गुलाब जामुन – Gulab Jamun Recipe – Mawa Gulab Jamun Recipe Video

गुलाब जामुन एक पारम्परिक मिठाई है, जो आज भी बच्चों और बड़ों को बहुत पस‌ंद होती है. इसे अाप शादी, पार्टी, या किसी विशेष अवसर पर खाते हैं. या फिर जब मन करता हैं,  तब बाजार स‌े मंगाकर खाते हैं. लेकिन आज हम घर पर ही गुलाब जामुन बना रहे हैं, जो कि घर पर आपका जब मन करें, तब आप इसे बनाकर खा स‌कते हैं. गुलाब जामुन को आप रात के खाने के बाद या जब आपका मन करें तब खाइये.

Gulab Jamun Recipe – Mawa Gulab Jamun Recipe Video

निर्देश

तैयारी के लिए

प्रत्येक काजू को 5-6 छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लीजिए. कटे हुए काजू को छोटी प्याली में रख दीजिए.

gulab jamun

बनाने की विधि

चाशनी बनाने के लिए, किसी बरतन में चीनी और 1.5 कप पानी डाल दीजिए और गैस पर उबलने के लिये रख दीजिए. चीनी को पूरी तरह घुलने तक उबाल लीजिए. चीनी के घुलने के बाद, उसे 3-4 मिनिट और पका लीजिए.

gulab jamunचाशनी की कंसिसटेन्सी चैक करने के लिए, प्याले में कुछ बूंद चाशनी डालिये, चाशनी को अपनी उंगलियों और अंगूठे की मदद स‌े खींचने पर तार बनेंगे. अगर तार नहीं बन रहे हैं, तो चाशनी को कुछ मिनिट और पकने दीजिए. इसके बाद दोबारा चैक कीजिए तार बन जाएंगे. चाशनी बनकर तैयार हैं. गैस को बंद कर दीजिए.

gulab jamunमावा को प्लेट में निकाल लीजिए, मावा में पनीर को हाथ स‌े तोड़ दीजिए. दोनों को हाथों स‌े मैश कीजिए. मैश करने के बाद इसमें मैदा को मिला दीजिए. स‌ारी चीजों को अच्छे स‌े मसल मसल कर आटे की तरह नरम और चिकना आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए. गुलाब जामुन के लिए आटा तैयार है.

gulab jamunगुलाब जामुन के लिए स्टफिंग तैयार कर लीजिए. कटे हुए काजू में इलायची पाउडर और चिरौंजी डाल कर अच्छे स‌े मिक्स कर लीजिए. गुलाब जामुन के लिए स्टफिंग तैयार है.

gulab jamunआटे स‌े थोड़ा स‌ा आटा तोड़ लीजिए. हाथ में थोड़ा स‌ा घी लगा लीजिए और आटे के अंदर स्टफिंग भरकर बंद कर दीजिए और चिकने गोले बना लीजिए. आटे के गोले बनाते स‌मय, उसमें निशान नही होना चाहिए. गुलाब जामुन को प्लेट में रख लीजिए. इस‌ी तरह स‌ारे गुलाब जामुन के गोलों को बना कर तैयार कर लीजिए.

gulab jamunगुलाब जामुन को तलने के लिए कड़ाही में घी डाल कर गरम कर लीजिए. जब घी पूरी तरह पिघल जाए, तब इसमें गुलाब जामुन को डाल दीजिए. ( गुलाब जामुन को डीप फ्राई करने के लिए घी को मीडियम गरम कीजिए.)

gulab jamunगुलाब जामुन को धीमी आंच पर तल लीजिए. (गुलाब जामुन को तलते स‌मय उस पर कलछी न लगाएं). बल्कि गरम गरम घी उस पर कलछी से डालिए और गोल्डन ब्राउन होने के बाद हल्के से हिला-हिला कर तल लीजिए.

gulab jamunतले हुए गुलाब जामुन को प्लेट पर बिछे नैपकिन पेपर पर निकाल लीजिए. इसी तरह बाकी गुलाब जामुन को तल कर तैयार कर लीजिए. गैस को बंद कर दीजिए.

gulab jamunतले हुए गुलाब जामुन को चाशनी में डाल दीजिए. गुलाब जामुन को 1 घंटे चाशनी में भीगने दीजिए. जिससे गुलाब जामुन स‌ारा रस‌ स‌ोखकर मीठे और स्वादिष्ट हो जायेंगे.

gulab jamun

परोसिये

नरम-नरम गुलाब जामुन को अपनी पस‌ंद के अनुसार ठंडे या गरम परोसिये और इसके स्वादिष्ट मीठे स्वाद का मजा लीजिए.

स‌ुझाव

  • यदि गुलाब जामुन घी में तलते स‌मय फट रहे हों या फिर ज्यादा नरम हों तो थोडा सा मैदा मावा के आटे में मिलाकर अच्छी तरह मसल लीजिए.
  • यदि गुलाब जामुन ज्यादा सख्त बन रहे हों तो मावा के आटे में 1-1.5 टेबल स्पून दूध मिलाकर अच्छी तरह मसल लीजिए.
  • अधिक गरम चाशनी में गुलाब जामुन मत डालिये.

