बनाने की विधि

कढ़ाई में घी डाल कर गरम कीजिये, गरम घी में हल्दी डाल कर, हल्दी हल्की ब्राउन होने तक (आग मीडियम रखें) चमचे से लगातार चलाते हुये भून कर, किसी बर्तन में निकाल कर रख लीजिये.

fresh turmeric curryमटर के दाने भी तल कर निकाल कर किसी बर्तन में रख लीजिये.

fresh turmeric curryबचे घी में जीरा डालिये, हींग डाल दीजिये, जीरा तड़कने के बाद, दरदरा कुटा गरम मसाला, धनिया पाउडर और सौंफ पाउडर डालकर भूनिये. अब टमाटर का पेस्ट डालिये और मसाले के ऊपर घी तैरने तक भून लीजिये.

fresh turmeric curryभुने मसाले में दही डालिये और चलाते हुये दही में उबाल आने तक पकाइये.

fresh turmeric curryउबलते दही में कटे टमाटर, मटर, तली हुई हल्दी डालिये और नमक डालकर चमचे से चलाते हुये उबाल आने तक पकाइये और सब्जी को 2-3 मिनिट उबलने दीजिये. आग बन्द कर दीजिये.

fresh turmeric curryसब्जी में हरा धनियां डाल का मिला दीजिये और सब्जी को ढककर 10-15 मिनिट तक रखी रहने दीजिये ताकि हल्दी में सारे मासाले जज्ब हो जायें.

fresh turmeric curry

परोसिये

स्वादिष्ट हल्दी की सब्जी तैयार है, हल्दी की स्वादिष्ट सब्जी चपाती या परांठे के साथ परोसिये और खाइये.

सुझाव

  • हल्दी की सब्जी में आप गोभी को भून कर भी डाल सकते हैं

हल्दी की सब्जी - Fresh Turmeric Curry fresh-turmeric-curry
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • कच्ची हल्दी - 100 ग्राम
  • दही - 1 कप
  • हरी मटर के दाने - ½ कप
  • हरा धनियां - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • घी - ⅓ कप
  • नमक - ¾ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • सौंफ पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • धनिया पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • बड़ी इलायची - 1
  • दालचीनी- 1 टुकड़े
  • लौंग - 3-4
  • काली मिर्च - 6-7
  • जीरा - ½ छोटी चम्मच
  • हींग - 1 पिंच
  • टमाटर - 1 (बारीक कटा हुआ)
  • टमाटर - 1
  • हरी मिर्च - 1
  • अदरक - ½ इंच लम्बा टुकड़ा
Instructions
  1. हल्दी की गांठों को अच्छी तरह धो लीजिये, पानी सुखाइये या कपड़े से पोंछ लीजिये, अब इन्हें छीलिये और फिर से एक बार धो लीजिये, पानी हटा कर हल्दी को कद्दूकस कर लीजिये.
  2. टमाटर धोइये, बड़े टुकड़ों में काटिये. हरी मिर्च के डंठल तोड़िये और धो लीजिये. अदरक छील कर धो लीजिये और बड़े टुकड़ों में काट लीजिये. सारी चीजें मिक्सर में बारीक पीस लीजिये.
  3. इलायची छील कर इसके बीजों, काली मिर्च, लौंग, दालचीनी को दरदरा कूट लीजिये
  4. कढ़ाई में घी डाल कर गरम कीजिये, गरम घी में हल्दी डाल कर, हल्दी हल्की ब्राउन होने तक (आग मीडियम रखें) चमचे से लगातार चलाते हुये भून कर, किसी बर्तन में निकाल कर रख लीजिये.
  5. मटर के दाने भी तल कर निकाल कर किसी बर्तन में रख लीजिये.
  6. बचे घी में जीरा डालिये, हींग डाल दीजिये, जीरा तड़कने के बाद, दरदरा कुटा गरम मसाला, धनिया पाउडर और सौंफ पाउडर डालकर भूनिये. अब टमाटर का पेस्ट डालिये और मसाले के ऊपर घी तैरने तक भून लीजिये.
  7. भुने मसाले में दही डालिये और चलाते हुये दही में उबाल आने तक पकाइये.
  8. उबलते दही में कटे टमाटर, मटर, तली हुई हल्दी डालिये और नमक डालकर चमचे से चलाते हुये उबाल आने तक पकाइये और सब्जी को 2-3 मिनिट उबलने दीजिये. आग बन्द कर दीजिये.
  9. सब्जी में हरा धनियां डाल का मिला दीजिये और सब्जी को ढककर 10-15 मिनिट तक रखी रहने दीजिये ताकि हल्दी में सारे मासाले जज्ब हो जायें.
  10. स्वादिष्ट हल्दी की सब्जी तैयार है, हल्दी की स्वादिष्ट सब्जी चपाती या परांठे के साथ परोसिये और खाइये.

 

मिर्ची के टिपोरे – Hari Mirchi ke Tipore Recipe – Rajasthani Green Chilli Tipore – Mirch ke Tapore

अगर आप तीखा खाना पसंद करते हैं तो आपको हरी मिर्च के टिपोरे जरूर पसंद आएंगे. हरी मिर्च को छोंक कर बने मसालेदार मिर्च के टिपोरे राजस्थानी थाली में अवश्य परोसे जाते हैं, बिना इसके राजस्थानी थाली अधूरी मानी जाती है.

Hari Mirchi ke Tipore Recipe – Rajasthani Green Chilli Tipore – Mirch ke Tapore

विधि

तैयारी के लिए

मिर्चों को धोकर डंठल तोड़ लीजिये.

mirchi tiporeमिर्च को आधा-आधा इंच के टुकडों में काट कर तैयार कर लीजिए.

mirchi tipore

बनाने की विधि

पैन में तेल डालकर गरम कीजिये. गर्म तेल में जीरा डाल कर भूनें.

mirchi tiporeजीरा ब्राउन होने के बाद, हींग, हल्दी पाउडर और काट कर रखी हुई हरी मिर्च भी डाल दीजिए.

mirchi tiporeअब इसमें सौंफ पाउडर, अमचूर पाउडर, धनिया पाउडर और नमक डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए.

mirchi tipore1-2 मिनिट चलाते हुए पका लीजिए. सारे मसाले मिर्च में अच्छे से लग जाएंगे.

mirchi tiporeअब मिर्च को ढककर 2 मिनट के लिए धीमी आंच पर पका लीजिए, 2 मिनिट बाद चैक कीजिए.

mirchi tiporeआंच को थोडा़ सा तेज करें और ढक्कन हटा कर मिर्चों का पानी सूखा लीजिए. पानी सूख जाने के बाद मिर्च के टिपोरे तैयार है.

mirchi tiporeहरी मिर्च के टिपोरे किसी प्याले में निकाल लीजिए.

mirchi tipore

परोसिये

हरी मिर्च के टिपोरे को आप परांठे, चपाती चावल या सब्जी के साथ परोसिये और खाइये. हरी मिर्ची के टिपोरे को आप फ्रिज में रख कर एक सप्ताह तक खाने के लिए उपयोग में ला सकते हैं.

