How to roast peanuts in a pan | Sand Roasted peanuts | Skillet Roasted Peanuts

बिना तेल की भुनी हुई मूंगफली खानी हो तो माइक्रोवेव का सहारा लेना पड़ता है, पर आज हम आपके लिए खास पुराने जमाने की टेक्नीक से गैस स्टोव पर कढ़ाही में नमक में रोस्टेड नमकीन मूंगफली की रेसिपी लाए हैं. नमक में भुनी हुई ये मूंगफली स्वाद में लाज़वाब और करारी लगती है. रोस्टेड नमकीन मूंगफली को उपमा, पोहा, या किसी भी नमकीन में उपयोग कर सकते हैं या ऎसे ही आप इसे खाइए, यह बहुत ही मज़ेदार लगती है.

How to roast peanuts in a pan | Sand Roasted peanuts | Skillet Roasted Peanuts

निर्देश

बनाने की विधि

½ छोटी चम्मच नमक को प्याली में निकाल लीजिए और इसमें 2 छोटी चम्मच पानी डालकर अच्छे से मिक्स कर लीजिए ताकि नमक पानी में पूरी तरह से घुल जाए. इसके बाद नमक के पानी को 1 कप मूंगफली में डालकर अच्छे से मिला दीजिए.

roasted peanut namkeenभारी तले की कढ़ाही में 2 कप नमक डाल दीजिए और गैस अॉन कर लीजिए. नमक को 5 मिनिट के लिए गरम होने दीजिए. इस बीच नमक को हर 1 मिनिट बाद चलाते रहिए ताकि नमक अच्छे से गरम हो जाए. साथ ही थोडी़-थोडी देर में मूंगफली के दानों को भी चलाते रहिए, ताकि अगर नमक वाला पानी नीचे बैठ गया हो तो मिक्स करने पर अच्छे से मूंगफली पर लग जाए.

roasted peanut namkeenनमक के अच्छे से गरम हो जाने पर मूंगफली नमक में डाल दीजिए और मूंगफली को मध्यम आंच पर लगातार चलाते हुए भून लीजिए.

roasted peanut namkeen4 मिनिट बाद मूंगफली हल्की सी ब्राउन हो जाए और उसमें से अच्छी खुशबू आने लगे तो मूंगफली बनकर तैयार है, इन्हें छान लीजिए.

roasted peanut namkeenमूंगफली के दानों का छिलका उतारने के लिए इन्हें ठंडा कर लेने के बाद थोड़े से दानों को हाथ पर उठाएं और इन्हें दोनों हाथों की मदद से रगड़ लीजिए, छिलका आसानी से उतर जाएगा.

roasted peanut namkeenमूंगफली के दानों और छिलकों को अलग करने के लिए इन्हें प्लेट में डालकर फटक लीजिए. ऐसा करने से छिलके दानों में से अलग हो जाएंगे और छिलकों को प्लेट से हटा दीजिए और इन दानों को प्याली में निकाल लीजिए. . मूंगफली के दाने पूरी तरह से ठंडा हो जाने के बाद इन्हें एयर टाइट कंटेनर में भर कर रख दीजिए और 2-3 महीने तक इन्हें खाइये.

roasted peanut namkeen

परोसिये

स्वादिष्ट रोस्टेड नमकीन मूंगफली के दाने खाने के लिए तैयार हैं, आप इन रोस्टेड मूंगफली के दानों को उपमा, पोहा बनाने में या ऐसे ही खाने के लिए उपयोग कर सकते हैं.

सुझाव

  • बचे हुए नमक को एयर टाइट कंटेनर में भर कर रख दीजिए और इस नमक को आप फिर से मूंगफली भूनने के लिए उपयोग में ला सकते हैं.

How to roast peanuts in a pan | Sand Roasted peanuts | Skillet Roasted Peanuts roasted-peanuts-namkeen
Author: 
Recipe type: Miscellaneous
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • कच्ची मूंगफली के दाने - 1 कप (200 ग्राम)
  • नमक - ½ छोटी चम्मच
  • नमक - 2 कप (भूनने के लिए)
Instructions
  1. ½ छोटी चम्मच नमक को प्याली में निकाल लीजिए और इसमें 2 छोटी चम्मच पानी डालकर अच्छे से मिक्स कर लीजिए ताकि नमक पानी में पूरी तरह से घुल जाए. इसके बाद नमक के पानी को 1 कप मूंगफली में डालकर अच्छे से मिला दीजिए.
  2. भारी तले की कढ़ाही में 2 कप नमक डाल दीजिए और गैस अॉन कर लीजिए. नमक को 5 मिनिट के लिए गरम होने दीजिए. इस बीच नमक को हर 1 मिनिट बाद चलाते रहिए ताकि नमक अच्छे से गरम हो जाए. साथ ही थोडी़-थोडी देर में मूंगफली के दानों को भी चलाते रहिए, ताकि अगर नमक वाला पानी नीचे बैठ गया हो तो मिक्स करने पर अच्छे से मूंगफली पर लग जाए
  3. नमक के अच्छे से गरम हो जाने पर मूंगफली नमक में डाल दीजिए और मूंगफली को मध्यम आंच पर लगातार चलाते हुए भून लीजिए.
  4. मिनिट बाद मूंगफली हल्की सी ब्राउन हो जाए और उसमें से अच्छी खुशबू आने लगे तो मूंगफली बनकर तैयार है, इन्हें छान लीजिए.
  5. मूंगफली के दानों का छिलका उतारने के लिए इन्हें ठंडा कर लेने के बाद थोड़े से दानों को हाथ पर उठाएं और इन्हें दोनों हाथों की मदद से रगड़ लीजिए, छिलका आसानी से उतर जाएगा.
  6. मूंगफली के दानों और छिलकों को अलग करने के लिए इन्हें प्लेट में डालकर फटक लीजिए. ऐसा करने से छिलके दानों में से अलग हो जाएंगे और छिलकों को प्लेट से हटा दीजिए और इन दानों को प्याली में निकाल लीजिए. . मूंगफली के दाने पूरी तरह से ठंडा हो जाने के बाद इन्हें एयर टाइट कंटेनर में भर कर रख दीजिए और 2-3 महीने तक इन्हें खाइये.

 

Suji Halwa – दानेदार सूजी का हलवा – Rava Halwa – Quick Rawa Sheera Recipe

जब भी घर पर कोई मेहमान आ जाए, या कुछ मीठा खाने का मन करे, तब सबसे पहले सूजी का हलवा ही दिमाग में आता है. जल्दी और आसानी से बन जाने वाला यह हलवा बहुत ही लाज़वाब और स्वादिष्ट होता है. पसंदानुसार मेवों और घी से गार्निश किया हुआ हलवा दिखने और महक दोनों में ही जबर्दस्त लगता है. बच्चों को यह हलवा खास प्रिय होता है और बच्चे अक्सर इस हलवे की फरमाइश भी करते ही रहते हैं.

Suji Halwa – दानेदार सूजी का हलवा – Rava Halwa – Quick Rawa Sheera Recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

बादाम और काजू को छोटा-छोटा काट लीजिए.

rava halwaइलाइची लीजिए, छीलिए और कूटकर पाउडर बना लीजिए.

rava halwa

बनाने की विधि

गैस पर पैन गरम कीजिए. इसमें घी डाल दीजिए और घी को पिघलने दीजिए. फिर, पैन में सूजी डाल दीजिए. सूजी को लगातार चलाते हुए गोल्डन ब्राउन होने तक भून लीजिए. आंच मध्यम रखिए. सूजी के भुनने के बाद, इसमें 1.5 कप पानी और चीनी डाल दीजिए.

rava halwaसूजी को 2 से 3 मिनिट धीमी आंच पर पकने दीजिए. सूजी के फूलने पर इसे चला दीजिए. फिर, इसमें कटे हुए मेवे, किशमिश और इलाइची पाउडर डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिला दीजिए. हलवे को थोड़ा और गाढ़ा होने तक पका लीजिए.स्वादिष्ट हलवा तैयार है.

rava halwa

गैस बंद कर दीजिए. इसे एक प्लेट में निकाल लीजिए. हलवे के ऊपर मेवे डालकर गार्निशिंग कर दीजिए. इसके ऊपर 2 छोटी चम्मच घी भी डाल दीजिए.

rava halwa

परोसिए

सूजी का लज़ीज़ हलवा परोसने के लिए तैयार है. आप इसे किसी भी अवसर पर या जब भी आपका कुछ मीठा खाने का मन करे तब बनाकर खा सकते हैं.

सुझाव

  • हलवे के लिए मोटी वाली सूजी अच्छी रहती है.
  • सूजी भूनते समय ध्यान रखें कि आंच मध्यम हो और आप इसे लगातार चलाते रहें.