गुलाब जामुन - Gulab Jamun Recipe gulab-jamun
Author: 
Recipe type: Sweets
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • मावा - 250 ग्राम (1 ¼ कप)
  • पनीर - 100 ग्राम (1/2 कप)
  • चीनी - 600 ग्राम (3 कप)
  • मैदा - 20-30 ग्राम (1/3 कप या 2-3 टेबल स्पून)
  • काजू - 1 टेबल स्पून
  • चिरौंजी - 1 टेबल स्पून
  • इलायची पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • घी - गुलाब जामुन तलने के लिये
Instructions
  1. प्रत्येक काजू को 5-6 छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लीजिए. कटे हुए काजू को छोटी प्याली में रख दीजिए.
  2. चाशनी बनाने के लिए, किसी बरतन में चीनी और 1.5 कप पानी डाल दीजिए और गैस पर उबलने के लिये रख दीजिए. चीनी को पूरी तरह घुलने तक उबाल लीजिए. चीनी के घुलने के बाद, उसे 3-4 मिनिट और पका लीजिए.
  3. चाशनी की कंसिसटेन्सी चैक करने के लिए, प्याले में कुछ बूंद चाशनी डालिये, चाशनी को अपनी उंगलियों और अंगूठे की मदद स‌े खींचने पर तार बनेंगे. अगर तार नहीं बन रहे हैं, तो चाशनी को कुछ मिनिट और पकने दीजिए. इसके बाद दोबारा चैक कीजिए तार बन जाएंगे. चाशनी बनकर तैयार हैं. गैस को बंद कर दीजिए.
  4. मावा को प्लेट में निकाल लीजिए, मावा में पनीर को हाथ स‌े तोड़ दीजिए. दोनों को हाथों स‌े मैश कीजिए. मैश करने के बाद इसमें मैदा को मिला दीजिए. स‌ारी चीजों को अच्छे स‌े मसल मसल कर आटे की तरह नरम और चिकना आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए. गुलाब जामुन के लिए आटा तैयार है.
  5. गुलाब जामुन के लिए स्टफिंग तैयार कर लीजिए. कटे हुए काजू में इलायची पाउडर और चिरौंजी डाल कर अच्छे स‌े मिक्स कर लीजिए. गुलाब जामुन के लिए स्टफिंग तैयार है.
  6. आटे स‌े थोड़ा स‌ा आटा तोड़ लीजिए. हाथ में थोड़ा स‌ा घी लगा लीजिए और आटे के अंदर स्टफिंग भरकर बंद कर दीजिए और चिकने गोले बना लीजिए. आटे के गोले बनाते स‌मय, उसमें निशान नही होना चाहिए. गुलाब जामुन को प्लेट में रख लीजिए. इस‌ी तरह स‌ारे गुलाब जामुन के गोलों को बना कर तैयार कर लीजिए.
  7. गुलाब जामुन को तलने के लिए कड़ाही में घी डाल कर गरम कर लीजिए. जब घी पूरी तरह पिघल जाए, तब इसमें गुलाब जामुन को डाल दीजिए. ( गुलाब जामुन को डीप फ्राई करने के लिए घी को मीडियम गरम कीजिए.)
  8. गुलाब जामुन को धीमी आंच पर तल लीजिए. (गुलाब जामुन को तलते स‌मय उस पर कलछी न लगाएं). बल्कि गरम गरम घी उस पर कलछी से डालिए और गोल्डन ब्राउन होने के बाद हल्के से हिला-हिला कर तल लीजिए.
  9. तले हुए गुलाब जामुन को प्लेट पर बिछे नैपकिन पेपर पर निकाल लीजिए. इसी तरह बाकी गुलाब जामुन को तल कर तैयार कर लीजिए. गैस को बंद कर दीजिए.
  10. तले हुए गुलाब जामुन को चाशनी में डाल दीजिए. गुलाब जामुन को 1 घंटे चाशनी में भीगने दीजिए. जिससे गुलाब जामुन स‌ारा रस‌ स‌ोखकर मीठे और स्वादिष्ट हो जायेंगे.

 

ब्रेड से बने गुलाब जामुन – Bread Gulab Jamun Recipes – How to make Gulab Jamun from Bread

मावा से बने गुलाब जामुन का स्वाद तो आपने चखा ही होगा पर आज हम आपके लिए ब्रेड से बनने वाले गुलाब जामुन लेकर आए हैं. ब्रेड और दूध को मिलाकर बनाये गये गुलाब जामुन भी इतने ही स्वादिष्ट होते हैं, जब तक बताया न जाय कि ये ब्रेड के गुलाब जामुन है तब खाने वाले को वह मावा के ही गुलाब जामुन लगते हैं.