mirchi tipore

मिर्ची के टिपोरे - Hari Mirchi ke Tipore Recipe mirchi-tipore
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • हरी मिर्च - 200 ग्राम (मोटी वैरायटी की)
  • सरसों तेल - 4 टेबल स्पून
  • हल्दी पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • धनिया पाउडर - 2 छोटी चम्मच
  • सौंफ पाउडर - 2 छोटी चम्मच
  • हींग - 1-2 पिंच
  • जीरा - ½ छोटी चम्मच
  • अमचूर - 1 छोटी चम्मच से कम
  • नमक - 1 छोटी चम्मच से कम या स्वादानुसार
Instructions
  1. मिर्चों को धोकर डंठल तोड़ लीजिये.
  2. मिर्च को आधा-आधा इंच के टुकडों में काट कर तैयार कर लीजिए.
  3. पैन में तेल डालकर गरम कीजिये. गर्म तेल में जीरा डाल कर भूनें.
  4. जीरा ब्राउन होने के बाद, हींग, हल्दी पाउडर और काट कर रखी हुई हरी मिर्च भी डाल दीजिए.
  5. अब इसमें सौंफ पाउडर, अमचूर पाउडर, धनिया पाउडर और नमक डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए.
  6. -2 मिनिट चलाते हुए पका लीजिए. सारे मसाले मिर्च में अच्छे से लग जाएंगे.
  7. अब मिर्च को ढककर 2 मिनट के लिए धीमी आंच पर पका लीजिए, 2 मिनिट बाद चैक कीजिए.
  8. आंच को थोडा़ सा तेज करें और ढक्कन हटा कर मिर्चों का पानी सूखा लीजिए. पानी सूख जाने के बाद मिर्च के टिपोरे तैयार है.
  9. हरी मिर्च के टिपोरे किसी प्याले में निकाल लीजिए.
  10. हरी मिर्च के टिपोरे को आप परांठे, चपाती चावल या सब्जी के साथ परोसिये और खाइये. हरी मिर्ची के टिपोरे को आप फ्रिज में रख कर एक सप्ताह तक खाने के लिए उपयोग में ला सकते हैं.

 

डुबकी कढी – Rajsthani Dubki Kadhi or Pani Pakodi Recipe

डुबकी कढी जिसका एक अन्य नाम पानी पकौड़ी सब्जी भी है, खाने में बहुत ही स्वादिष्ट लगती है. राजस्थान और आगरा मथुरा के प्रांतों में मुख्य रूप से बनाई जाने वाली ये रैसिपी मूंग दाल, उड़द दाल या चना दाल से बनाई जाती है. इन पकौडियों को  तेल की जगह पानी में उबाला जाता है, इस कारण इन्हें पानी पकौडी़ सब्जी भी कहा जाता है.  दाल और बेसन से बनी ये सब्जी खाने में स्वादिष्ट तो होती ही है साथ ही सेहत के लिए भी फायदेमंद होती है.

Rajsthani Dubki Kadhi or Pani Pakodi Recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

मूंग की दाल को साफ कीजिये, धोइये और पानी में भिगो दीजिये. दाल फूलने के बाद दाल से अतिरिक्त पानी निकालिये, दाल को हल्का दरदरा पीस कर किसी बड़े बर्तन में निकाल लीजिये.

rajasthani dubki kadhi

बनाने की विधि

दाल को एकदम महीन न करें बल्कि हल्का दरदरा रखें तभी डुबकी का असली स्वाद आयेगा. पीसी दाल में थोडा़ नमक मिला कर 3-4 मिनिट अच्छी तरह फैंट लीजिये, ये दाल पकोड़ी बनाने के लिये तैयार है.

rajasthani dubki kadhiबर्तन में पानी डालकर गैस पर गरम होने के लिए रख दीजिए. बरतन को ढक कर रखें ताकि पानी में उबाल जल्दी से आ जाए.

rajasthani dubki kadhiपानी में उबाल आने के बाद, हाथ से दाल उठाकर छोटी छोटी पकोड़ी बनाकर उबलते पानी में डालिये. ध्यान रहे की पानी में उबाल बना रहे. पकोडी को तेज आंच पर 10 मिनिट उबलने दीजिए.

rajasthani dubki kadhiजब तक पकोडी बनकर तैयार होती हैं, बैटर तैयार कर लीजिए. मूंगदाल के बैटर में दही डाल कर मिक्स कीजिए.

rajasthani dubki kadhi10 मिनिट हो जाने पर बैटर को बरतन में डाल दीजिए इसमें थोडा़ सा पानी भी डाल कर मिक्स कर दीजिए(कढी़ के लिए लगभग 6-7 कप पानी का उपयोग हो जाता है). घोल में नमक और हल्दी पाउडर डालकर मिक्स करें और उबाल आने तक लगातार चलाते रहें.

rajasthani dubki kadhiकढी़ में उबाल आने पर गैस बंद कर दीजिए, कढी़ बनकर तैयार है.

rajasthani dubki kadhiकढ़ी में अलग से तड़का लगाने के लिए, एक छोटी कढ़ाई में थोडा़ सा तेल डालकर गरम कीजिये, जीरा, हींग डालकर तड़्काइये, अब इसमें हरी मिर्च और अदरक डाल कर मिक्स करें. गैस बंद कर दीजिए और लाल मिर्च डाल कर मिलाइये कढी़ के लिए तड़का तैयार है.

rajasthani dubki kadhiतड़के को कढ़ी के ऊपर डाल कर सजाइये साथ में थोडा़ सा हरआ धनिया डाल कर परोसिये.

rajasthani dubki kadhi

परोसिये

  • गरमा गरम पानी पकोड़ी की सब्जी नान, चपाती या चावल किसी के साथ परोसिये और खाइये.

डुबकी कढी - Rajsthani Dubki Kadhi or Pani Pakodi Recipe rajasthani-dubki-kadhi
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • दही - 300 ग्राम(1.5 कप)
  • मूंग की दाल - 150 ग्राम या (1 कप से कम)
  • हल्दी पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • जीरा - ½ छोटी चम्मच
  • हींग - 1-2 पिंच
  • नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • लाल मिर्च पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • अदरक - 1 इंच टुकडा़
  • हरी मिर्च - 1-2 (बारीक कटी हुई)
  • हरा धनिया - 1 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
Instructions
  1. मूंग की दाल को साफ कीजिये, धोइये और पानी में भिगो दीजिये. दाल फूलने के बाद दाल से अतिरिक्त पानी निकालिये, दाल को हल्का दरदरा पीस कर किसी बड़े बर्तन में निकाल लीजिये.
  2. दाल को एकदम महीन न करें बल्कि हल्का दरदरा रखें तभी डुबकी का असली स्वाद आयेगा. पीसी दाल में थोडा़ नमक मिला कर 3-4 मिनिट अच्छी तरह फैंट लीजिये, ये दाल पकोड़ी बनाने के लिये तैयार है.
  3. बर्तन में पानी डालकर गैस पर गरम होने के लिए रख दीजिए. बरतन को ढक कर रखें ताकि पानी में उबाल जल्दी से आ जाए.
  4. पानी में उबाल आने के बाद, हाथ से दाल उठाकर छोटी छोटी पकोड़ी बनाकर उबलते पानी में डालिये. ध्यान रहे की पानी में उबाल बना रहे. पकोडी को तेज आंच पर 10 मिनिट उबलने दीजिए.
  5. जब तक पकोडी बनकर तैयार होती हैं, बैटर तैयार कर लीजिए. मूंगदाल के बैटर में दही डाल कर मिक्स कीजिए.
  6. मिनिट हो जाने पर बैटर को बरतन में डाल दीजिए इसमें थोडा़ सा पानी भी डाल कर मिक्स कर दीजिए(कढी़ के लिए लगभग 6-7 कप पानी का उपयोग हो जाता है). घोल में नमक और हल्दी पाउडर डालकर मिक्स करें और उबाल आने तक लगातार चलाते रहें.
  7. कढी़ में उबाल आने पर गैस बंद कर दीजिए, कढी़ बनकर तैयार है.
  8. कढ़ी में अलग से तड़का लगाने के लिए, एक छोटी कढ़ाई में थोडा़ सा तेल डालकर गरम कीजिये, जीरा, हींग डालकर तड़्काइये, अब इसमें हरी मिर्च और अदरक डाल कर मिक्स करें. गैस बंद कर दीजिए और लाल मिर्च डाल कर मिलाइये कढी़ के लिए तड़का तैयार है.
  9. तड़के को कढ़ी के ऊपर डाल कर सजाइये साथ में थोडा़ सा हरआ धनिया डाल कर परोसिये.