Suji Halwa - दानेदार सूजी का हलवा rava-halwa
Author: 
Recipe type: Dessert
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • सूजी- ½ कप (100 ग्राम)
  • घी- ½ कप (100 ग्राम)
  • चीनी- ½ कप (110 ग्राम)
  • किशमिश- 1 टेबल स्पून
  • काजू- 8 से 10
  • बादाम- 8 से 10
  • इलाइची- 4
Instructions
  1. बादाम और काजू को छोटा-छोटा काट लीजिए.
  2. इलाइची लीजिए, छीलिए और कूटकर पाउडर बना लीजिए.
  3. गैस पर पैन गरम कीजिए. इसमें घी डाल दीजिए और घी को पिघलने दीजिए. फिर, पैन में सूजी डाल दीजिए. सूजी को लगातार चलाते हुए गोल्डन ब्राउन होने तक भून लीजिए. आंच मध्यम रखिए. सूजी के भुनने के बाद, इसमें 1.5 कप पानी और चीनी डाल दीजिए.
  4. सूजी को 2 से 3 मिनिट धीमी आंच पर पकने दीजिए. सूजी के फूलने पर इसे चला दीजिए. फिर, इसमें कटे हुए मेवे, किशमिश और इलाइची पाउडर डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिला दीजिए. हलवे को थोड़ा और गाढ़ा होने तक पका लीजिए.स्वादिष्ट हलवा तैयार है.
  5. गैस बंद कर दीजिए. इसे एक प्लेट में निकाल लीजिए. हलवे के ऊपर मेवे डालकर गार्निशिंग कर दीजिए. इसके ऊपर 2 छोटी चम्मच घी भी डाल दीजिए.

 

Samo Rice Dosa Recipe – Samavat Rice Dosa Recipe

व्रत के लिये खास उपयोग में आने वाले समा के चावल की खीर और खिचड़ी सभी ने चखी होगी पर समा के चावल से एक और डिश तैयार की जाती है – समा का दोसा जो खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होता है. सिंघाड़े के आटे और समा के चावल से बनाया जाने वाला व्रत के लिये खास समा का दोसा अन्य दोसा की तरह ही बेहद कुरकुरा और ज़ायकेदार होता है. फलाहारी नारियल की चटनी के साथ परोसे गये समा के दोसे का स्वाद और भी बड़ जाता है. आईये तैयार करते है व्रत के लिये समा का दोसा.

Samo Rice Dosa Recipe – Samavat Rice Dosa Recipe

निर्देश

तैयारी के लिए

समा के चावल को साफ करके, धोकर 2 घंटे के लिये पानी में भिगो दीजिये. चावल से अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये और चावल को मिक्सर में डालिये और 2-3 टेबल स्पून पानी डालकर चावल को पीस कर तैयार कर लीजिये.

samo rice dosa

बनाने की विधि

चावल के पेस्ट को प्याले में निकालिये और सिंघाड़े का आटा डालकर मिलाइये, बैटर गाढा़ है तो इसमें पानी डालिये और दोसे के लिये बैटर इतना पतला कर लीजिये कि उसे तवे पर आसानी से फैलाया जा सके.

samo rice dosaबैटर में सैंधा नमक, काली मिर्च, और थोड़ा सा हरा धनिया डालकर मिक्स कर लीजिये. बैटर को 15 -20 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये, ताकि ये फूल कर तैयार हो जाय.

samo rice dosaजब तक बैटर सैट होता है तब तक नारियल, दही, सैंधा नमक, काली मिर्च मिक्सर जार में डालकर बारीक होने तक पीस लीजिये. पेस्ट को प्याले में निकाल लीजिए.

samo rice dosaचटनी में तड़का लगाने के लिये तड़का पैन में घी डालकर गरम कर लीजिये, गरम घी में तिल डालकर, हल्के से भून लीजिये और तिल के भून जाने पर गैस बंद कर दीजिए.

samo rice dosaइस तड़के को चटनी में डालकर मिला दीजिये. व्रत के लिये नारियल की चटनी बनकर तैयार है.

samo rice dosa15-20 मिनिट बाद डोसे के लिए बैटर तैयार है. तवे को गरम कीजिये, घी लगाकर चिकना कर लीजिये, 1-1.5 चमचा बैटर डालिये और पतला दोसा फैलाइये, दोसे के चारों ओर थोड़ा थोड़ा घी डालिये, थोड़ा सा घी दोसे के ऊपर डालिये, दोसे को निचली सतह को हल्का ब्राउन होने तक सिकने दीजिये.

samo rice dosaडोसे के निचली सतह के सिकने पर दोसे को पलट दीजिये और दूसरी ओर भी गोल्डन ब्राउन होने तक सिकने दीजिये, दोसा सिक कर तैयार है, दोसे को उतार कर किसी प्लेट में बिछे फोइल पर रखें और सारे दोसे इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये. 1 डोसा बनने में लगभग 4-5 मिनिट का समय लग जाता है.

samo rice dosa

परोसिये

  • गरमा गरम फलाहारी समा के चावल के दोसे, फलाहारी नारियल कि चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

Samo Rice Dosa Recipe - Samavat Rice Dosa Recipe samo-rice-dosa
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • समा के चावल - 1 कप
  • सिंघाड़े का आटा - ½ कप
  • घी - 2 टेबल स्पून
  • सैंधा नमक - ½ छोटी चम्मच
  • साबुत काली मिर्च - ¼ छोटी चम्मच
  • हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • ताजा नारियल - 1 कप कद्दूकस किया हुआ
  • दही - ½ कप
  • सैंधा नमक - ¾ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • काली मिर्च पाउडर - ½ छोटी चम्मच
  • तिल - 1 छोटी चम्मच
  • घी - 1 छोटी चम्मच
Instructions
  1. समा के चावल को साफ करके, धोकर 2 घंटे के लिये पानी में भिगो दीजिये. चावल से अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये और चावल को मिक्सर में डालिये और 2-3 टेबल स्पून पानी डालकर चावल को पीस कर तैयार कर लीजिये.
  2. चावल के पेस्ट को प्याले में निकालिये और सिंघाड़े का आटा डालकर मिलाइये, बैटर गाढा़ है तो इसमें पानी डालिये और दोसे के लिये बैटर इतना पतला कर लीजिये कि उसे तवे पर आसानी से फैलाया जा सके.
  3. बैटर में सैंधा नमक, काली मिर्च, और थोड़ा सा हरा धनिया डालकर मिक्स कर लीजिये. बैटर को 15 -20 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये, ताकि ये फूल कर तैयार हो जाय.
  4. जब तक बैटर सैट होता है तब तक नारियल, दही, सैंधा नमक, काली मिर्च मिक्सर जार में डालकर बारीक होने तक पीस लीजिये. पेस्ट को प्याले में निकाल लीजिए.
  5. चटनी में तड़का लगाने के लिये तड़का पैन में घी डालकर गरम कर लीजिये, गरम घी में तिल डालकर, हल्के से भून लीजिये और तिल के भून जाने पर गैस बंद कर दीजिए.
  6. इस तड़के को चटनी में डालकर मिला दीजिये. व्रत के लिये नारियल की चटनी बनकर तैयार है.
  7. -20 मिनिट बाद डोसे के लिए बैटर तैयार है. तवे को गरम कीजिये, घी लगाकर चिकना कर लीजिये, 1-1.5 चमचा बैटर डालिये और पतला दोसा फैलाइये, दोसे के चारों ओर थोड़ा थोड़ा घी डालिये, थोड़ा सा घी दोसे के ऊपर डालिये, दोसे को निचली सतह को हल्का ब्राउन होने तक सिकने दीजिये.
  8. डोसे के निचली सतह के सिकने पर दोसे को पलट दीजिये और दूसरी ओर भी गोल्डन ब्राउन होने तक सिकने दीजिये, दोसा सिक कर तैयार है, दोसे को उतार कर किसी प्लेट में बिछे फोइल पर रखें और सारे दोसे इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये. 1 डोसा बनने में लगभग 4-5 मिनिट का समय लग जाता है.

 

Instant Lauki Halwa | दूधी का हलवा । Doodhi Halwa with Milk Powder | Bottle Gourd Halwa

लौकी का हलवा स्वाद में लाजवाब और स्वाद से भरपूर होता है. आप इस हलवे को किसी व्रत-उपवास के दौरान बहुत आसानी से झटपट से तैयार कर सकते हैं. ये मिठाई  बहुत आसानी से और कम समय में बन जाती है. अधिकतर लोग इस‌े दूधी भी कहते हैं. लौकी का हलवा बहुत स्वादिष्ट बनता है, इसे आप व्रत में भी बनाकर खा स‌कते हैं.लौकी का हलवा स्वाद के साथ साथ सेहत के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद होता है

Instant Lauki Halwa | दूधी का हलवा । Doodhi Halwa with Milk Powder | Bottle Gourd Halwa

निर्देश

तैयारी के लिए

हलवा बनाने के लिए, लौकी के डंठल को काटकर हटा दीजिए और इसे छीलिए. लौकी को 3-4 इंच के बड़े टुकड़ों में काट लीजिए. अब लौकी को साफ पानी से धो लीजिए. लौकी को चारों तरफ स‌े कद्दूकस कर लीजिए, इसके बीच के नरम भाग और बीज को हटा दीजिए.

milkpowder louki halwa20-25 काजू और बादाम को लम्बे लम्बे टुकड़ों मे काट कर तैयार कर लीजिए, काजू को भी इसी तरह लम्बाई में काटते हुए टुकड़े कर लीजिए और कुछ काजू को दो टुकड़े करते हुए काट लीजिए.

milkpowder louki halwa

इलायची को छीलकर इसके बीजों का पाउडर बना लीजिए.