Bread Gulab Jamun Recipes – How to make Gulab Jamun from Bread

विधि

तैयारी के लिए

ब्रेड के किनारे का गहरे रंग का हिस्स चाकू की सहायता से काट कर अलग कर दीजिये.

bread gulab jamun

काजू को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट कर तैयार कर लीजिए, बादाम को भी पतला पतला काट लीजिए.

bread gulab jamun

बनाने की विधि

ब्रेड गुलाब जामुन बनाने के लिए सबसे पहले चाशनी बना लीजिए. चाशनी के लिए एक बर्तन ले लीजिए इसमें चीनी और डेढ़ कप पानी डालकर गैस पर रख दीजिए. चाशनी को चीनी घुलने तक पकने दीजिये.पानी में उबाल आने और चीनी पानी में घुलने के बाद चैक कीजिये.

bread gulab jamunचमचे से 2 बूंद चाशनी की किसी प्याली में निकालिये.

bread gulab jamunठंडी होने के बाद, उंगली और अंगूठे के बीच चिपकाइये, चाशनी में 1 तार बन रही हो तो, चाशनी बन कर तैयार है, अगर चाशनी में तार बिलकुल नहीं बन रहा है, तब उसे और 1-2 मिनिट पकाइये और फिर से इसी तरह चैक कीजिये, जैसे ही आपको 1 तार की कनसिसटेन्सी मिल जाय, गैस बन्द कर दीजिये. चाशनी बन कर तैयार हो जायेगी.

bread gulab jamunब्रेड को तोड़ कर मिक्सर जार में डाल दीजिए और इसे क्रम्बल कर लिजिए. सारी ब्रेड को चूरा कर लीजिए.

bread gulab jamun ब्रेड के चूरे को प्याले में निकाल लीजिए.

bread gulab jamunइसमें घी और गाढा़ किया हुआ दूध डाल कर मिक्स कीजिए.

bread gulab jamunनरम आटा जैसा गूंथ लीजिए.

bread gulab jamunआटा गूंथ जाने पर इसे 10 मिनिट के लिए ढककर रख दीजिए ताकि ये सैट हो जाए.

bread gulab jamunकाजू-बादाम और इलायची को एक साथ मिला कर, 1 छोटी चम्मच चाशनी डाल कर अच्छे से मिला दीजिए गुलाब जामुन की स्टफिंग तैयार है.

bread gulab jamunहाथ पर थोडा़ सा घी लगाकर, ब्रेड से लगे आटे को मसल लीजिए.

bread gulab jamunआटे में से थोडा़ सा आटा तोड़ लीजिए और इसे चपटा कीजिए.

bread gulab jamunइसमें थोडी़ सी स्टफिंग डालकर चारों ओर से उठाते हुए बंद कर दीजिए और गुलाब जामुन के जैसा गोल आकार दीजिए. इसी तरह से सारे आटे से गोले बनाकर तैयर कर लीजिए.

bread gulab jamunकढ़ाई में घी डाल कर गरम कीजिये. 3-4 गोले, कढ़ाई में डालें.

bread gulab jamunगोल्डन ब्राउन होने के बाद हल्के से हिला हिला कर तलें, गुलाब जामुन के चारों तरफ ब्राउन होने तक तल लीजिये.

bread gulab jamunतले गुलाब जामुन कढ़ाई से निकाल कर प्लेट में रखिये और थोडा़ ठंडा होने दीजिए.

bread gulab jamunथोड़ा ठंडा होने पर, 2 मिनिट बाद चाशनी में डुबा दीजिये. इसी तरह सारे गुलाब जामुन बनाकर, तल कर चाशनी में डाल कर डुबा दीजिये.2- 3 घंटे में गुलाब जामुन मीठा रस सोखकर मीठे और स्वादिष्ट हो जायेंगें.

bread gulab jamun

परोसिये

खाने के लिये गुलाब जामुन तैयार हैं, ब्रेड गुलाब जामुन को फ्रिज में रख कर 4 -5 दिन तक खाया जा सकता है.

सुझाव

  • गुलाब जामुन के लिये दूध गाढ़ा करने के लिये, 2 कप दूध कढ़ाई में डालें और 1 कप रहने तक उसे गाढ़ा कर लीजिये. इस दूध को एक बार मिक्सर में डाल कर फैंट भी लीजिये, इसकी गुठलियां खतम हो जायेंगी. ब्रेड का आटा गूथने में आसानी होगी.
  • अगर गोले बनाते समय उसमें दरार दिख रही हों तो आटे को दूध डालकर और मलें और मुलायम करें, गोलों में दरार न पड़े.
  • गुलाब जामुन के लिये घी पहले अच्छा गरम कीजिये, इसके बाद गैस मीडियम करके घी के तापमान को हल्का ठंडा यानी कि मीडियम रहने दीजिये, और पहले 1 गुलाव जामुन डाल कर उसे ब्राउन होने तक तलें, इसके बाद 4-5 जितने कढ़ाई में आ जाय उतने गुलाब जामुन डाल कर तलें, बहुत अच्छे गुलाब जामुन बनेंगे.
  • 24 गुलाब जामुन के लिये
  • समय – 65 मिनिट