 

चूरमा लड्डू – Churma Laddoo Recipe – Rajasthani Churma Laddo

गेहूं के आटे से बने चूरमा लड्डू एक प्रमुख राजस्थानी रैसिपी है जिसे बड़े चाव के साथ खाया जाता है. चूरमा लड्डू बहुत आसानी से और जल्द तैयार किए जा सकते हैं. बाफला या बाटी के साथ चूरमा और चूरमा के लड्डू बहुत पसंद किये जाते हैं. चूरमा अनेकों तरह से बनाया जाता है, जैसे बाटी चूरमा, बाजरे का चूरमा, आटे का चूरमा इत्यादि. आज हम इसी राजस्थानी चूरमा लड्डू बनाने जा रहे हैं. तो आप भी ये लड्डू बनाएं और इसके स्वाद का मजा लीजिए.

Churma Laddoo Recipe – Rajasthani Churma Laddo

निर्देश

तैयारी के लिए

काजू को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट कर ले लीजिए. बादाम को पतला पतला काट लीजिए. इलायची को छील कर पाउडर बना लीजिए.

churma ladoo recipe

बनाने की विधि

आटे और सूजी को एक बर्तन में निकाल लीजिये और आधा कप घी डाल कर अच्छी तरह मिला लीजिये.

churma ladoo recipeदूध की सहायता से सख्त आटा गूथ लीजिये, गुथे आटे को 15 मिनिट के लिए ढककर रख दीजिये. आटा सैट होकर तैयार हो जाएगा.

churma ladoo recipeगुथे हुये आटे से उगलियों की सहायता से एक रोटी के बराबर लोई निकालें और हाथ से गोल करें और दोनों हथेलियों के बीच में रखें और दबाकर चपटा करें.

churma ladoo recipeकढ़ाई में घी डाल कर गरम कीजिये. इस चपटी लोई को तलने के लिये घी में डाल दीजिये. 3-4 लोइयाँ घी में एक साथ डाल कर धीमी आग पर तल लीजिए.

churma ladoo recipeजब ये ब्राउन हो जाय तब प्लेट में निकाल कर रखें, इसी तरह सारी लोइयाँ तल ले़ और ठंडा होने दीजिये.

churma ladoo recipeइन लोइयों के तोड़ कर टुकड़े करके मिक्सर या फूड प्रोसेसर में डालकर बारीक कर लें, यदि चूरमा में मोटे टुकड़े हों तो पीसे हुये चूरमे को लनी में छान लें और ज्यादा मोटे टुकड़ो को दुबारा पीस कर लीजिये.

churma ladoo recipeचूरमा में बूरा और काजू, किशमिश, बादाम, घी और इलायची पाउडर डाल कर अच्छी तरह मिला लिजिये. लड्डू बनाने का मिश्रण तैयार है. अगर आपको लगे की चूरमा अच्छे से फ्राय नहीं हुआ है तो आप घी कढ़ाई में डाल दें और उस घी में आपके द्वारा बनाया हुआ चुरमा डाल कर धीमी आग पर भूनें. जब इसका कलर हल्का ब्राउन हो जाने तक भून लीजिए.

churma ladoo recipeअब इस मिश्रण से एक मुठ्ठी भर कर निकालिये और दोनो हाथों से दबा कर उसे गोल आकार दीजिये. तैयार लड्डू को प्लेट में रखते जाइये. बहुत ही सुन्दर लड्डू बनकर तैयार हो गये..

churma ladoo recipe

परोसिये

  • स्वाद से भरपूर चूरमा लड्डू को आप परोसिये और खाइये

चूरमा लड्डू - Churma Laddoo Recipe - Rajasthani Churma Laddo churma-laddoo-recipe
Author: 
Recipe type: Sweets
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • गेहू का आटा —1 कप
  • सूजी — ¼ कप
  • देशी घी - ½ कप
  • काजू — 1 टेबल स्पून
  • बादाम — 4
  • इलायची — 4
  • दूध - आटा गूंथने के लिए
  • तगार(बूरा) — 1.5 कप
  • घी - फ्राय करने के लिए
Instructions
  1. काजू को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट कर ले लीजिए. बादाम को पतला पतला काट लीजिए. इलायची को छील कर पाउडर बना लीजिए.
  2. आटे और सूजी को एक बर्तन में निकाल लीजिये और आधा कप घी डाल कर अच्छी तरह मिला लीजिये.
  3. दूध की सहायता से सख्त आटा गूथ लीजिये, गुथे आटे को 15 मिनिट के लिए ढककर रख दीजिये. आटा सैट होकर तैयार हो जाएगा.
  4. गुथे हुये आटे से उगलियों की सहायता से एक रोटी के बराबर लोई निकालें और हाथ से गोल करें और दोनों हथेलियों के बीच में रखें और दबाकर चपटा करें.
  5. कढ़ाई में घी डाल कर गरम कीजिये. इस चपटी लोई को तलने के लिये घी में डाल दीजिये. 3-4 लोइयाँ घी में एक साथ डाल कर धीमी आग पर तल लीजिए.
  6. जब ये ब्राउन हो जाय तब प्लेट में निकाल कर रखें, इसी तरह सारी लोइयाँ तल ले़ और ठंडा होने दीजिये.
  7. इन लोइयों के तोड़ कर टुकड़े करके मिक्सर या फूड प्रोसेसर में डालकर बारीक कर लें, यदि चूरमा में मोटे टुकड़े हों तो पीसे हुये चूरमे को लनी में छान लें और ज्यादा मोटे टुकड़ो को दुबारा पीस कर लीजिये.
  8. चूरमा में बूरा और काजू, किशमिश, बादाम, घी और इलायची पाउडर डाल कर अच्छी तरह मिला लिजिये. लड्डू बनाने का मिश्रण तैयार है. अगर आपको लगे की चूरमा अच्छे से फ्राय नहीं हुआ है तो आप घी कढ़ाई में डाल दें और उस घी में आपके द्वारा बनाया हुआ चुरमा डाल कर धीमी आग पर भूनें. जब इसका कलर हल्का ब्राउन हो जाने तक भून लीजिए.
  9. अब इस मिश्रण से एक मुठ्ठी भर कर निकालिये और दोनो हाथों से दबा कर उसे गोल आकार दीजिये. तैयार लड्डू को प्लेट में रखते जाइये. बहुत ही सुन्दर लड्डू बनकर तैयार हो गये..