milkpowder louki halwa

बनाने की विधि

पैन को गैस पर गरम कर दीजिए, और पैन में 1/2 कप घी डाल कर गरम होने दीजिए. घी के गरम होने पर इसमें कटे हुए काजू और बादाम डाल कर हल्का सा रोस्ट कर लीजिए. काजू के हल्का सा कलर बदल जाने पर काजू बादाम भून कर तैयार हैं, गैस बंद कर दीजिए और इन्हें प्याली में निकाल लीजिए.

milkpowder louki halwaअब गैस आॉन करें और बचे हुए घी में लौकी डाल दीजिए और लौकी को 2-3 मिनिट लगातार चलाते हुए भून लीजिए. 3 मिनिट बाद लौकी को ढक कर 5 मिनिट के लिए धीमी मध्यम आंच पर पकने दीजिए.

milkpowder louki halwa

5 मिनिट बाद लौकी को चैक कीजिए, लौकी को अच्छे से मिक्स कर दीजिए. लौकी हल्की सी पक चुकी है. अब लौकी को फिर से ढक कर 5 मिनिट के लिए पकने दीजिए.

milkpowder louki halwa

लौकी को चैक करें. लौकी पक कर तैयार है. लौकी में 1 कप चीनी डाल कर मिक्स कीजिए. और 2 मिनिट के लिए ढक कर पका लीजिए.

milkpowder louki halwa

2 मिनिट बाद लौकी चैक करें, लौकी में से काफी जूस निकल आया है. गैस धीमी कर लीजिए और लौकी में थोडा़-थोडा़ मिल्क पाउडर डाल कर अच्छे से मिक्स करें. 2-3 मिनिट तक पका लेने के बाद जूस काफी कम हो जाता है. अब इसमें भूने हुए काजू और बादाम डाल दीजिए और थोड़े से काजू बादाम बचा लीजिए. साथ ही इलायची पाउडर डाल कर मिक्स कर दीजिए. हलवा अच्छा गाढा़ बन कर तैयार है गैस बंद कर दीजिए और हलवे को प्याले में निकाल लीजिए. हलवा लगभग 20 मिनिट में बनकर तैयार हो जाता है.

milkpowder louki halwa

परोसिये

लौकी का स्वादिष्ट हलवा बनाकर तैयार है. हलवे के ऊपर बचा कर रखे भूने हुए काजू और बादाम डाल कर हलवे को सजा दीजिए.

सुझाव

  • लौकी का हलवा बनाने स‌े पहले एक बार लौकी को टेस्ट जरुर कर लीजिए, क्योंकि कभी-कभी लौकी कड़वी निकल जाती हैं. जिससे आपका हलवा कड़वा हो सकता है.
  • लौकी के बचे हुए पल्प को आप सूप बनाने के लिए उपयोग कर सकते हैं.
  • हलवा बनाने के लिए लौकी को उसी समय कद्दूकस कर के लीजिए. अगर आप लौकी को पहले से कद्दूकस करके रख देंगे तो वह काली हो जाएगी.

Instant Lauki Halwa | दूधी का हलवा milkpowder-louki-halwa
Author: 
Recipe type: Sweets
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • लौकी - 1 किलो
  • चीनी - 1 कप (250 ग्राम)
  • मिल्क पाउडर - 1 कप (200 ग्राम)
  • घी - ½ कप (100 ग्राम)
  • काजू - 20-25
  • बादाम -20-25
  • इलायची - 7
Instructions
  1. हलवा बनाने के लिए, लौकी के डंठल को काटकर हटा दीजिए और इसे छीलिए. लौकी को 3-4 इंच के बड़े टुकड़ों में काट लीजिए. अब लौकी को साफ पानी से धो लीजिए. लौकी को चारों तरफ स‌े कद्दूकस कर लीजिए, इसके बीच के नरम भाग और बीज को हटा दीजिए.
  2. -25 काजू और बादाम को लम्बे लम्बे टुकड़ों मे काट कर तैयार कर लीजिए, काजू को भी इसी तरह लम्बाई में काटते हुए टुकड़े कर लीजिए और कुछ काजू को दो टुकड़े करते हुए काट लीजिए.
  3. इलायची को छीलकर इसके बीजों का पाउडर बना लीजिए.
  4. पैन को गैस पर गरम कर दीजिए, और पैन में ½ कप घी डाल कर गरम होने दीजिए. घी के गरम होने पर इसमें कटे हुए काजू और बादाम डाल कर हल्का सा रोस्ट कर लीजिए. काजू के हल्का सा कलर बदल जाने पर काजू बादाम भून कर तैयार हैं, गैस बंद कर दीजिए और इन्हें प्याली में निकाल लीजिए.
  5. अब गैस आॉन करें और बचे हुए घी में लौकी डाल दीजिए और लौकी को 2-3 मिनिट लगातार चलाते हुए भून लीजिए. 3 मिनिट बाद लौकी को ढक कर 5 मिनिट के लिए धीमी मध्यम आंच पर पकने दीजिए.
  6. मिनिट बाद लौकी को चैक कीजिए, लौकी को अच्छे से मिक्स कर दीजिए. लौकी हल्की सी पक चुकी है. अब लौकी को फिर से ढक कर 5 मिनिट के लिए पकने दीजिए.
  7. लौकी को चैक करें. लौकी पक कर तैयार है. लौकी में 1 कप चीनी डाल कर मिक्स कीजिए. और 2 मिनिट के लिए ढक कर पका लीजिए.
  8. मिनिट बाद लौकी चैक करें, लौकी में से काफी जूस निकल आया है. गैस धीमी कर लीजिए और लौकी में थोडा़-थोडा़ मिल्क पाउडर डाल कर अच्छे से मिक्स करें. 2-3 मिनिट तक पका लेने के बाद जूस काफी कम हो जाता है. अब इसमें भूने हुए काजू और बादाम डाल दीजिए और थोड़े से काजू बादाम बचा लीजिए. साथ ही इलायची पाउडर डाल कर मिक्स कर दीजिए. हलवा अच्छा गाढा़ बन कर तैयार है गैस बंद कर दीजिए और हलवे को प्याले में निकाल लीजिए. हलवा लगभग 20 मिनिट में बनकर तैयार हो जाता है.

 

Aloo Tikki for Vrat | फराली आलू टिक्की | Potato Cutlet for Navratra

व्रत में आप आलू से बहुत सी चीजें बनाते होंगे, आलू के पकौड़े, आलू के फ्रैंच फ्राई, आलू के चिप्स इत्यादि पर आज हम आपके लिए व्रत में बनाई जाने वाली आलू टिक्की की रेसिपी लेकर आए हैं. कद्दूकस किए हुए आलू में सिंघाड़े का आटा मिक्स करके सैंधा नमक, काली मिर्च, अदरक मिलाकर स्वादिष्ट आलू टिक्की बनाई जाती है. आलू की टिक्की को घर पर बनाकर परिवार के स‌ाथ इसका स्वाद ले स‌कते हैं. आलू की टिक्की को झटपट बनाकर तैयार किया जा स‌कता है. आलू की टिक्की बाहर स‌े कुरकुरी और अंदर स‌े खाने में नरम होती है. बच्चों स‌े लेकर बड़ों तक को आलू की टिक्की बहुत पसंद करते हैं.

Aloo Tikki for Vrat | Potato Cutlet for Navratra

निर्देश

तैयारी के लिए

5 उबले हुए आलू छील कर ले लीजिए और इन्हें किसी बड़े प्याले में कद्दूकस कर लीजिए.

falahari aloo tikki

बनाने की विधि

कद्दूकस किए हुए आलू में 1 छोटी चम्मच, सैंधा नमक, दरदरी कुटी काली मिर्च, बारीक कटी हरी मिर्च, ½ इंच अदरक का टुकडा़ बारीक कटा हुआ, 1/4 कप सिंघाड़े का आटा, दरदरे भूने मूंगफली के दाने और बारीक कटा हरा धनिया डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिए.

falahari aloo tikkiहाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर मिश्रण में से थोड़ा सा मिश्रण निकाल लीजिए (टिक्की आप अपनी पसंद अनुसार बडी़ या छोटी जैसे चाहें बना सकते हैं).मिश्रण को हाथ में रखिये और गोल कर लीजिये, गोले को हथेली से दबाकर चपटा कर के टिक्की का शेप दे दीजिये. सभी गोले इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये.

falahari aloo tikkiटिक्की को शैलो फ्राय करने के लिए गैस पर पैन रखें और पैन में 2-3 टेबल स्पून घी डाल दीजिये, घी के गरम होने के बाद सारी टिक्की पैन पर सिकने के लिये लगा कर रख दीजिये, धीमी – मीडियम आग पर आलू टिक्की सेकिये, टिक्की नीचे से हल्की सी सिक चुकी है इसे पलट दीजिए और टिक्कियों को कलछी की सहायता से पलट-पलट कर, दोनों ओर से गोल्डन ब्राउन होने तक सिकने दीजिये. आलू की टिक्की तैयार हैं. इसे प्लेट में निकाल लीजिए. स्वादिष्ट आलू टिक्की बनकर तैयर है टिक्की को बनने में लगभग 12 मिनिट का समय लग जाता है.

falahari aloo tikki

परोसिये

गरमा गरम फलाहारी आलू की टिक्की बनकर के तैयार हैं. इन्हें सर्व करने के लिए दही, व्रत की हरे धनिये की चटनी, मूंगफली के दानों की फलाहारी चटनी के साथ सर्व कर सकते हैं.

falahari aloo tikki

सुझाव

  • मिर्च आप अपने स्वादानुसार कम या ज्यादा जैसी रखना चाहें रख सकते हैं.
  • सिंघाड़े के आटे के बदले कुट्टू का आटा लिया जा सकता है. अगर आप इसे व्रत के लिए नहीं बना रहे हैं तो अरारोट डाल सकते हैं.
  • मूंगफली के दाने अगर नहीं डालना चाहें तो हटा सकते हैं.
  • टिक्की को घी के बदले व्रत में खाने वाले किसी भी रिफाइंड तेल में बना सकते हैं.
  • व्रत में अगर आप बहुत कम मसाले खाते हैं तो सिर्फ काली मिर्च और सैंधा नमक से भी टिक्की बना कर खा सकते हैं.