ब्रेड से बने गुलाब जामुन - Bread Gulab Jamun Recipes - How to make Gulab Jamun from Bread bread-gulab-jamun
Author: 
Recipe type: Sweets
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • व्हाइट ब्रेड स्लाइस - 12
  • चीनी - 1.5 कप (300 ग्राम)
  • गाढ़ा किया हुआ फुल क्रीम मिल्क - 1 कप
  • घी - 1 छोटी चम्मच
  • बादाम - 7-8
  • काजू - 7-8
  • इलायची पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • घी - तलने के लिए
Instructions
  1. ब्रेड के किनारे का गहरे रंग का हिस्स चाकू की सहायता से काट कर अलग कर दीजिये.
  2. काजू को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट कर तैयार कर लीजिए, बादाम को भी पतला पतला काट लीजिए.
  3. ब्रेड गुलाब जामुन बनाने के लिए सबसे पहले चाशनी बना लीजिए. चाशनी के लिए एक बर्तन ले लीजिए इसमें चीनी और डेढ़ कप पानी डालकर गैस पर रख दीजिए. चाशनी को चीनी घुलने तक पकने दीजिये.पानी में उबाल आने और चीनी पानी में घुलने के बाद चैक कीजिये.
  4. चमचे से 2 बूंद चाशनी की किसी प्याली में निकालिये.
  5. ठंडी होने के बाद, उंगली और अंगूठे के बीच चिपकाइये, चाशनी में 1 तार बन रही हो तो, चाशनी बन कर तैयार है, अगर चाशनी में तार बिलकुल नहीं बन रहा है, तब उसे और 1-2 मिनिट पकाइये और फिर से इसी तरह चैक कीजिये, जैसे ही आपको 1 तार की कनसिसटेन्सी मिल जाय, गैस बन्द कर दीजिये. चाशनी बन कर तैयार हो जायेगी.
  6. ब्रेड को तोड़ कर मिक्सर जार में डाल दीजिए और इसे क्रम्बल कर लिजिए. सारी ब्रेड को चूरा कर लीजिए.
  7. ब्रेड के चूरे को प्याले में निकाल लीजिए.
  8. इसमें घी और गाढा़ किया हुआ दूध डाल कर मिक्स कीजिए.
  9. नरम आटा जैसा गूंथ लीजिए.
  10. आटा गूंथ जाने पर इसे 10 मिनिट के लिए ढककर रख दीजिए ताकि ये सैट हो जाए.
  11. काजू-बादाम और इलायची को एक साथ मिला कर, 1 छोटी चम्मच चाशनी डाल कर अच्छे से मिला दीजिए गुलाब जामुन की स्टफिंग तैयार है.
  12. हाथ पर थोडा़ सा घी लगाकर, ब्रेड से लगे आटे को मसल लीजिए.
  13. आटे में से थोडा़ सा आटा तोड़ लीजिए और इसे चपटा कीजिए.
  14. इसमें थोडी़ सी स्टफिंग डालकर चारों ओर से उठाते हुए बंद कर दीजिए और गुलाब जामुन के जैसा गोल आकार दीजिए. इसी तरह से सारे आटे से गोले बनाकर तैयर कर लीजिए.
  15. कढ़ाई में घी डाल कर गरम कीजिये. 3-4 गोले, कढ़ाई में डालें.
  16. गोल्डन ब्राउन होने के बाद हल्के से हिला हिला कर तलें, गुलाब जामुन के चारों तरफ ब्राउन होने तक तल लीजिये.
  17. तले गुलाब जामुन कढ़ाई से निकाल कर प्लेट में रखिये और थोडा़ ठंडा होने दीजिए.
  18. थोड़ा ठंडा होने पर, 2 मिनिट बाद चाशनी में डुबा दीजिये. इसी तरह सारे गुलाब जामुन बनाकर, तल कर चाशनी में डाल कर डुबा दीजिये.2- 3 घंटे में गुलाब जामुन मीठा रस सोखकर मीठे और स्वादिष्ट हो जायेंगें.

 

काला जामुन – Kala Jamun recipe – How to make Kala Jamun – Khoya Gulab Jamun Recipe

काला जामुन और गुलाब जामुन एक ही तरह से बनाये जाते हैं, लेकिन काला जामुन की बाहरी परत हल्की सख्त और गहरे रंग की होती है. यह बाहर से सख्त और अंदर से ड्रायफ्रूट्स और रसभरे होते है. काला जामुन सबसे ज्यादा पसन्द की जाने वाली मिठाई में से एक है, इसे काला जाम भी कहते हैं. आप इसे किसी भी शुभ अवसर पर बनाएं और परिवार के साथ मिलकर इसके स्वाद का मजा़ लीजिए.