 

बेसन भरवां परांठा – Besan Stuffed Paratha Recipe – Rajasthani Besan Bharwan Paratha Recipe

आपने आलू परांठा, गोभी परांठा, मूली परांठा या कई और तरह के भरवां परांठे खाये होंगे. लेकिन आज हम बेसन भरवां परांठा बना रहे हैं. बेसन भरवां परांठा राजस्थान का मशहूर परांठा है. बेसन भरवां परांठा अन्य भरवां परांठों स‌े स्वाद में अलग होता है. झटपट बन जाने वाला बेसन भरवां परांठा आप स‌ुबह के नाश्ते में, शाम को या जब आपका मन करें, तब इसे बनाकर इसका स्वाद ले स‌कते हैं. इस‌े आप स‌फर में भी आसानी स‌े बनाकर ले जा स‌कते हैं.
बेसन भरवां परांठा बनाने के लिए बेसन को भूनकर स्टफिंग तैयार कर लीजिए. स्टफेिंग को आटे मेें लोई में भरकर बेल लीजिए और परांठा स‌ेक लीजिए. बेसन भरवां परांठे को आप दही, चटनी, अचार या किसी ग्रेवी वाली स‌ब्जी के स‌ाथ परोसिये और परिवार के स‌ाथ बेसन भरवां परांठे का स्वाद लीजिए.

Besan Stuffed Paratha Recipe – Rajasthani Besan Bharwan Paratha Recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

आटे को प्याले में छान लीजिए.

besan stuffed masala parantha

बनाने की विधि

आटे में 1/2 छोटी चम्मच नमक और 2 छोटे चम्मच तेल डालिये और अच्छी तरह मिक्स‌ कर लीजिए. आटे में थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए, परांठे के लिए नरम आटा गूंथ लीजिए. (इतने आटे को गूथने के लिए 1 कप स‌े कम पानी लगेगा). गूंथे हुए आटे को ढक कर 15-20 मिनिट स‌ैट होने के लिए रख दीजिये.

besan stuffed masala paranthaपरांठे के लिए स्टफिंग बनाकर तैयार कर लीजिए. पैन में 2-3 टेबल स्पून तेल डाल कर गरम कर लीजिए. गरम तेल में हींग और जीरा डाल कर हल्का स‌ा भून लीजिए.

besan stuffed masala paranthaजीरा भूनने के बाद इसमें धनिया पाउडर, हरी मिर्च, अदरक और बेस‌न डाल दीजिए. बेस‌न को लगातार चलाते हुए भून लीजिए, ताकि बेसन पैन के तले पर लगे नही. बेसन को मीडियम आंच पर गोल्डन ब्राउन होने तक भून लीजिए. (बेसन को भूनने में 6-7 मिनिट का स‌मय लग जाता है).

besan stuffed masala paranthaबेसन में लाल मिर्च पाउडर, अमचूर पाउडर, हरा धनिया और नमक डाल दीजिए. स‌ारी चीजों को अच्छे स‌े मिक्स कर लीजिए. बेसन में थोड़ा स‌ा पानी या दही डाल दीजिए, ताकि बेसन बाइन्ड हो जाय. स्टफिंग को 2-3 मिनिट और भून लीजिए.

besan stuffed masala paranthaस्टफिंग बन कर तैयार है, गैस बंद कर दीजिए. स्टफिंग को प्लेट में निकाल कर ठंडा कर लीजिए.

besan stuffed masala parantha20 मिनिट बाद आटा स‌ैट होकर तैयार है. हाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर आटे को दोबारा मसल कर चिकना कर लीजिए. गूथे हुए आटे स‌े थोड़ा स‌ा आटा तोड़ कर या एक नींबू जितना आटा तोड़ कर लोई बना लीजिए. लोई को दोनो हथेली स‌े रोल कर लीजिए. लोई में थोड़े स‌े स‌ूखा आटा में लपेटिये और 3-4 इंच के व्यास में गोल पूरी बेल लीजिए. बेली हुई पूरी के ऊपर थोड़ा स‌ा तेल लगा दीजिए.

besan stuffed masala paranthaपूरी में 2-3 चम्मच स्टफिंग भर दीजिए. पूरी को चारों किनारों स‌े उठाकर बंद कर दीजिए. स्टफिंग भरी लोई को उंगलियों स‌े हल्का स‌ा दबाइये. लोई को स‌ूखे आटे में लपेटिये और बेलन की मदद स‌े मोटा परांठा बेल लीजिए.

besan stuffed masala paranthaतवा गरम होने पर, तवे पर थोड़ा सा तेल लगाइये और अब बेला हुआ परांठा गरम तवे पर डाल दीजिए, परांठा नीचे से सिकने दीजिए.

besan stuffed masala paranthaनीचे कि ओर परांठा सिकने पर ऊपर की ओर तेल लगाइये और परांठे को पलट दीजिए. अब इस तरफ भी तेल लगाकर परांठे को दोनों ओर से ब्राउन चित्ती आने तक सेक लीजिए. परांठे को धीमी आंच पर कलछी से चारों ओर हल्का दबाव देते हुये परांठे को दोनों तरफ से खस्ता, ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये.

besan stuffed masala paranthaपरांठा स‌िक कर तैयार है. परांठे को किसी प्लेट पर रखी हुई प्याली पर या नेपकिन पेपर पर निकाल कर रख लीजिए. ब‌चे हुए परांठों में स्टफिंग भरकर इस‌ी तरह स‌ेक कर तैयार कर लीजिए.

besan stuffed masala parantha

परोस‌िये

  • गरम-गरम बेसन भरवां परांठे को दही, चटनी, अचार या किसी ग्रेवी वाली स‌ब्जी के स‌ाथ परोसिये और इसका स्वाद लीजिए.
  • 7-8 परांठे के लिए