Aloo Tikki for Vrat | फराली आलू टिक्की falahari-aloo-tikki
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • उबले हुए आलू - 5 (400 ग्राम)
  • सिंघाड़े का आटा - ¼ कप (50 ग्राम)
  • मूंगफली के दाने - ¼ कप (50 ग्राम) (दरदरे कुटे हुए)
  • हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • घी - 2-3 टेबल स्पून
  • अदरक - ½ छोटी चम्मच (बारीक कटी हुई)
  • हरी मिर्च - 1-2 (बारीक कटी हुई)
  • काली मिर्च - 8-10 (दरदरी कुटी हुई)
  • सैंधा नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
Instructions
  1. उबले हुए आलू छील कर ले लीजिए और इन्हें किसी बड़े प्याले में कद्दूकस कर लीजिए.
  2. कद्दूकस किए हुए आलू में 1 छोटी चम्मच, सैंधा नमक, दरदरी कुटी काली मिर्च, बारीक कटी हरी मिर्च, ½ इंच अदरक का टुकडा़ बारीक कटा हुआ, ¼ कप सिंघाड़े का आटा, दरदरे भूने मूंगफली के दाने और बारीक कटा हरा धनिया डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिए.
  3. हाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर मिश्रण में से थोड़ा सा मिश्रण निकाल लीजिए (टिक्की आप अपनी पसंद अनुसार बडी़ या छोटी जैसे चाहें बना सकते हैं).मिश्रण को हाथ में रखिये और गोल कर लीजिये, गोले को हथेली से दबाकर चपटा कर के टिक्की का शेप दे दीजिये. सभी गोले इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये.
  4. टिक्की को शैलो फ्राय करने के लिए गैस पर पैन रखें और पैन में 2-3 टेबल स्पून घी डाल दीजिये, घी के गरम होने के बाद सारी टिक्की पैन पर सिकने के लिये लगा कर रख दीजिये, धीमी - मीडियम आग पर आलू टिक्की सेकिये, टिक्की नीचे से हल्की सी सिक चुकी है इसे पलट दीजिए और टिक्कियों को कलछी की सहायता से पलट-पलट कर, दोनों ओर से गोल्डन ब्राउन होने तक सिकने दीजिये. आलू की टिक्की तैयार हैं. इसे प्लेट में निकाल लीजिए. स्वादिष्ट आलू टिक्की बनकर तैयर है टिक्की को बनने में लगभग 12 मिनिट का समय लग जाता है.
  5. गरमा गरम फलाहारी आलू की टिक्की बनकर के तैयार हैं. इन्हें सर्व करने के लिए दही, व्रत की हरे धनिये की चटनी, मूंगफली के दानों की फलाहारी चटनी के साथ सर्व कर सकते हैं.

 

Aloo Singhda Paratha for Navratri | फराली आलू परांठा । Farali Potato Paratha

व्रत के दौरान सिंघाड़े के आटे से बने आलू के परांठे स्वाद में लाजवाब होते हैं. आलू परांठों के साथ दही या रायता का स्वाद बेहद स्वादिष्ट लगता है. तो इस दौरान व्रत में हम आपके सामने स्वादिष्ट सिंघाड़े के आटे से बने आलू परांठे की रेसिपी ला रहे हैं.  आलू को आटे के साथ गुंथ कर आप इसे बहुत आसानी से बना कर तैयार कर सकते हैं.  तो चलिये बनाते हैं टेस्ट से भरपूर आलू सिंघाडा़ परांठा.

Aloo Singhda Paratha for Navratri | फराली आलू परांठा । Farali Potato Paratha

निर्देश

तैयारी के लिए

उबले आलू को छील लीजिए, और इसे कद्दूकस कर लीजिए.

aloo singhare parantha

बनाने की विधि

एक बड़े प्याले में 1 कप सिंघाड़े का आटा निकाल लीजिए. इसमें कद्दूकस किए हुए आलू डाल दीजिए. अब इसमें 1/2 छोटी चम्मच से थोडा़ सा ज्यादा सेंधा नमक, 2 बारीक कटी हरी मिर्च, 2 टेबल स्पून बारीक कटा हरा धनिया और 1 छोटी चम्मच घी डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिक्स करते हुए थोडा़ सख्त आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए.

aloo singhare paranthaआटे को ढककर 15-20 मिनिट के लिए रख दीजिए आटा सैट होकर तैयार हो जाएगा. इतना आटा लगाने में 1/4 कप पानी उपयोग किया था समें 2 चम्मच पानी बच गया. 20 मिनिट बाद आटा सैट होकर तैयार है, हाथ पर थोडा़ सा घी लगाकर आटे को मसल लीजिए.

aloo singhare paranthaगैस पर तवा गरम होने के लिए रखिये, आटे में से थोडा़ सा आटा तोड़ कर लोई बना लीजिए. लोई हथेली से दबाव देते हुए पेड़े का आकार दीजिए और इस पेड़े को सूखे सिंघाड़े के आटे में लपेट लीजिए.

aloo singhare paranthaपेड़े को चकले पर रखें और बेलन की सहायता से 3-4 इंच के व्यास में बेल लीजिए. अगर आटा चिपक रहा हो तो इसे फिर से सूखे आटे से लपेट कर बेल लीजिए. बेले गये परांठे के ऊपर थोडा़ सा घी लगाकर चारों ओर फैला दीजिए और आटे को आधा करते हुए फोल्ड कीजिए. परांठे पर फिर से थोडा़ तेल लगाकर उसे फिर से तिकोन आकार देते हुए फोल्ड कर लीजिए. हाथों ओर उंगलियों की सहायता से गोल कर के पेड़े का आकार दे दीजिए.

aloo singhare paranthaअब इस पेड़े को सूखे आटे में लपेट कर 5-6 इंच के व्यास में हल्का दबाव देते हुए थोड़ा सा मोटा परांठा बेल कर तैयार कर लीजिए.

aloo singhare paranthaतवा गरम होने पर, तवे पर थोड़ा सा घी लगाइये और बेला हुआ परांठा गरम तवे पर डाल दीजिए. गैस मीडियम कर दीजिए और परांठे को निचे की ओर से हल्का सा सिकने दीजिए.

aloo singhare paranthaपरांठा नीचे से सिकने पर पलटिये, दूसरी तरफ से सिकने पर ऊपर की ओर घी लगाइये और परांठे को पलट कर इस ओर भी घी लगाइये और सेकिये.

aloo singhare parantha

कलछी से चारों ओर हल्का दबाव देते हुये परांठे को दोनों तरफ अच्छी ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये. सिके हुए परांठे को किसी प्लेट पर रखी प्याली पर रख लीजिये. सारे परांठे इसी तरह बनाकर तैयार कर लीजिये. इतने आटे में लगभग 5 परांठे बनकर तैयार हो जाते हैं और एक परांठा सिकने में लगभग 5 से 6 मिनिट का समय लग जाता है. परांठों को प्याली से हटा कर प्लेट पर रख दीजिए.

aloo singhare parantha

परोसिये

आलू के गरमागरम स्वादिष्ट परांठों को आप हरे दही, व्रत वाले रायते या चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

सुझाव

  • आटा थोड़ा सख्त गूंथे क्योंकि आटे में आलू डालकर गूंथने पर आटा थोड़ा नरम हो जाता है.
  • परांठे को हल्के हाथों से दबाव देते हुए बेलें, धीमी मीडियम आंच पर परांठों को सेकें.