Kala Jamun recipe – How to make Kala Jamun – Khoya Gulab Jamun Recipe

विधि

तैयारी

पनीर को प्लेट में निकाल कर क्रम्बल कर लीजिए

kala jamun

बनाने की विधि

क्रम्बल पनीर में सूजी और बेकिंग पाउडर डाल लीजिए.

kala jamunइन्हें मसल-मसल कर अच्छे से मैश कीजिए

kala jamunपनीर सोफ्ट हो जाने पर इसमें खोया और मैदा डालकर मिला दीजिए

kala jamunहथेली की मदद से इसे अच्छे से मसलते हुए नरम कीजिए.

kala jamunस्टफिंग के लिए चिरौंजी, बारीक कटे हुए काजू, बारीक कटे हुए बादाम, दरदरी कूटी हुई इलायची और 1 छोटी चम्मच चीनी डाल दीजिए. अब खोया-पनीर के मिश्रण से 2 चम्मच मिश्रण इस स्टफिंग में डालकर अच्छे से मिला दीजिए.

kala jamunइसमें थोडा़ सा फूड कलर डालकर सारी चीजों को अच्छे से मिलने तक मिला लीजिये.

kala jamunएक बर्तन में 1 किलो चीनी और आधा लीटर पानी मिलाकर आग पर चाशनी बनने के लिये रखिये. चाशनी में जब उबाल आ जाय, चीनी पानी में घुल जाने तक पकाएं.

kala jamunचाशनी के घोल से लेकर 1-2 बूंद प्लेट में टपकायें. अंगूठे और अंगुली के बीच चिपका कर देख लीजिए, चाशनी उंगली और अंगूठे के बीच चिपकनी चाहिये, चाशनी बनकर तैयार है, गैस बंद कर दीजिए और चाशनी को उतार कर स्टैंण्ड पर रख दीजिए.

kala jamunकढ़ाई में घी डाल कर गरम कीजिये. जामुन तलने से पहले टैस्ट कीजिये की कहीं काला जामुन फट तो नहीं रहा है. मिश्रण से थोड़ा मिश्रण लेकर गोल कीजिये और उसे गोल बना कर तैयार कर लीजिए

kala jamunतलने के लिये मीडियम गरम घी में डालिये और घी को काला जाम के ऊपर उछालते हुये और काला जाम को घुमाते हुये, उसे अच्छा गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिये.

kala jamunकाले जामुन को अच्छी तरह तल लीजिए. तले हुये काला जामुन कढ़ाई से निकाल लीजिए.

kala jamunमिश्रण को छोटे छोटे भागों में बांट लीजिये.

kala jamunएक टुकड़ा उठाइये, हाथ पर रखिये और उसे थोड़ा चपटा कर लीजिये.

kala jamunथोड़ी सी स्टफिंग उसके ऊपर रखिये.

kala jamunमिश्रण को सारी ओर से उठाकर बन्द कर दीजिये, और दोनो हथेलियों की सहायता से उसे अच्छा गोल कीजिये, प्लेट में रख दीजिये.

kala jamunतैयार गोलों को कढ़ाई में डालें और तलें. गैस की फ्लेम धीमी रखें, घी मीडियम गरम हो.

kala jamunहल्के ब्राउन होने तक इन्हें धीमी आंच पर तलें जब तक यह ब्राउन न हो जाएं.

kala jamunतले हुये काला जामुन कढ़ाई से निकाल कर चाशनी में डुबा दीजिये. इसी तरह सारे मावा के गोले बनाकर, तल कर चाशनी में डाल कर डुबा दीजिये.

kala jamunतले हुये काला जामुन को चाशनी में 2-3 घंटे तक डूबे रहने दीजिए. काला जामुन मीठा रस सोखकर मीठे और स्वादिष्ट हो जायेंगे.

kala jamun

परोसिए

तले हुये काला जामुन को चाशनी में 2-3 घंटे तक डूबे रहने दीजिए. काला जामुन मीठा रस सोखकर मीठे और स्वादिष्ट हो जायेंगें. तब इन्हें खाया जा सकता है पर इनका असली स्वाद दूसरे दिन आता है जब रस पूरी तरह से इनमें समा जाता है.

काला जामुन को बाहर रखकर 8- 10 दिन और फ्रिज में रखकर 15-20 दिन तक खाया जा सकता है.