बेसन भरवां परांठा - Besan Stuffed Paratha Recipe - Rajasthani Besan Bharwan Paratha Recipe besan-stuffed-masala-parantha
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • गेहूं का आटा - 2 कप
  • बेसन - 1 कप
  • तेल - 4-5 टेबल स्पून
  • हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • हींग - 1 पिंच
  • जीरा - ½ छोटी चम्मच
  • हरी मिर्च - 2 (बारीक कटी हुई)
  • अदरक - 1 इंच टुकड़ा (कद्दूकस किया हुआ)
  • अमचूर पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • धनिया पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
Instructions
  1. आटे को प्याले में छान लीजिए.
  2. आटे में ½ छोटी चम्मच नमक और 2 छोटे चम्मच तेल डालिये और अच्छी तरह मिक्स‌ कर लीजिए. आटे में थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए, परांठे के लिए नरम आटा गूंथ लीजिए. (इतने आटे को गूथने के लिए 1 कप स‌े कम पानी लगेगा). गूंथे हुए आटे को ढक कर 15-20 मिनिट स‌ैट होने के लिए रख दीजिये.
  3. परांठे के लिए स्टफिंग बनाकर तैयार कर लीजिए. पैन में 2-3 टेबल स्पून तेल डाल कर गरम कर लीजिए. गरम तेल में हींग और जीरा डाल कर हल्का स‌ा भून लीजिए.
  4. जीरा भूनने के बाद इसमें धनिया पाउडर, हरी मिर्च, अदरक और बेस‌न डाल दीजिए. बेस‌न को लगातार चलाते हुए भून लीजिए, ताकि बेसन पैन के तले पर लगे नही. बेसन को मीडियम आंच पर गोल्डन ब्राउन होने तक भून लीजिए. (बेसन को भूनने में 6-7 मिनिट का स‌मय लग जाता है).
  5. बेसन में लाल मिर्च पाउडर, अमचूर पाउडर, हरा धनिया और नमक डाल दीजिए. स‌ारी चीजों को अच्छे स‌े मिक्स कर लीजिए. बेसन में थोड़ा स‌ा पानी या दही डाल दीजिए, ताकि बेसन बाइन्ड हो जाय. स्टफिंग को 2-3 मिनिट और भून लीजिए.
  6. स्टफिंग बन कर तैयार है, गैस बंद कर दीजिए. स्टफिंग को प्लेट में निकाल कर ठंडा कर लीजिए.
  7. मिनिट बाद आटा स‌ैट होकर तैयार है. हाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर आटे को दोबारा मसल कर चिकना कर लीजिए. गूथे हुए आटे स‌े थोड़ा स‌ा आटा तोड़ कर या एक नींबू जितना आटा तोड़ कर लोई बना लीजिए. लोई को दोनो हथेली स‌े रोल कर लीजिए. लोई में थोड़े स‌े स‌ूखा आटा में लपेटिये और 3-4 इंच के व्यास में गोल पूरी बेल लीजिए. बेली हुई पूरी के ऊपर थोड़ा स‌ा तेल लगा दीजिए.
  8. पूरी में 2-3 चम्मच स्टफिंग भर दीजिए. पूरी को चारों किनारों स‌े उठाकर बंद कर दीजिए. स्टफिंग भरी लोई को उंगलियों स‌े हल्का स‌ा दबाइये. लोई को स‌ूखे आटे में लपेटिये और बेलन की मदद स‌े मोटा परांठा बेल लीजिए.
  9. तवा गरम होने पर, तवे पर थोड़ा सा तेल लगाइये और अब बेला हुआ परांठा गरम तवे पर डाल दीजिए, परांठा नीचे से सिकने दीजिए.
  10. नीचे कि ओर परांठा सिकने पर ऊपर की ओर तेल लगाइये और परांठे को पलट दीजिए. अब इस तरफ भी तेल लगाकर परांठे को दोनों ओर से ब्राउन चित्ती आने तक सेक लीजिए. परांठे को धीमी आंच पर कलछी से चारों ओर हल्का दबाव देते हुये परांठे को दोनों तरफ से खस्ता, ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये.
  11. परांठा स‌िक कर तैयार है. परांठे को किसी प्लेट पर रखी हुई प्याली पर या नेपकिन पेपर पर निकाल कर रख लीजिए. ब‌चे हुए परांठों में स्टफिंग भरकर इस‌ी तरह स‌ेक कर तैयार कर लीजिए.

 

राजस्थानी बेसन के गट्टे की सब्जी – Rajasthani Gatta Curry Recipe – Besan Gatte Ki Sabzi

बेसन के गट्टे की सब्जी राजस्थान की प्रमुख रैसिपी में से एक है, इसे बेसन और दही के साथ बनाया जाता है. अगर कभी रसोई में साग सब्जी बनाने का मन न हो या सब्जी उपल्ब्ध न हो तो आप बेसन के गट्टे की रैसिपी बना सकते हैं. आप राजस्थान के हों या बाहर के आपको बेसन के गट्टे की सब्जी बहुत पसंद आएगी, तो आइए आज खाने के साथ बेसन के गट्टे की सब्जी का भी मजा लिया जाए.

Rajasthani Gatta Curry Recipe – Besan Gatte Ki Sabzi

विधि

तैयारी के लिए

बेसन को छान कर ले लीजिए.

gatte ki sabji recipeटमाटर, हरी मिर्च और अदरक को मिक्सर में डालकर पेस्ट बना लीजिए.

gatte ki sabji recipe

बनाने की विधि

एक प्याले में बेसन लीजिए अब इसमें नमक, अजवायन, बेकिंग सोडा, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर, एक छोटी चम्मच तेल और चार छोटे चम्मच दही डाल कर सभी चीजों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए.

gatte ki sabji recipeथोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए नरम आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए.

gatte ki sabji recipeआटे को 10-15 मिनिट के लिए ढक कर रख दीजिए ताकि आटा सैट हो जाए.

gatte ki sabji recipeआटा सैट होने के बाद हाथ पर थोड़ा तेल लगा कर आटे को मसल लीजिए.

gatte ki sabji recipeअब एक बार फिर से हाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर आटे को छोटे-छोटे टुकड़े में बांट लीजिए.

gatte ki sabji recipeइन टुकड़ों को आधा इंच के व्यास में लम्बाई में लम्बा रोल कर लीजिए और प्लेट में रख दीजिए.

gatte ki sabji recipeबेसन के गट्टे एक – एक करके उबलते हुए पानी में डाल दीजिए, ताकि पानी में उबाल बना रहे.

gatte ki sabji recipeतेज आंच पर ही 12-14 मिनिट के लिए उबलने दीजिए.

gatte ki sabji recipe

गट्टे उबल कर तैयार हैं, इन्हें पानी में से निकाल कर प्लेट में रख लीजिए.

gatte ki sabji recipe

ग्रेवी बनाने के लिए एक पैन में तेल डाल कर गरम कीजिए. तेल गरम होने पर इसमें जीरा डाल दीजिए.gatte ki sabji recipe

जीरा भूनने पर हींग, हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर और कसूरी मेथी डाल कर मसाले को भून लीजिए.gatte ki sabji recipe

मसाला भूनने पर इसमें टमाटर, हरी मिर्च और अदरक का पेस्ट डालकर मिक्स कीजिए और लाल मिर्च पाउडर भी डाल लीजिए.

gatte ki sabji recipe

मसाले को तब तक भूनें जब तक मसाले में से तेल अलग नही हो जाता.

gatte ki sabji recipe

बेसन के गट्टे को आधा – आधा इंच के टुकड़ो में काट कर तैयार कर लीजिए.

gatte ki sabji recipe

मसाले में से तेल अलग होने पर इसमें दही डालें. दही को एक साथ न डाल कर थोड़ा-थोड़ा डालिए और लगातार चलाते हुए पकाएं.

gatte ki sabji recipe

मसाला और दही पकने पर इसमें पानी डाल दीजिए ग्रेवी आप अपनी पसंद अनुसार गाढी़ या पतली बना सकते हैं.

gatte ki sabji recipe

ग्रेवी में उबाल आने पर गट्टों को ग्रेवी में डाल दीजिए साथ ही इसमें नमक, गरम मसाला और थोडा़ सा हरा धनिया डाल कर मिक्स करें.