Aloo Singhda Paratha for Navratri | फराली आलू परांठा aloo-singhare-parantha
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • सिंघाड़े का आटा - 1 कप (150 ग्राम)
  • उबले हुए आलू - 2 (150 ग्राम)
  • घी - 2-3 टेबल स्पून
  • हरा धनिया - 2 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • हरी मिर्च - 2 (बारीक कटी हुई)
  • सेंधा नमक - ½ छोटी चम्मच से थोड़ा सा ज्यादा या स्वादानुसार
Instructions
  1. उबले आलू को छील लीजिए, और इसे कद्दूकस कर लीजिए.
  2. एक बड़े प्याले में 1 कप सिंघाड़े का आटा निकाल लीजिए. इसमें कद्दूकस किए हुए आलू डाल दीजिए. अब इसमें ½ छोटी चम्मच से थोडा़ सा ज्यादा सेंधा नमक, 2 बारीक कटी हरी मिर्च, 2 टेबल स्पून बारीक कटा हरा धनिया और 1 छोटी चम्मच घी डालकर सभी चीजों को अच्छे से मिक्स करते हुए थोडा़ सख्त आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए.
  3. आटे को ढककर 15-20 मिनिट के लिए रख दीजिए आटा सैट होकर तैयार हो जाएगा. इतना आटा लगाने में ¼ कप पानी उपयोग किया था समें 2 चम्मच पानी बच गया. 20 मिनिट बाद आटा सैट होकर तैयार है, हाथ पर थोडा़ सा घी लगाकर आटे को मसल लीजिए
  4. गैस पर तवा गरम होने के लिए रखिये, आटे में से थोडा़ सा आटा तोड़ कर लोई बना लीजिए. लोई हथेली से दबाव देते हुए पेड़े का आकार दीजिए और इस पेड़े को सूखे सिंघाड़े के आटे में लपेट लीजिए.
  5. पेड़े को चकले पर रखें और बेलन की सहायता से 3-4 इंच के व्यास में बेल लीजिए. अगर आटा चिपक रहा हो तो इसे फिर से सूखे आटे से लपेट कर बेल लीजिए. बेले गये परांठे के ऊपर थोडा़ सा घी लगाकर चारों ओर फैला दीजिए और आटे को आधा करते हुए फोल्ड कीजिए. परांठे पर फिर से थोडा़ तेल लगाकर उसे फिर से तिकोन आकार देते हुए फोल्ड कर लीजिए. हाथों ओर उंगलियों की सहायता से गोल कर के पेड़े का आकार दे दीजिए.
  6. अब इस पेड़े को सूखे आटे में लपेट कर 5-6 इंच के व्यास में हल्का दबाव देते हुए थोड़ा सा मोटा परांठा बेल कर तैयार कर लीजिए.
  7. तवा गरम होने पर, तवे पर थोड़ा सा घी लगाइये और बेला हुआ परांठा गरम तवे पर डाल दीजिए. गैस मीडियम कर दीजिए और परांठे को निचे की ओर से हल्का सा सिकने दीजिए.
  8. परांठा नीचे से सिकने पर पलटिये, दूसरी तरफ से सिकने पर ऊपर की ओर घी लगाइये और परांठे को पलट कर इस ओर भी घी लगाइये और सेकिये.
  9. कलछी से चारों ओर हल्का दबाव देते हुये परांठे को दोनों तरफ अच्छी ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये. सिके हुए परांठे को किसी प्लेट पर रखी प्याली पर रख लीजिये. सारे परांठे इसी तरह बनाकर तैयार कर लीजिये. इतने आटे में लगभग 5 परांठे बनकर तैयार हो जाते हैं और एक परांठा सिकने में लगभग 5 से 6 मिनिट का समय लग जाता है. परांठों को प्याली से हटा कर प्लेट पर रख दीजिए.

 

Samvat Rice Khichdi navratri Special | समा चावल खिचडी | Farali Samak or Morthan Khichdi

स‌मा के चावल का उपयोग मुख्यत: व्रत में किया जाता है, इससे कई तरह के स्वादिष्ट पकवान बना जाते हैं जैसे स‌मा के चावल की खीर, पुलाव, चकली इत्यादि इस स‌भी चीजों को हम व्रत में बना कर खा स‌कते हैं. आज हम व्रत में खाई जाने वाली स‌मा के चावल की खिचडी़ बना रहे हैं.  इसे बहुत आस‌ानी स‌े बनाया जा स‌कता है और यह स्वाद में भी बहुत लाजवाब होती है. तो चलिये बनाते हैं समा के चावल की स्वादिष्ट खिचडी़

Samvat Rice Khichdi navratri Special | समा चावल खिचडी | Farali Samak or Morthan Khichdi

निर्देश

तैयारी के लिए

समा के चावल को साफ कीजिये, अच्छी तरह धोइये और 30 मिनिट के लिये पानी में भिगो दीजिये. आधे घंटे बाद अतिरिक्त पानी हटाकर चावल ले लीजिए.

samo rice khichdiआलू को छीलकर धो लीजिए और छोटे छोटे टुकड़ों में काट लीजिए.

samo rice khichdi

बनाने की विधि

किसी बर्तन में 2 छोटे चम्मच घी डालकर गरम कीजिये. गरम घी में 1/2 छोटी चम्मच जीरा डाल कर भून लीजिए.

samo rice khichdiजीरा भून जाने पर इसमें बारीक कटी हरी मिर्च और दरदरी कुटी काली मिर्च डालकर 1-2 मिनिट हल्का सा भून लीजिए. फिर इसमें चावल डाल दीजिए और चावल को लगातार चलाते हुए 1-2 मिनिट भून लीजिए. इसके बाद इन चावल में 2 कप पानी और सेंधा नमक डाल कर अच्छे से मिक्स कर दीजिए. खिचड़ी़ को ढककर 3-4 मिनिट तक मध्यम आंच पर पकने दीजिए. बीच-बीच में खिचड़ी को चला दीजिए.

samo rice khichdiएक दूसरे पैन को गैस पर रखकर गरम कीजिए. पैन में 3-4 छोटे चम्मच घी डालकर गरम होने दीजिए. घी के गरम होने पर इसमें आलू डाल दीजिए. आलू को थोड़ा सा नरम और क्रिस्पी होने तक तलकर निकाल लीजिए. घी में मूंगफली के दाने डाल कर इन्हें भी भून लीजिए. मूंगफली के दाने भून कर तैयार है. चावलों को चैक कीजिए खिचड़ी अगर अधिक गाढ़ी लग रही हो तो, खिचड़ी़ में पानी डालने के लिए पौना कप पानी को मूंगफली के दानों के साथ डालकर उबाल लीजिए और फिर उबले हुए पानी और मूंगफली को खिचड़ी में डाल दीजिए. आप इसमें पानी की मात्रा अपने अनुसार कम या ज्यादा जैसी रखना चाहें रख सकते हैं. साथ ही फ्राय किए हुए आलू भी डालकर मिक्स कर दीजिए. खिचड़ी में थोड़ा सा हरा धनिया डालकर मिला दीजिए. सभी चीजें अच्छे से मिक्स हो जाने के बाद गैस बंद कर दीजिए.

samo rice khichdi

परोसिये

खिचड़ी़ को प्याले में निकाल लीजिए. खिचड़ी के ऊपर थोड़ा सा घी डाल दीजिए. घी डालने से खिचड़ी का स्वाद और भी बढ़ जाता है और थोड़ा सा हरा धनिया डालकर खिचड़ी को सजाएं. गरमागरम समा चावल की खिचड़ी बनकर तैयार है. खिचड़ी को आप दही, व्रत की चटनी, रायता या जिसके साथ चाहें परोस सकते हैं.

samo rice khichdi

सुझाव

  • खिचडी़ में घी की मात्रा आप अपने अनुसार कम या ज्यादा जैसी रखना चाहें रख सकते हैं.
  • जब खिचडी़ खुले बर्तन में बना रहे हों तो उसका ढक्कन पूरी तरह से न ढकें थोड़ा सा हटा कर ही रखें जिससे भाप निकल सके और खिचडी़ का पानी उफन कर बर्तन से बाहर न गिरे.

Samvat Rice Khichdi navratri Special | समा चावल खिचडी samo-rice-khichdi
Author: 
Recipe type: Miscellaneous
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • समा के चावल - ½ कप (100 ग्राम)
  • आलू - 2 (100 ग्राम)
  • मूंगफली के दाने - 2-3 टेबल स्पून
  • घी - 3-4 टेबल स्पून
  • हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • जीरा - ½ छोटी चम्मच
  • हरी मिर्च - 2 (बारीक कटी हुई)
  • काली मिर्च - 8-10 (दरदरी कुटी हुई)
  • सेंधा नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
Instructions
  1. समा के चावल को साफ कीजिये, अच्छी तरह धोइये और 30 मिनिट के लिये पानी में भिगो दीजिये. आधे घंटे बाद अतिरिक्त पानी हटाकर चावल ले लीजिए.
  2. आलू को छीलकर धो लीजिए और छोटे छोटे टुकड़ों में काट लीजिए.
  3. किसी बर्तन में 2 छोटे चम्मच घी डालकर गरम कीजिये. गरम घी में ½ छोटी चम्मच जीरा डाल कर भून लीजिए.
  4. जीरा भून जाने पर इसमें बारीक कटी हरी मिर्च और दरदरी कुटी काली मिर्च डालकर 1-2 मिनिट हल्का सा भून लीजिए. फिर इसमें चावल डाल दीजिए और चावल को लगातार चलाते हुए 1-2 मिनिट भून लीजिए. इसके बाद इन चावल में 2 कप पानी और सेंधा नमक डाल कर अच्छे से मिक्स कर दीजिए. खिचड़ी़ को ढककर 3-4 मिनिट तक मध्यम आंच पर पकने दीजिए. बीच-बीच में खिचड़ी को चला दीजिए.
  5. एक दूसरे पैन को गैस पर रखकर गरम कीजिए. पैन में 3-4 छोटे चम्मच घी डालकर गरम होने दीजिए. घी के गरम होने पर इसमें आलू डाल दीजिए. आलू को थोड़ा सा नरम और क्रिस्पी होने तक तलकर निकाल लीजिए. घी में मूंगफली के दाने डाल कर इन्हें भी भून लीजिए. मूंगफली के दाने भून कर तैयार है. चावलों को चैक कीजिए खिचड़ी अगर अधिक गाढ़ी लग रही हो तो, खिचड़ी़ में पानी डालने के लिए पौना कप पानी को मूंगफली के दानों के साथ डालकर उबाल लीजिए और फिर उबले हुए पानी और मूंगफली को खिचड़ी में डाल दीजिए. आप इसमें पानी की मात्रा अपने अनुसार कम या ज्यादा जैसी रखना चाहें रख सकते हैं. साथ ही फ्राय किए हुए आलू भी डालकर मिक्स कर दीजिए. खिचड़ी में थोड़ा सा हरा धनिया डालकर मिला दीजिए. सभी चीजें अच्छे से मिक्स हो जाने के बाद गैस बंद कर दीजिए
  6. खिचड़ी़ को प्याले में निकाल लीजिए. खिचड़ी के ऊपर थोड़ा सा घी डाल दीजिए. घी डालने से खिचड़ी का स्वाद और भी बढ़ जाता है और थोड़ा सा हरा धनिया डालकर खिचड़ी को सजाएं. गरमागरम समा चावल की खिचड़ी बनकर तैयार है. खिचड़ी को आप दही, व्रत की चटनी, रायता या जिसके साथ चाहें परोस सकते हैं.