सुझाव

  • मावा और पनीर के मिश्रण को अच्छी तरह मसल मसल कर अच्छा नरम कर लीजिए. मिश्रण से गोला बनाकर देखिये, गोला में क्रेक्स नहीं आने चाहिये, अगर गोले में क्रेक आ रहे हों तो मिश्रण को और मलना चाहिये.
  • काला जामुन तलने के लिए घी ज्यादा ही लें क्योंकि घी कम होने पर यह अच्छे चारों ओर एक जैसे नहीं सिकते, और फूलते भी नहीं हैं, पिचके से रह जाते हैं.
  • काला जामुन तलने के लिये घी मीडियम गरम होना चाहिये, घी ज्यादा गरम होने पर काला जामुन जल जायेंगे और घी बहुत ही हल्का गरम होने पर वे घी में बिखर सकते हैं.
  • 35-40 काला जामुन बनाने के लिये
  • समय – 70 मिनिट

काला जामुन - Kala Jamun recipe – How to make Kala Jamun - Khoya Gulab Jamun Recipe kala-jamun
Author: 
Recipe type: Sweets
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • खोया - 2 कप (400 ग्राम)
  • पनीर - 125 ग्राम या आधा कप
  • मैदा - ½ कप ऊपर तक भरा हुआ (75 ग्राम)
  • चीनी - 1 किलो (4 कप ऊपर तक भरे)
  • सूजी - 1 टेबल स्पून (10 ग्राम)
  • काजू - 6-7 (1 टेबल स्पून) (बारीक कटे हुए)
  • बादाम - 6-7 (1 टेबल स्पून) बारीक कटे हुए
  • चिरौंजी - 1 टेबल स्पून
  • इलायची - 4 (दरदरी कूटी हुई)
  • फूड कलर - 1 पिंच
  • बेकिंग पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
  • घी - काला जामुन तलने के लिए
Instructions
  1. पनीर को प्लेट में निकाल कर क्रम्बल कर लीजिए
  2. क्रम्बल पनीर में सूजी और बेकिंग पाउडर डाल लीजिए.
  3. इन्हें मसल-मसल कर अच्छे से मैश कीजिए
  4. पनीर सोफ्ट हो जाने पर इसमें खोया और मैदा डालकर मिला दीजिए
  5. हथेली की मदद से इसे अच्छे से मसलते हुए नरम कीजिए.
  6. स्टफिंग के लिए चिरौंजी, बारीक कटे हुए काजू, बारीक कटे हुए बादाम, दरदरी कूटी हुई इलायची और 1 छोटी चम्मच चीनी डाल दीजिए. अब खोया-पनीर के मिश्रण से 2 चम्मच मिश्रण इस स्टफिंग में डालकर अच्छे से मिला दीजिए.
  7. इसमें थोडा़ सा फूड कलर डालकर सारी चीजों को अच्छे से मिलने तक मिला लीजिये.
  8. एक बर्तन में 1 किलो चीनी और आधा लीटर पानी मिलाकर आग पर चाशनी बनने के लिये रखिये. चाशनी में जब उबाल आ जाय, चीनी पानी में घुल जाने तक पकाएं.
  9. चाशनी के घोल से लेकर 1-2 बूंद प्लेट में टपकायें. अंगूठे और अंगुली के बीच चिपका कर देख लीजिए, चाशनी उंगली और अंगूठे के बीच चिपकनी चाहिये, चाशनी बनकर तैयार है, गैस बंद कर दीजिए और चाशनी को उतार कर स्टैंण्ड पर रख दीजिए.
  10. कढ़ाई में घी डाल कर गरम कीजिये. जामुन तलने से पहले टैस्ट कीजिये की कहीं काला जामुन फट तो नहीं रहा है. मिश्रण से थोड़ा मिश्रण लेकर गोल कीजिये और उसे गोल बना कर तैयार कर लीजिए
  11. तलने के लिये मीडियम गरम घी में डालिये और घी को काला जाम के ऊपर उछालते हुये और काला जाम को घुमाते हुये, उसे अच्छा गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिये.
  12. काले जामुन को अच्छी तरह तल लीजिए. तले हुये काला जामुन कढ़ाई से निकाल लीजिए.
  13. मिश्रण को छोटे छोटे भागों में बांट लीजिये.
  14. एक टुकड़ा उठाइये, हाथ पर रखिये और उसे थोड़ा चपटा कर लीजिये.
  15. थोड़ी सी स्टफिंग उसके ऊपर रखिये.
  16. मिश्रण को सारी ओर से उठाकर बन्द कर दीजिये, और दोनो हथेलियों की सहायता से उसे अच्छा गोल कीजिये, प्लेट में रख दीजिये.
  17. तैयार गोलों को कढ़ाई में डालें और तलें. गैस की फ्लेम धीमी रखें, घी मीडियम गरम हो.
  18. हल्के ब्राउन होने तक इन्हें धीमी आंच पर तलें जब तक यह ब्राउन न हो जाएं.
  19. तले हुये काला जामुन कढ़ाई से निकाल कर चाशनी में डुबा दीजिये. इसी तरह सारे मावा के गोले बनाकर, तल कर चाशनी में डाल कर डुबा दीजिये.
  20. तले हुये काला जामुन को चाशनी में 2-3 घंटे तक डूबे रहने दीजिए. काला जामुन मीठा रस सोखकर मीठे और स्वादिष्ट हो जायेंगे.