gatte ki sabji recipeसब्जी को ढक कर 3-4 मिनिट धीमी आंच पर पका लीजिए, ताकि गट्टों के अन्दर ग्रेवी के सारे मसाले जज़्ब हो जाए.

gatte ki sabji recipeसब्जी को चैक कीजिए, गट्टे की सब्जी बनकर तैयार है. इसे प्याले में निकाल लीजिए.

gatte ki sabji recipe

परोसिये

गट्टे की सब्जी को हरे धनिये से गार्निश करें. गट्टे की स्वादिष्ट सब्जी को आप परांठे, नॉन, चपाती या चावल किसी के भी साथ परोसिये और खाईये.

gatte ki sabji recipe

सुझाव:

  • गट्टे का आटा न ज्यादा सख्त होना चाहिए और न ही ज्यादा नरम. जैसे चपाती के लिए आटा गूंथते हैं वैसा ही आटा लगाना चाहिए.
  • बेसन के गट्टे एक – एक करके उबलते हुए पानी में डालें, उबलते हुए पानी में गट्टे डालते समय ध्यान रखें की पानी में उबाल हमेशा बना रहे अगर पानी में उबाल नहीं रहेगा तो गट्टे फटे सकते हैं.
  • अगर गट्टे का आटा बहुत ही पतला हो जाए तो गट्टे फट जाएगें और अगर ज्यादा सख्त हो जाए तो गट्टे सख्त बनेंंगे.
  • दही डालने के बाद ग्रेवी को उबलने तक लगातार चलाते रहे नही तो ग्रेवी फट सकती है.
  • अगर कसूरी मेथी न हो तो बिना कसूरी मेथी के भी बना सकते है.
  • 3-4 सदस्यों के लिए

राजस्थानी बेसन के गट्टे की सब्जी - Rajasthani Gatta Curry Recipe gatte-ki-sabji
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • बेसन - 1 कप (125 ग्राम)
  • टमाटर - 4 (250 ग्राम)
  • हरी मिर्च - 2
  • अदरक - 1 इंच टुकडा़
  • ताजी दही - ½ कप (125 ग्राम)
  • तेल - 2-3 टेबल स्पून
  • हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • कसूरी मेथी - 1 छोटी चम्मच
  • जीरा - ½ छोटी चम्मच
  • हींग - 1 पिंच
  • बेकिंग सोडा - 1 पिंच
  • अजवायन - ¼ छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • धनिया पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • गरम मसाला - ¼ छोटी चम्मच
  • नमक - 1 + ¼ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
Instructions
  1. बेसन को छान कर ले लीजिए.
  2. टमाटर, हरी मिर्च और अदरक को मिक्सर में डालकर पेस्ट बना लीजिए.
  3. एक प्याले में बेसन लीजिए अब इसमें नमक, अजवायन, बेकिंग सोडा, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर, एक छोटी चम्मच तेल और चार छोटे चम्मच दही डाल कर सभी चीजों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए.
  4. थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए नरम आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए.
  5. आटे को 10-15 मिनिट के लिए ढक कर रख दीजिए ताकि आटा सैट हो जाए.
  6. आटा सैट होने के बाद हाथ पर थोड़ा तेल लगा कर आटे को मसल लीजिए.
  7. अब एक बार फिर से हाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर आटे को छोटे-छोटे टुकड़े में बांट लीजिए.
  8. इन टुकड़ों को आधा इंच के व्यास में लम्बाई में लम्बा रोल कर लीजिए और प्लेट में रख दीजिए.
  9. बेसन के गट्टे एक - एक करके उबलते हुए पानी में डाल दीजिए, ताकि पानी में उबाल बना रहे.
  10. तेज आंच पर ही 12-14 मिनिट के लिए उबलने दीजिए.
  11. गट्टे उबल कर तैयार हैं, इन्हें पानी में से निकाल कर प्लेट में रख लीजिए.
  12. ग्रेवी बनाने के लिए एक पैन में तेल डाल कर गरम कीजिए. तेल गरम होने पर इसमें जीरा डाल दीजिए.
  13. जीरा भूनने पर हींग, हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर और कसूरी मेथी डाल कर मसाले को भून लीजिए.
  14. मसाला भूनने पर इसमें टमाटर, हरी मिर्च और अदरक का पेस्ट डालकर मिक्स कीजिए और लाल मिर्च पाउडर भी डाल लीजिए.
  15. मसाले को तब तक भूनें जब तक मसाले में से तेल अलग नही हो जाता.
  16. बेसन के गट्टे को आधा - आधा इंच के टुकड़ो में काट कर तैयार कर लीजिए.
  17. मसाले में से तेल अलग होने पर इसमें दही डालें. दही को एक साथ न डाल कर थोड़ा-थोड़ा डालिए और लगातार चलाते हुए पकाएं.
  18. मसाला और दही पकने पर इसमें पानी डाल दीजिए ग्रेवी आप अपनी पसंद अनुसार गाढी़ या पतली बना सकते हैं.
  19. ग्रेवी में उबाल आने पर गट्टों को ग्रेवी में डाल दीजिए साथ ही इसमें नमक, गरम मसाला और थोडा़ सा हरा धनिया डाल कर मिक्स करें.
  20. सब्जी को ढक कर 3-4 मिनिट धीमी आंच पर पका लीजिए, ताकि गट्टों के अन्दर ग्रेवी के सारे मसाले जज़्ब हो जाए.
  21. सब्जी को चैक कीजिए, गट्टे की सब्जी बनकर तैयार है. इसे प्याले में निकाल लीजिए.
  22. गट्टे की सब्जी को हरे धनिये से गार्निश करें. गट्टे की स्वादिष्ट सब्जी को आप परांठे, नॉन, चपाती या चावल किसी के भी साथ परोसिये और खाईये

 

मावा मालपुआ – Mawa Malpua Recipe – Rajasthani Mawa Malpua Recipe

मालपुआ पारंपरिक मिठाई है. जिसे आप घर पर झटपट बना कर खा स‌कते हैं. मालपुआ चाशनी स‌े भीगा हुआ होता है और इसका स्वाद बहुत स्वादिष्ट होता है. इलायची पाउडर मावा मालपुआ में पड़ने स‌े उसका स्वाद और बढ़ जाता है. मालपुआ को आप किसी भी पार्टी या अवसर पर बाहर स‌े मंगाने की बजाय घर पर बना स‌कते हैं. मावा स‌े बने मालपुआ स‌भी को बहुत पसंद आएंगे. आज हम मावा मालपुआ की रैसिपी बना रहे हैं.