 

Sabudana Sama ka Cheela Navratri Special | नवरात्रि के लिये फलाहारी चीला । Sago and Samak Cheela

फलाहारी चीला यानिकि व्रत के लिए चीला. समा के चावल और साबूदाना से बनने वाला यह चीला काफी क्रिस्पी और टेस्टी होता है. किसी भी व्रत में इस चीले का सेवन आप आराम से कर सकते हैं. स्वाद में बेहतरीन, इस हल्के फुल्के चीले को व्रत की मूंगफली के दानों की चटनी और हरे धनिये की चटनी के साथ सर्व कीजिए, लोग इसे मज़े से खाना पसंद करेंगे. फलाहारी चीला बनाने में बहुत ही आसान है, आइए देखते हैं, इसकी विधि.

Sabudana Sama ka Cheela Navratri Special | नवरात्रि के लिये फलाहारी चीला । Sago and Samak Cheela

निर्देश

तैयारी के लिए

साबूदाना और समा के चावल को धो लीजिए और दोनों को अलग-अलग प्याली में पानी में 3 घंटे के लिए भिगो दीजिए.

falahari cheela

बनाने की विधि

भीगे हुए साबूदाना और थोड़ा सा पानी मिक्सर में डालिए और साबूदाना बारीक पीस लीजिए. इसके बाद, पेस्ट को एक प्याले में निकाल लीजिए.

falahari cheelaसमा के चावल में से अतिरिक्त पानी हटाइए और इन्हें मिक्सर जार में डाल दीजिए. समां के चावलों को हल्का दरदरा पीस लीजिए. इन चावलों को भी पिसे हुए साबूदाना के साथ डाल दीजिए.

falahari cheelaचावल और साबूदाना के मिश्रण को मिला लीजिए. फिर इस मिश्रण में सेन्धा नमक, हरी मिर्च, हरा धनिया और जीरा डाल दीजिए. सारी सामग्रियों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए. इसमें थोड़ा सा पानी डालकर बैटर की कन्सिस्टेन्सी पतली एकदम चम्मच से गिराने वाली कनिस्टेन्सी जैसी कर लीजिए. इतना बैटर बनाने के लिए 1 कप पानी का इस्तेमाल हुआ है.

falahari cheelaगैस जलाकर तवा गरम कीजिए. इस पर थोड़ा सा तेल डालकर सभी तरफ फैला लीजिए. गैस धीमी कर दीजिए ताकि तवा थोड़ा सा ठंडा हो जाए. तवे पर से अतिरिक्त तेल टिशू पेपर से पौंछ लीजिए.

falahari cheelaतवा हल्का गरम है. तवे पर 2 से 3 टेबल स्पून बैटर डाल दीजिए और चीले को चमच़े से गोल-गोल घुमाते हुए फैला दीजिए. इसके बाद, आंच़ तेज कर लीजिए और चीले के चारों ओर तथा बीच में थोड़ा-थोड़ा तेल डाल दीजिए और सब तरफ चमचे से दबाकर एक जैसा कर दीजिए.

falahari cheelaचीले को नीचे की ओर से गोल्डन ब्राउन होने पर पलट दीजिए और दूसरी तरफ से हल्की चित्ती आने तक चमचे से दबा-दबाकर सेक लीजिए. चीले के सिक जाने के बाद इसे एक प्लेट में निकाल लीजिए.

falahari cheelaफिर से गैस कम कर दीजिए और तवे पर थोड़ा सा पानी डालिए और गीले कपड़े से पौंछकर इसे ठंडा कर लीजिए तथा दूसरा चीला भी बिल्कुल इसी तरह फैला दीजिए.

falahari cheelaचीले को एक अलग तरीके से बनाने के लिए, बैटर में ½ से ¾ कप पानी डालकर इसेे एकदम पतली कन्सिस्टेन्सी वाला बना लीजिए. फिर तवे पर पतला चीला फैला दीजिए. गैस तेज कर दीजिए और इसके चारों ओर और चीले के ऊपर तेल डालकर फैला दीजिए. इसे नीचे की ओर से गोल्ड्न ब्राउन होने तक सिकने दीजिए.

falahari cheela

जब भी दोबारा चीला बनाएं, तो घोल को चमचे से ज़रूर चला लीजिए ताकि चावल का आटा तले पर जाकर बैठ जाता है. चीला को दोबारा से फैलाइए. इतने बैटर में 6 से 7 चीले बनकर तैयार हो जाते हैं.

परोसिए

व्रत के लिए करारे-करारे चीले बनकर तैयार हैं. इन्हें गरमागरम हरे धनिये और मूंगफली के दाने की फलाहारी चटनी के साथ सर्व कीजिए, सभी मज़े से खाएंगे.

सुझाव

  • चीला आप अपनी पसंदानुसार थोड़ा सा बड़ा या छोटा बना सकते हैं.
  • पतले चीले फैलाने के लिए तवे को ठंडा करना आवश्यक है.

Sabudana Sama ka Cheela Navratri Special | नवरात्रि के लिये फलाहारी चीला - falahari-cheela
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • समा के चावल- 1 कप (200 ग्राम) (भीगे हुए)
  • साबूदाना- ¼ कप (50 ग्राम) (भीगे हुए)
  • तेल- 3 से 4 टेबल स्पून
  • हरा धनिया- 2 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • हरी मिर्च- 2 (बारीक कटी हुई)
  • सेन्धा नमक- ¾ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • जीरा- ½ छोटी चम्मच
Instructions
  1. साबूदाना और समा के चावल को धो लीजिए और दोनों को अलग-अलग प्याली में पानी में 3 घंटे के लिए भिगो दीजिए.
  2. भीगे हुए साबूदाना और थोड़ा सा पानी मिक्सर में डालिए और साबूदाना बारीक पीस लीजिए. इसके बाद, पेस्ट को एक प्याले में निकाल लीजिए.
  3. समा के चावल में से अतिरिक्त पानी हटाइए और इन्हें मिक्सर जार में डाल दीजिए. समां के चावलों को हल्का दरदरा पीस लीजिए. इन चावलों को भी पिसे हुए साबूदाना के साथ डाल दीजिए.
  4. चावल और साबूदाना के मिश्रण को मिला लीजिए. फिर इस मिश्रण में सेन्धा नमक, हरी मिर्च, हरा धनिया और जीरा डाल दीजिए. सारी सामग्रियों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए. इसमें थोड़ा सा पानी डालकर बैटर की कन्सिस्टेन्सी पतली एकदम चम्मच से गिराने वाली कनिस्टेन्सी जैसी कर लीजिए. इतना बैटर बनाने के लिए 1 कप पानी का इस्तेमाल हुआ है.
  5. गैस जलाकर तवा गरम कीजिए. इस पर थोड़ा सा तेल डालकर सभी तरफ फैला लीजिए. गैस धीमी कर दीजिए ताकि तवा थोड़ा सा ठंडा हो जाए. तवे पर से अतिरिक्त तेल टिशू पेपर से पौंछ लीजिए.
  6. तवा हल्का गरम है. तवे पर 2 से 3 टेबल स्पून बैटर डाल दीजिए और चीले को चमच़े से गोल-गोल घुमाते हुए फैला दीजिए. इसके बाद, आंच़ तेज कर लीजिए और चीले के चारों ओर तथा बीच में थोड़ा-थोड़ा तेल डाल दीजिए और सब तरफ चमचे से दबाकर एक जैसा कर दीजिए
  7. चीले को नीचे की ओर से गोल्डन ब्राउन होने पर पलट दीजिए और दूसरी तरफ से हल्की चित्ती आने तक चमचे से दबा-दबाकर सेक लीजिए. चीले के सिक जाने के बाद इसे एक प्लेट में निकाल लीजिए.
  8. फिर से गैस कम कर दीजिए और तवे पर थोड़ा सा पानी डालिए और गीले कपड़े से पौंछकर इसे ठंडा कर लीजिए तथा दूसरा चीला भी बिल्कुल इसी तरह फैला दीजिए.
  9. चीले को एक अलग तरीके से बनाने के लिए, बैटर में ½ से ¾ कप पानी डालकर इसेे एकदम पतली कन्सिस्टेन्सी वाला बना लीजिए. फिर तवे पर पतला चीला फैला दीजिए. गैस तेज कर दीजिए और इसके चारों ओर और चीले के ऊपर तेल डालकर फैला दीजिए. इसे नीचे की ओर से गोल्ड्न ब्राउन होने तक सिकने दीजिए.