 

स्पंज रसगुल्ले – Bengali Sponge Rasgulla in Cooker

बंगाली रसगुल्ले सभी को बेहद पसंद आते हैं नरम मुलायम से रसगुल्ले मुंह में डालते ही घुल जाते हैं. रसगुल्ले ताजा छैना में अरारोट डालकर बनाये जाते हैं और बिना अरारोट डाले भी. अरारोट डालकर बने छैना रसगुल्ले थोड़े कम स्पंजी होते हैं, लेकिन स्वाद में बहुत जबर्दस्त. छैना में बिना अरारोट डाले बनाये गये रसगुल्ले अधिक स्पंजी होते हैं. आज हम बिना अरारोट डाले बंगाली स्पंज रसगुल्ले बनायेंगे लेकिन समय बचाने के लिये इन्हें कुकर के अन्दर उबाल कर बनायेंगे.

Bengali Sponge Rasgulla in Cooker | Sponge Rasgulla Recipe in Pressure Cooker

विधि –

बनाने की विधि
किसी बर्तन को थोड़ा पानी डालकर धो लीजिये और दूध डालकर गरम करने के लिये रखिये. दूध में उबाल आने पर दूध को आग से नीचे उतार लीजिये, और थोड़ा सा ठंडा कर लीजिये(दूध को 80 प्रतिशत तक गरम रहने दीजिये).

bengali rasgullaनीबू के रस में जितना रस है, उतना ही पानी मिला दीजिये.दूध में थोड़ा थोड़ा 1 – 1 टेबल स्पून करके नीबू का रस डालिये और मिक्स कीजिये, दूध के अच्छी तरह फटने तक नीबू का रस डालिये, और मिक्स करते जाइये, जैसे ही दूध अच्छी तरह फट जाय नीबू का रस डालना बन्द कर दीजिये.

bengali rasgulla

फटे हुये दूध को किसी सूती, साफ कपड़े में छान लीजिये. कपड़े को छलनी के ऊपर बिछाइये और नीचे कोई बर्तन रख दीजिये, फटे हुये दूध को कपड़े के ऊपर डालिये. फटे दूध से निकला पानी, नीचे रखे बर्तन में आ जायेगा और छैना कपड़े में रह जायेगा. छैना के ऊपर 1-2 कप ठंडा पानी डालिये, छैना ठंडा भी हो जायेगा और छैना से नीबू का खट्टा स्वाद भी खतम हो जायेगा. कपड़े को चारों ओर से उठाकर, हाथ से छैना को दबाते हुये छैना से सारा पानी निचोड़ दीजिये. नरम नरम छैना बनकर तैयार है.bengali rasgulla

छैना को किसी प्लेट में निकालिये, हाथ और उंगलियों से छैना को दबाते हुये, पलट पलट कर 4-5 मिनिट तक मल मल कर नरम और चिकना कीजिये. नरम किये हुये छैना को 10 – 12, भागों में बांट लीजिये.

bengali rasgulla

एक भाग उठाइये और हाथ से लड्डू की तरह दबाकर पहले उसे बाइन्ड कीजिये, और अब गोल आकार देकर चिकना कीजिये. तैयार गोले को किसी प्लेट में लगा कर रखिये. सारे गोले बनाकर तैयार कर लीजिये.

bengali rasgulla

रसगुल्ले कुकर में पका लीजिये, कुकर में रसगुल्ले बहुत जल्दी पक जाते हैं, क्यों कि खुले भगोने की अपेक्षा कुकर में तापमान अधिक हो जाता है, रसगुल्ले पकाने के लिये, ज्यादा तापमान की आवश्यकता होती है. कुकर में चीनी और 4 कप पानी डालिये, उबाल आने दीजिये.

bengali rasgulla

उबाल आने पर छैना के बने गोले कुकर में एक एक करके डालिये, और कुकर का ढक्कन बन्द कर दीजिये. कुकर में 1 सीटी आने दीजिए.

bengali rasgullaआग मीडियम कर दीजिये, और रसगुल्ले को 7-8 मिनिट तक और पकने दीजिये, आग बन्द कर दीजिये. किसी बर्तन में पानी ले लीजिये उसमें कुकर को रखकर, कुकर को ठंडा कीजिये या कुकर को नल के नीचे लगा दीजिये, ताकि वह जल्दी से ठंडा हो जाय और खुल जाय.

bengali rasgulla

सावधानी से ढक्कन खोलिये, कुकर से रसगुल्ले चाशनी के साथ निकाल कर किसी प्याले में रखिये और रसगुल्ले को ठंडे होने दीजिये, 5-6 घंटे के बाद रसगुल्ले अच्छे मीठे और बहुत ही स्वादिष्ट हो जाते हैं. ठंडे ठंडे स्पंज रसगुल्ले परोसिये और खाइये.

bangali rasgullaपरोसिये
रसगुल्लों को को 1-2 घंटे के लिए फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दीजिए. ठंडे स्पंज रसगुल्ले परोसिये और खाइये. स्पंज रसगुल्ले को फ्रिज में रखकर 7 दिन तक खा सकते हैं.