Mawa Malpua Recipe – Rajasthani Mawa Malpua Recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

दूध को किसी बर्तन में डाल दीजिए और गैस पर उबलने दीजिए. उबाल आने के बाद गैस‌ बंद कर दीजिए. दूध को हल्का गुनगुना होने के लिए रख दीजिए.

mawa malpua recipe

बनाने की विधि

क्रम्बल किया हुआ मावा बड़े प्याले में डाल दीजिए. मावे में थोड़ा स‌ा गुनगुना दूध मिला दीजिए. इसे फैंटते हुए नरम बैटर तैयार कर लीजिए. आप चाहें, तो मिक्स‌ी में भी इसे चला स‌कते हैं. अब इसमें मैदा डाल कर अच्छी तरह मिक्स कर लीजिए. मैदा में थोड़ा-थोड़ा गुनगुना दूध डालते हुए गुंठलिया खतम होने तक फैंट लीजिए. मालपुआ बनाने के लिए बैटर तैयार है.

mawa malpua recipe

मालपुआ के लिए चाशनी तैयार कर लीजिए. किसी बर्तन में चीनी और 1 कप पानी डाल कर गरम कर लीजिए, उबाल आने के बाद चाशनी पानी में पूरी तरह घुल जाएगी. चाशनी को 1-2 मिनिट और पकने दीजिए. चाशनी की कंसिसटेन्सी गुलाब जामुन की चाशनी की तरह बनी होनी चाहिये. चाशनी बनकर तैयार हैं. गैस को बंद कर दीजिए.

mawa malpua recipe

पैन में घी डालकर, गैस पर गरम होने के लिए रख दीजिए. जब घी पिघलने लगे, तब उस‌में 1 चमचा बैटर डाल दीजिए. एक बार में जितने मालपुआ पैन में आ जाए, डाल दीजिए.

mawa malpua recipe

मालपुआ जब एक तरफ स‌े स‌िक जाएंगे, तब वह घी पर तैरने लगेंगे. इन्हें पलट दीजिए और दूसरी तरफ अच्छी तरह मीडियम आंच पर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए.

mawa malpua recipe

मालपुआ जब स‌िक जाय, तब उसे दो कलछी की मदद स‌े उठाकर थोड़ा स‌ा दबाइये, ताकि अतिरिक्त तेल मालपुआ स‌े निकल जाय. इस‌े प्लेट में बिछे नैपकिन पेपर पर निकाल कर रख दीजिए. बचे हुए बैटर स‌े मालपुआ स‌ेक लीजिए.

mawa malpua recipe

मालपुआ को चाशनी में 3-4 मिनिट डूबे रहने दीजिए. ताकि चाशनी की मिठास मालपुआ पूरी तरह स‌ोख ले. 4 मिनिट बाद मालपुआ को प्लेट में निकाल लीजिए. मालपुआ बनकर तैयार हैं.

mawa malpua recipe

परोसिये

स्वादिष्ट मालपुआ के ऊपर थोड़े स‌े पिस्ता के टुकड़े और ठंडी-ठंडी रबड़ी डाल कर गार्निश कीजिए. मीठे-मीठे मालपुआ को परोसिये और खाइये. मालपुआ को 3-4 दिन तक फ्रिज में रखिये और जब मन करें तब इसके स्वाद का मजा लीजिए.

mawa maplua recipe

मावा मालपुआ-Mawa Malpua Recipe - Rajasthani Mawa Malpua Recipe mawa-malpua
Author: 
Recipe type: Dessert
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • दूध - 2 कप
  • मावा - 1 कप (क्रम्बल किया हुआ)
  • चीनी - 1.5 कप
  • रिफाइंड आटा - 1 कप
  • पिस्ता - 7-8
  • हरी इलायची - 4 (कुटी हुई)
Instructions
  1. दूध को किसी बर्तन में डाल दीजिए और गैस पर उबलने दीजिए. उबाल आने के बाद गैस‌ बंद कर दीजिए. दूध को हल्का गुनगुना होने के लिए रख दीजिए.
  2. क्रम्बल किया हुआ मावा बड़े प्याले में डाल दीजिए. मावे में थोड़ा स‌ा गुनगुना दूध मिला दीजिए. इसे फैंटते हुए नरम बैटर तैयार कर लीजिए. आप चाहें, तो मिक्स‌ी में भी इसे चला स‌कते हैं. अब इसमें मैदा डाल कर अच्छी तरह मिक्स कर लीजिए. मैदा में थोड़ा-थोड़ा गुनगुना दूध डालते हुए गुंठलिया खतम होने तक फैंट लीजिए. मालपुआ बनाने के लिए बैटर तैयार है.
  3. मालपुआ के लिए चाशनी तैयार कर लीजिए. किसी बर्तन में चीनी और 1 कप पानी डाल कर गरम कर लीजिए, उबाल आने के बाद चाशनी पानी में पूरी तरह घुल जाएगी. चाशनी को 1-2 मिनिट और पकने दीजिए. चाशनी की कंसिसटेन्सी गुलाब जामुन की चाशनी की तरह बनी होनी चाहिये. चाशनी बनकर तैयार हैं. गैस को बंद कर दीजिए.
  4. पैन में घी डालकर, गैस पर गरम होने के लिए रख दीजिए. जब घी पिघलने लगे, तब उस‌में 1 चमचा बैटर डाल दीजिए. एक बार में जितने मालपुआ पैन में आ जाए, डाल दीजिए.
  5. मालपुआ जब एक तरफ स‌े स‌िक जाएंगे, तब वह घी पर तैरने लगेंगे. इन्हें पलट दीजिए और दूसरी तरफ अच्छी तरह मीडियम आंच पर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिए.
  6. मालपुआ जब स‌िक जाय, तब उसे दो कलछी की मदद स‌े उठाकर थोड़ा स‌ा दबाइये, ताकि अतिरिक्त तेल मालपुआ स‌े निकल जाय. इस‌े प्लेट में बिछे नैपकिन पेपर पर निकाल कर रख दीजिए. बचे हुए बैटर स‌े मालपुआ स‌ेक लीजिए.
  7. मालपुआ को चाशनी में 3-4 मिनिट डूबे रहने दीजिए. ताकि चाशनी की मिठास मालपुआ पूरी तरह स‌ोख ले. 4 मिनिट बाद मालपुआ को प्लेट में निकाल लीजिए. मालपुआ बनकर तैयार हैं.
  8. स्वादिष्ट मालपुआ के ऊपर थोड़े स‌े पिस्ता के टुकड़े और ठंडी-ठंडी रबड़ी डाल कर गार्निश कीजिए. मीठे-मीठे मालपुआ को परोसिये और खाइये. मालपुआ को 3-4 दिन तक फ्रिज में रखिये और जब मन करें तब इसके स्वाद का मजा लीजिए.

 

राजस्थानी दाल ढोकली – Rajasthani Dal Dhokli Recipe – Rajasthani Daal dhokli recipe

राजस्थानी दाल ढोकली गुजरात की फेमस डिश है , जिसे लोग काफी पसंद करते हैं. दाल मसालों और आटे से बनी दाल ढोकली अपने आप में पूरा खाना ही है. दाल ढोकली को राजस्थान और गुजरात में अलग अलग तरीके से बनाई जाती है. मसालेदार बेसन और आटे से बनी ढ़ोकली को दाल में पकाया गया है, जिसे चावल, रोटी या जिसके साथ आप खाना पसंद करें खा सकते हैं. तो चलिये बनाते हैं स्वादिष्ट राजस्थानी दाल ढोकली.

Rajasthani Dal Dhokli Recipe – Rajasthani Daal dhokli recipe

विधि 

तैयारी के लिए

अरहर की दाल को साफ करके धो लीजिये और बनाने के 1/2 – 1 घंटे पहले पानी में भिगो दीजिये.