 

Spicy Amla Chutney Recipe | आंवला की तीखी चटनी । Spicy Indian Goosberry Chutney

चटनी का स्वाद सभी को पसंद आता है, फिर चाहे वो आम की हो, धनिये की या पुदीने की पर आज हम आपके लिए आंवला तीखी की चटनी लेकर आए हैं. आंवला में धनिया, हरी मिर्च और मसालों का स्वाद आपको ज़रूर पसंद आएगा. आंवला से बनी इस चटनी का ज़ायका बड़ा ही दिलचस्प होता है. इस चटनी को आप कचौड़ी, समोसे, पकौड़े या भोजन के साथ सर्व कर सकते हैं. आप चाहें तो परांठे के या पूरी के साथ भी इस चटनी का स्वाद चख सकते हैं.

Spicy Amla Chutney Recipe | आंवला की तीखी चटनी । Spicy Indian Goosberry Chutney

निर्देश

बनाने की विधि

100 ग्राम आंवलों को अच्छे से धोकर सुखा कर ले लीजिए और इन्हें काट कर इनका पल्प निकाल लीजिए और बीज निकाल कर अलग कर लीजिए.

amla tikhi chutney

तैयारी के लिए

100 ग्राम धनिया को साफ करके इसकी मोटी डंडियां हटा लीजिए और अच्छे से धोकर सुखा कर इसे बारीक काट लीजिए.

amla tikhi chutney

कटे हुए आंवला और हरा धनिया को मिक्स जार में डाल दीजिए, हरी मिर्च को भी दो टुकड़ों में करते हुए जार में डाल दीजिए. फिर इसमें नमक, जीरा, हींग, काली मिर्च और 3-4 टेबल स्पून पानी डालकर पेस्ट बना लीजिए.

amla tikhi chutney

चटनी को प्याले में निकाल लीजिए. आंवले की तीखी स्वादिष्ट चटनी बनकर तैयार है.

amla tikhi chutney

परोसिये

स्वाद से भरपूर आंवला की तीखी चटनी को आप समोसे, कचौरी, पकौड़े या जिसके साथ आपको पसंद हो इसे परोसिये और खाइये आंवले की चटनी को फ्रिज में रख कर 6-7 दिन तक खाने के लिए उपयोग कर सकते हैं.

सुझाव

  • चटनी में मिर्च आप अपनी पसंद अनुसार कम या ज्यादा कर सकते हैं.

Spicy Amla Chutney Recipe | आंवला की तीखी चटनी amla-tikhi-chutney
Author: 
Recipe type: Chutney
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • Green Coriander - 100 gms
  • Amla - 100 gms
  • Black pepper seeds - 10
  • Asafoetida - 1 pinch
  • Cumin seeds - ½ tsp
  • Salt - 1 tsp or to taste
  • Green chili - 4
Instructions
  1. Take 100 gms amla. Cut off the pulp from the amlas and remove the seeds.Repeat the same procedure with the rest of the amlas as well.
  2. Roughly chop 100 gms coriander, Remove the stalk, wash them twice with water and place in sieve to dry. Then make a bunch then cut it, gather again then chop coarsely.
  3. To make chutney place amla chunks and coriander leaves in a mixture jar. Cut 4 green chilies into two halves and put too. Add 1 tsp salt or as per taste, ½ tsp cumin seeds, 1 pinch asafoetida, 10 black peppercorns and 3 to 4 tbsp water to grind the chutney.
  4. Transfer the chutney from the jar onto the bowl. Spicy and flavorful chutney is ready.

 

Samosa Recipe – Aloo Samosa Striped- खस्ता लहरिया आलू समोसा – Crispy & Spicy Samosa

सादे समोसों को थोड़ा अलग रूप देकर बनाया जाए, तो स्वाद के साथ-साथ दिखने में भी आकर्षक लगते हैं. आज हम इसी प्रकार के समोसे यानिकि स्ट्राइप्ड समोसा की रेसिपी लाए हैं, जिसे बनाना बेहद आसान है. गरमागरम स्ट्राइप्ड समोसे हरे धनिये की चटनी, सॉस या किसी भी पसंदीदा चटनी के साथ मेहमानों को सर्व कर दीजिए, सभी आपकी तारीफें करते नही थकेंगे. आइए बनाना शुरू करते हैं स्वाद और सूरत दोनों में ही शानदार स्ट्राइप्ड समोसे.

Samosa Recipe – Aloo Samosa Striped- खस्ता लहरिया आलू समोसा – Crispy & Spicy Samosa

तैयारी के लिए

पैन गरम करके घी को पिघला लीजिए.

उबले आलू को छीलकर एक प्याले में रख लीजिए.

बनाने की विधि

समोसे बनाने की शुरूआत आटा गूथने से कीजिए. एक बड़े प्याल में मैदा लीजिए और इसमें ½ छोटी चम्मच नमक, अज़वाइन (हल्की से मसलकर) और पिघला हुआ घी डाल दीजिए और मिक्स कर लीजिए. इसमें थोड़ा थोड़ा पानी डालते हुए सख्त आटा गूंथकर तैयार कर लीजिए. इतना आटा गूंथने में आधा कप पानी का इस्तेमाल हुआ है. आटे को ढककर 20 से 25 मिनिट के लिए सैट होने रख दीजिए.

striped samosaइसी बीच, समोसों के लिए स्टफिंग तैयार कर लीजिए. पैन गरम कीजिए और इसमें 1 टेबल स्पून तेल डाल दीजिए. इसे अच्छे से गरम होने दीजिए और फिर, तेल में जीरा पाउडर, धनिया पाउडर, हल्दी पाउडर, अदरक का पेस्ट और हरी मिर्च डाल दीजिए. मसाले को जरा सा भून लीजिए. गैस को धीमी रखिए ताकि मसाले जले ना.

striped samosaपैन में मटर के दाने डाल दीजिए और थोड़ा सा भून लीजिए. मटर को नरम होने तक पका लीजिए. मटर को 2 से 3 मिनिट तक ढककर रख दीजिए और आंच धीमी रखिए.

striped samosa3 मिनिट बाद, मटर को चमचे से दबाकर चैक कर लीजिए कि नरम हुई या नही. अब, पैन में आलू को बारीक तोड़ते हुए डाल दीजिए.

striped samosaइसमें गरम मसाला, लाल मिर्च पाउडर, अमचूर पाउडर, नमक और हरा धनिया डाल दीजिए और सारी सामग्रियों को अच्छे तरीके से मिलने तक मिक्स कर लीजिए. सभी सामग्रियों को लगातार चलाते हुए पूरे 3 से 4 मिनिट भून लिया है. स्टफिंग बनकर तैयार है. स्टफिंग को प्लेट में निकाल लीजिए.

striped samosa20 मिनिट खत्म हो गए हैं और आटा भी तैयार है. हाथ को थोड़े से तेल से चिकना कर लीजिए और आटे को मसलकर चिकना कर लीजिए. आटे से लोइयां तोड़ लीजिए. समोसे अपने पसंदानुसार साइज के थोड़े छोटे या बड़े बना सकते हैं.

striped samosaलोइयां बनाने के बाद, समोसे के लिए पूरी बेल लीजिए. चकले को थोड़े से तेल से चिकना कर लीजिए. एक लोई उठाइए और इसे मसलकर गोल बना लीजिए. लोई को चकले पर रखकर बेलन से थोड़ा सा ओवल आकार और चपाती जितना पतला बेल लीजिए.

striped samosaइसे 2 बराबर भागों में काट लीजिए. हम स्ट्राइप्ड समोसा बना रहे हैं, इसलिए एक भाग पर किनारों से ½ से.मी़. छोड़कर ½-1/2 से. मी़ की दूरी पर चाकू से कट्स लगा दीजिए.

striped samosaकट्स लगे हुए भाग पर थोड़ा सा पानी लगाइए और सादी पूरी को इसके ऊपर चिपका दीजिए. इसे थोड़ा सा बेलन से बेल लीजिए ताकि ये आपस में अच्छी तरह चिपक जाए.

striped samosaशीट उठाकर हाथ पर रखिए और सादे समोसे की तरह ही कोन बना लीजिए. इसके किनारों पर पानी लगाइए और कोन की तरह फोल्ड कर दोनों किनारों को चिपका दीजिए. एक के ऊपर एक किनारे रखते हुए हाथ से दबाकर पूरी लंबाई में चिपका दीजिए. कोन तैयार हैं.