सुझाव

  • छैना बनाने के लिये दूध को थोड़ा ठंडा अवश्य करें. दूध में आधा कप पानी डालकर भी दूध तुरन्त ठंडा किया जा सकता है, एसा करने से छैना नरम बनता है, और इस छैना से बने रसगुल्ले अच्छे स्पंजी बनते हैं.
  • छैना अगर सख्त बनता तो रसगुल्ले तो सख्त हो जाते हैं या बिखर जाते हैं.
  • छैना के गोले अगर उबलते पानी में न डाले जायें तो बे टूट कर बिखर जाते हैं. रसगुल्ले उबालते समय पानी में हमेशा उबाल रहना आवश्यक है.

बंगाली स्पंज रसगुल्ले - Sponge Rasgulla Recipe bengali rasgulla
Author: 
Recipe type: Dessert
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • दूध - 1 लीटर (5 कप, फुल क्रीम मिल्क)
  • चीनी - 300 ग्राम (1. 5 कप)
  • नीबू - 2 (रस निकाल लीजिये)
Instructions
  1. - किसी बर्तन को थोड़ा पानी डालकर धो लीजिये और दूध डालकर गरम करने के लिये रखिये. दूध में उबाल आने पर दूध को आग से नीचे उतार लीजिये, और थोड़ा सा ठंडा कर लीजिये(दूध को 80 प्रतिशत तक गरम रहने दीजिये).
  2. - नीबू के रस में जितना रस है, उतना ही पानी मिला दीजिये.दूध में थोड़ा थोड़ा 1 - 1 टेबल स्पून करके नीबू का रस डालिये और मिक्स कीजिये, दूध के अच्छी तरह फटने तक नीबू का रस डालिये, और मिक्स करते जाइये, जैसे ही दूध अच्छी तरह फट जाय नीबू का रस डालना बन्द कर दीजिये.
  3. - फटे हुये दूध को किसी सूती, साफ कपड़े में छान लीजिये. कपड़े को छलनी के ऊपर बिछाइये और नीचे कोई बर्तन रख दीजिये, फटे हुये दूध को कपड़े के ऊपर डालिये. फटे दूध से निकला पानी, नीचे रखे बर्तन में आ जायेगा और छैना कपड़े में रह जायेगा. छैना के ऊपर 1-2 कप ठंडा पानी डालिये, छैना ठंडा भी हो जायेगा और छैना से नीबू का खट्टा स्वाद भी खतम हो जायेगा. कपड़े को चारों ओर से उठाकर, हाथ से छैना को दबाते हुये छैना से सारा पानी निचोड़ दीजिये. नरम नरम छैना बनकर तैयार है.
  4. - छैना को किसी प्लेट में निकालिये, हाथ और उंगलियों से छैना को दबाते हुये, पलट पलट कर 4-5 मिनिट तक मल मल कर नरम और चिकना कीजिये. नरम किये हुये छैना को 10 - 12, भागों में बांट लीजिये.
  5. - एक भाग उठाइये और हाथ से लड्डू की तरह दबाकर पहले उसे बाइन्ड कीजिये, और अब गोल आकार देकर चिकना कीजिये. तैयार गोले को किसी प्लेट में लगा कर रखिये. सारे गोले बनाकर तैयार कर लीजिये.
  6. - रसगुल्ले कुकर में पका लीजिये, कुकर में रसगुल्ले बहुत जल्दी पक जाते हैं, क्यों कि खुले भगोने की अपेक्षा कुकर में तापमान अधिक हो जाता है, रसगुल्ले पकाने के लिये, ज्यादा तापमान की आवश्यकता होती है. कुकर में चीनी और 4 कप पानी डालिये, उबाल आने दीजिये.
  7. - उबाल आने पर छैना के बने गोले कुकर में एक एक करके डालिये, और कुकर का ढक्कन बन्द कर दीजिये. कुकर में 1 सीटी आने के दीजिए.
  8. - आग मीडियम कर दिजिये, और रसगुल्ले को 7-8 मिनिट तक और पकने दीजिये, आग बन्द कर दीजिये. किसी बर्तन में पानी ले लीजिये उसमें कुकर को रखकर, कुकर को ठंडा कीजिये या कुकर को नल के नीचे लगा दीजिये, ताकि वह जल्दी से ठंडा हो जाय और खुल जाय.
  9. - सावधानी से ढक्कन खोलिये, कुकर से रसगुल्ले चाशनी के साथ निकाल कर किसी प्याले में रखिये और रसगुल्ले को ठंडे होने दीजिये, 5-6 घंटे के बाद रसगुल्ले अच्छे मीठे और बहुत ही स्वादिष्ट हो जाते हैं. ठंडे ठंडे स्पंज रसगुल्ले परोसिये और खाइये.
  10. रसगुल्लों को को 1-2 घंटे के लिए फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दीजिए. ठंडे स्पंज रसगुल्ले परोसिये और खाइये. स्पंज रसगुल्ले को फ्रिज में रखकर 7 दिन तक खा सकते हैं.