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

बेसन और आटे को को छान कर अलग-अलग प्याले में निकाल लीजिए

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

बनाने की विधि

कुकर में दाल और 2 कप पानी डाल दीजिए, 1 छोटी चम्मच नमक डालकर एक सीटी आने तक पकने दीजिये, धीमी गैस पर 2-3 मिनट के लिए और पका लीजिए. गैस बब्द कर दीजिये और कुकर का प्रेशर खतम होने तक दाल को कुकर में ही रहने दीजिये.

Rajasthani Dal Dhokli Recipeप्याले में आटा, बेसन, 1/4 छोटी चममच नमक, 1 छोटी चम्मच घी और अजवायन डालकर अच्छी तरह मिला लीजिये, और थोड़ा थोड़ा पानी डाल कर चपाती के आटे जैसा नरम आटा गूंथ कर तैयार कीजिये, इतना आटा लगाने में चौथाई कप पानी लगा है, गूंथे आटे को ढककर 10-15 मिनिट के लिये रख दीजिये, ताकि आटा फूल कर सैट हो जाए.

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

हाथ पर थोडा़ सा घी लगाकर आटे को मसल कर चिकना कर लीजिये. ढोकली बनाने के लिये आटा तैयार है. आटे से एक गोल लोई बनाकर तैयार कर लीजिए. लोई को सूखे आटे पर लपटे करके चकले पर रखिये और बडी़ सी रोटी बेलकर तैयार कर लीजिए.

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

अब इसे 1-1 इंच की पट्टियों में काट लीजिए और इसे छोटा आकर देते हुए 2-4 भाग करते हुए बीच से काट लीजिए.

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

ढोकली पकाने के लिए एक बर्तन में 2-3 कप पानी डाल कर उबाल लीजिए. पानी में उबाल आने पर ढोकली को पकने के लिए पानी में डाल दिजिए. ढोकली को तेज आंच पर 10-15 मिनिट के लिए पकने दीजिए और बीच-बीच में चलाते रहें.

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

पैन में घी डाल कर गरम करिये, गरम घी में जीरा और हींग डाल दीजिए. जीरा तड़कने के बाद इसमें हल्दी पाउडर, करी पत्ता, साबुत लाल मिर्च, कटी हुई हरी मिर्च और धनियां पाउडर डाल कर मसाले को थोडा़ भून लीजिए.

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

इसके बाद कटे हुए टमाटर डाल दिजिये, टमाटर को पकने दीजिए अब इसमें लाल मिर्च पाउडर डालकर मिक्स कीजिये और मसाले से घी अलग होने तक भून लीजिये, मसाला भून कर तैयार है.

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

अब कुकर में पकी दाल और पकी ढोकली मिक्स कर दीजिए और मसाले को भी ढोकली के बर्तन में डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिए और 5 मिनिट के लिए दाल को धीमी आंच पर पकने दीजिए. इसमें थोडा़ सा हरा धनियां डाल कर मिला लीजिए, दाल ढोकली बनकर तैयार है,

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

परोसिये

दाल ढोकली को प्याले में निकाल लीजिये. थोडा़ सा हरा धनियां और घी डाल कर सजाइये. गरमा गरम दाल ढोकली को परोसिये और खाइये.

Rajasthani Dal Dhokli Recipe

  • 3-4 सदस्यों के लिये
  • समय – 50 मिनिट

राजस्थानी दाल ढोकली - Rajasthani Dal Dhokli Recipe Rajasthani Dal Dhokli Recipe
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • अरहर दाल - ½ कप (100 ग्राम)
  • गेहूं का आटा - ½ कप (75 ग्राम)
  • बेसन - 2 टेबल स्पून (20 ग्राम)
  • टमाटर - 1 (बारीक कटा हुआ)
  • घी - 2-3 टेबल स्पून
  • हींग - 1 पिंच
  • जीरा - ½ छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • धनियां पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • सूखी लाल मिर्च - 1
  • हरी मिर्च - 1 (बारीक कटी हुई)
  • करी पत्ता - 7-8
  • हरा धनिया - 1 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • नमक - 1.5 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • अजवायन - ¼ छोटी चम्मच से कम
Instructions
  1. अरहर की दाल को साफ करके धो लीजिये और बनाने के ½ - 1 घंटे पहले पानी में भिगो दीजिये. बेसन और आटे को को छान कर अलग-अलग प्याले में निकाल लीजिए
  2. कुकर में दाल और 2 कप पानी डाल दीजिए, 1 छोटी चम्मच नमक डालकर एक सीटी आने तक पकने दीजिये, धीमी गैस पर 2-3 मिनट के लिए और पका लीजिए. गैस बब्द कर दीजिये और कुकर का प्रेशर खतम होने तक दाल को कुकर में ही रहने दीजिये. प्याले में आटा, बेसन, ¼ छोटी चममच नमक, 1 छोटी चम्मच घी और अजवायन डालकर अच्छी तरह मिला लीजिये, और थोड़ा थोड़ा पानी डाल कर चपाती के आटे जैसा नरम आटा गूंथ कर तैयार कीजिये, इतना आटा लगाने में चौथाई कप पानी लगा है, गूंथे आटे को ढककर 10-15 मिनिट के लिये रख दीजिये, ताकि आटा फूल कर सैट हो जाए.
  3. हाथ पर थोडा़ सा घी लगाकर आटे को मसल कर चिकना कर लीजिये. ढोकली बनाने के लिये आटा तैयार है. आटे से एक गोल लोई बनाकर तैयार कर लीजिए. लोई को सूखे आटे पर लपटे करके चकले पर रखिये और बडी़ सी रोटी बेलकर तैयार कर लीजिए.
  4. अब इसे 1-1 इंच की पट्टियों में काट लीजिए और इसे छोटा आकर देते हुए 2-4 भाग करते हुए बीच से काट लीजिए.
  5. ढोकली पकाने के लिए एक बर्तन में 2-3 कप पानी डाल कर उबाल लीजिए. पानी में उबाल आने पर ढोकली को पकने के लिए पानी में डाल दिजिए. ढोकली को तेज आंच पर 10-15 मिनिट के लिए पकने दीजिए और बीच-बीच में चलाते रहें.
  6. पैन में घी डाल कर गरम करिये, गरम घी में जीरा और हींग डाल दीजिए. जीरा तड़कने के बाद इसमें हल्दी पाउडर, करी पत्ता, साबुत लाल मिर्च, कटी हुई हरी मिर्च और धनियां पाउडर डाल कर मसाले को थोडा़ भून लीजिए.
  7. इसके बाद कटे हुए टमाटर डाल दिजिये, टमाटर को पकने दीजिए अब इसमें लाल मिर्च पाउडर डालकर मिक्स कीजिये और मसाले से घी अलग होने तक भून लीजिये, मसाला भून कर तैयार है.
  8. अब कुकर में पकी दाल और पकी ढोकली मिक्स कर दीजिए और मसाले को भी ढोकली के बर्तन में डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिए और 5 मिनिट के लिए दाल को धीमी आंच पर पकने दीजिए. इसमें थोडा़ सा हरा धनियां डाल कर मिला लीजिए, दाल ढोकली बनकर तैयार है. दाल ढोकली को प्याले में निकाल लीजिये. थोडा़ सा हरा धनियां और घी डाल कर सजाइये. गरमा गरम दाल ढोकली को परोसिये और खाइये.