striped samosaतैयार कोन में स्टफिंग भरना शुरू कीजिए. स्टफिंग को पूरा दबाकर अच्छे से भर लीजिए. इसके बाद, चारों ओर थोड़ा सा पानी लगा लीजिए और समोसे को चिपका दीजिए. समोसा बनाकर तैयार है. इसे प्लेट में रख लीजिए और सारे समोसे इसी तरह भरकर तैयार कर लीजिए.

striped samosaइसी दौरान, गैस पर कढ़ाई में तेल गरम होने रख दीजिए. तेल चैक कर लीजिए. इसके लिए कढ़ाई में जरा सा आटा तोड़कर डाल दीजिए. आटा सिक रहा है, धीरे-धीरे ऊपर आ रहा है, तो तेल पर्याप्त गरम है. समोसे तलने के लिए हल्का गरम तेल चाहिए और गैस भी धीमी होनी चाहिए.

striped samosaगरम तेल में समोसे तलने के लिए डाल दीजिए और धीमी आग पर अच्छा गोल्डन ब्राउन होने तक समोसों को सिकने दीजिए. नीचे से हल्का सा सिक जाने पर समोसों को पलट दीजिए. तले हुए समोसों को प्लेट में निकाल लीजिए. इन्हें निकालने के लिए समोसा सहित कलछी को कढ़ाई के किनारे पर हल्का तिरछा करके थोड़ी देर रोक लीजिए ताकि इसमें से अतिरिक्त तेल कढ़ाई में ही वापस चला जाए. सभी समोसों को इसी प्रकार तलकर तैयार कर लीजिए. एक बार के समोसे तलने में तकरीबन 15 से 16 मिनिट लग जाते है.

striped samosa

परोसिए

स्वाद से भरपूर क्रिस्पी स्ट्राइप्ड समोसे बनकर तैयार हैं. इन्हें आप हरे धनिये की चटनी या टमेटो सॉस या अपनी मनपसंद चटनी के साथ परोस सकते हैं.

striped samosa

सुझाव

  • जीरा पाउडर न हो, तो जीरे को दरदरा कूटकर भी लिया जा सकता है.
  • समोसे का कोन बनाते समय ध्यान रखें कि यह अच्छी तरह से चिपके हो.
  • समोसे को भरने के बाद किनारों को अच्छे से बंद करें.
  • समोसों को बनाने के बाद आधे घंटे के लिए खुश्क होने रख दीजिए और फिर फ्राय कीजिए. समोसे सूखने के बाद, इस पर बब्बल्स नही पड़ते.
  • समोसों को हल्के गरम तेल और धीमी आग पर ही तलें.
  • समोसों को अच्छा गोल्डन ब्राउन होने के बाद ही कढ़ाई से निकालें.

Aloo Samosa Striped- खस्ता लहरिया आलू समोसा striped-samosa
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • मैदा- 2 कप (250 ग्राम)
  • नमक- 1 छोटी चम्मच नमक या स्वादानुसार
  • अजवाइन- ¼ छोटी चम्मच
  • घी- ¼ कप (60 ग्राम) (पिघला हुआ)
  • जीरा पाउडर- ½ छोटी चम्मच
  • धनिया पाउडर- 1 छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर- ¼ छोटी चम्मच
  • अदरक का पेस्ट- 1 छोटी चम्मच
  • हरी मिर्च- 2 (बारीक कटी हुई)
  • मटर के दाने- ½ कप
  • आलू- 4 (300 ग्राम) (उबले हुए)
  • गरम मसाला- ¼ छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर- ¼ छोटी चम्मच
  • अमचूर पाउडर- ¼ छोटी चम्मच
  • हरा धनिया- 2 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • तेल- तलने के लिए
Instructions
  1. पैन गरम करके घी को पिघला लीजिए.
  2. उबले आलू को छीलकर एक प्याले में रख लीजिए.
  3. समोसे बनाने की शुरूआत आटा गूथने से कीजिए. एक बड़े प्याल में मैदा लीजिए और इसमें ½ छोटी चम्मच नमक, अज़वाइन (हल्की से मसलकर) और पिघला हुआ घी डाल दीजिए और मिक्स कर लीजिए. इसमें थोड़ा थोड़ा पानी डालते हुए सख्त आटा गूंथकर तैयार कर लीजिए. इतना आटा गूंथने में आधा कप पानी का इस्तेमाल हुआ है. आटे को ढककर 20 से 25 मिनिट के लिए सैट होने रख दीजिए.
  4. इसी बीच, समोसों के लिए स्टफिंग तैयार कर लीजिए. पैन गरम कीजिए और इसमें 1 टेबल स्पून तेल डाल दीजिए. इसे अच्छे से गरम होने दीजिए और फिर, तेल में जीरा पाउडर, धनिया पाउडर, हल्दी पाउडर, अदरक का पेस्ट और हरी मिर्च डाल दीजिए. मसाले को जरा सा भून लीजिए. गैस को धीमी रखिए ताकि मसाले जले ना.
  5. पैन में मटर के दाने डाल दीजिए और थोड़ा सा भून लीजिए. मटर को नरम होने तक पका लीजिए. मटर को 2 से 3 मिनिट तक ढककर रख दीजिए और आंच धीमी रखिए.
  6. मिनिट बाद, मटर को चमचे से दबाकर चैक कर लीजिए कि नरम हुई या नही. अब, पैन में आलू को बारीक तोड़ते हुए डाल दीजिए.
  7. इसमें गरम मसाला, लाल मिर्च पाउडर, अमचूर पाउडर, नमक और हरा धनिया डाल दीजिए और सारी सामग्रियों को अच्छे तरीके से मिलने तक मिक्स कर लीजिए. सभी सामग्रियों को लगातार चलाते हुए पूरे 3 से 4 मिनिट भून लिया है. स्टफिंग बनकर तैयार है. स्टफिंग को प्लेट में निकाल लीजिए.
  8. मिनिट खत्म हो गए हैं और आटा भी तैयार है. हाथ को थोड़े से तेल से चिकना कर लीजिए और आटे को मसलकर चिकना कर लीजिए. आटे से लोइयां तोड़ लीजिए. समोसे अपने पसंदानुसार साइज के थोड़े छोटे या बड़े बना सकते हैं.
  9. लोइयां बनाने के बाद, समोसे के लिए पूरी बेल लीजिए. चकले को थोड़े से तेल से चिकना कर लीजिए. एक लोई उठाइए और इसे मसलकर गोल बना लीजिए. लोई को चकले पर रखकर बेलन से थोड़ा सा ओवल आकार और चपाती जितना पतला बेल लीजिए.
  10. इसे 2 बराबर भागों में काट लीजिए. हम स्ट्राइप्ड समोसा बना रहे हैं, इसलिए एक भाग पर किनारों से ½ से.मी़. छोड़कर ½-1/2 से. मी़ की दूरी पर चाकू से कट्स लगा दीजिए.
  11. कट्स लगे हुए भाग पर थोड़ा सा पानी लगाइए और सादी पूरी को इसके ऊपर चिपका दीजिए. इसे थोड़ा सा बेलन से बेल लीजिए ताकि ये आपस में अच्छी तरह चिपक जाए.
  12. शीट उठाकर हाथ पर रखिए और सादे समोसे की तरह ही कोन बना लीजिए. इसके किनारों पर पानी लगाइए और कोन की तरह फोल्ड कर दोनों किनारों को चिपका दीजिए. एक के ऊपर एक किनारे रखते हुए हाथ से दबाकर पूरी लंबाई में चिपका दीजिए. कोन तैयार हैं.
  13. तैयार कोन में स्टफिंग भरना शुरू कीजिए. स्टफिंग को पूरा दबाकर अच्छे से भर लीजिए. इसके बाद, चारों ओर थोड़ा सा पानी लगा लीजिए और समोसे को चिपका दीजिए. समोसा बनाकर तैयार है. इसे प्लेट में रख लीजिए और सारे समोसे इसी तरह भरकर तैयार कर लीजिए.
  14. इसी दौरान, गैस पर कढ़ाई में तेल गरम होने रख दीजिए. तेल चैक कर लीजिए. इसके लिए कढ़ाई में जरा सा आटा तोड़कर डाल दीजिए. आटा सिक रहा है, धीरे-धीरे ऊपर आ रहा है, तो तेल पर्याप्त गरम है. समोसे तलने के लिए हल्का गरम तेल चाहिए और गैस भी धीमी होनी चाहिए.
  15. गरम तेल में समोसे तलने के लिए डाल दीजिए और धीमी आग पर अच्छा गोल्डन ब्राउन होने तक समोसों को सिकने दीजिए. नीचे से हल्का सा सिक जाने पर समोसों को पलट दीजिए. तले हुए समोसों को प्लेट में निकाल लीजिए. इन्हें निकालने के लिए समोसा सहित कलछी को कढ़ाई के किनारे पर हल्का तिरछा करके थोड़ी देर रोक लीजिए ताकि इसमें से अतिरिक्त तेल कढ़ाई में ही वापस चला जाए. सभी समोसों को इसी प्रकार तलकर तैयार कर लीजिए. एक बार के समोसे तलने में तकरीबन 15 से 16 मिनिट लग जाते है.