भुने हुये नमकीन बादाम | Roasted & Salted Almonds | Salted and Roasted almonds in a pan

नमकीन बादाम खाली बैठे-बैठे खाने या स्नैक्स की तरह चाय, या कोल्ड ड्रिंक के साथ खाने में बड़े ही अच्छे लगते हैं चाहे तले हुए हो या भुने हुए. भुने हुए बादाम मार्केट में मिल जाते हैं लेकिन आप इसे घर पर भी कढ़ाही में कुछ ही मिनिटों में भूनकर तैयार कर सकते हैं. भुने हुए नमकीन बादाम स्वास्थ्य के लिए भी बेहतर रहते हैं. ये खासतौर पर उन्हें अधिक पसंद आते हैं, जो तले हुए बादाम आदि से परहेज करते हैं. भुने हुए नमकीन बादाम को आप लंबे समय तक स्टोर करके भी रख सकते हैं.

Roasted & Salted Almonds | भुने हुये नमकीन बादाम । Salted and Roasted almonds in a pan

निर्देश

बनाने की विधि
प्याली में ½ छोटी चम्मच नमक लीजिए. इसमें 2 छोटी चम्मच पानी डालिए और नमक को अच्छे से घोल लीजिए. इस नमक वाले पानी को बादाम के ऊपर डालकर अच्छे से मिला लीजिए.

salted roasted almonds

एक भारी तले की कढ़ाही गरम होने रख दीजिए. इसमें 2 कप नमक (यूज किया हुआ नमक) डाल दीजिए और 5 मिनिट तक गरम कीजिए. इसको एक-एक मिनिट में चलाते रहिए ताकि नमक ऊपर तक अच्छे से गरम हो जाए. नमक का पानी मिले हुए बादाम को भी एक-एक मिनिट में चलाते रहिए ताकि जो पानी नीचे बैठ गया है, वो भी अच्छे से बादाम में मिल जाए.

salted roasted almonds

नमक के अच्छे से गरम हो जाने पर बादाम इसमें डाल दीजिए. इन्हें लगातार चलाते हुए 3 मिनिट भून लीजिए. आंच मध्यम रखिए.

salted roasted almonds

3 मिनिट बाद, बादाम के फूलने और अच्छी सी खुशबू आने पर बादाम भुनकर तैयार हैं. इन्हें छानकर एक अलग प्लेट में रख लीजिए और ठंडा होने दीजिए. इन बादाम को भूनने में 3 मिनिट लगे हैं.

salted roasted almonds

परोसिए
एकदम क्रिस्पी और टेस्टी नमकीन बादाम तैयार हैं. इन्हें पूरी तरह से ठंडा होने के बाद एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिए और जब आपका मन करे, तब इन्हें निकालकर खाइए.

सुझाव

  • इस नमक को आप फिर से यूज कर सकते है और चाहे तो पहले से केक को बेक करने के लिए यूज किया हुआ नमक भी इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • बादाम के ऊपर ज्यादा नमक लग रहा है, तो इसे हटाने के लिए बादाम को झाड़ सकते हैं या कपड़े से पौंछ भी सकते हैं.
  • बादाम भूनने के लिए भारी तले की कढ़ाही ही लें.
  • नमक को पूरी तरह से गरम करें. नमक को ज्यादा ना भूनें वरना ये जल सकते हैं.

Roasted & Salted Almonds | भुने हुये नमकीन बादाम | Salted and Roasted almonds in a pan
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 3
 
Ingredients
  • बादाम- 1 कप (200 ग्राम)
  • नमक- ½ छोटी चम्मच
  • नमक- 2 कप (बादाम भूनने के लिए)
Instructions
  1. प्याली में ½ छोटी चम्मच नमक लीजिए. इसमें 2 छोटी चम्मच पानी डालिए और नमक को अच्छे से घोल लीजिए. इस नमक वाले पानी को बादाम के ऊपर डालकर अच्छे से मिला लीजिए.
  2. एक भारी तले की कढ़ाही गरम होने रख दीजिए. इसमें 2 कप नमक (यूज किया हुआ नमक) डाल दीजिए और 5 मिनिट तक गरम कीजिए. इसको एक-एक मिनिट में चलाते रहिए ताकि नमक ऊपर तक अच्छे से गरम हो जाए. नमक का पानी मिले हुए बादाम को भी एक-एक मिनिट में चलाते रहिए ताकि जो पानी नीचे बैठ गया है, वो भी अच्छे से बादाम में मिल जाए.
  3. नमक के अच्छे से गरम हो जाने पर बादाम इसमें डाल दीजिए. इन्हें लगातार चलाते हुए 3 मिनिट भून लीजिए. आंच मध्यम रखिए.
  4. मिनिट बाद, बादाम के फूलने और अच्छी सी खुशबू आने पर बादाम भुनकर तैयार हैं. इन्हें छानकर एक अलग प्लेट में रख लीजिए और ठंडा होने दीजिए. इन बादाम को भूनने में 3 मिनिट लगे हैं.
  5. एकदम क्रिस्पी और टेस्टी नमकीन बादाम तैयार हैं. इन्हें पूरी तरह से ठंडा होने के बाद एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिए और जब आपका मन करे, तब इन्हें निकालकर खाइए.

 

मक्की की रोटी आसानी से बनाइये | Makki ki Roti । Makki di Roti easy recipe

मक्की की रोटी सभी को बेहद स्वादिष्ट लगती हैं. सर्दियों के समय में मक्की का आटा बाजार में आसानी से उपलब्ध रहता है. अक्सर लोग इन स्वादिष्ट रोटियों को सरसों के साग और हरे मटर की दाल के साथ बनाया करते हैं. पारंपरिक तौर पर ये रोटियां हाथ से पोकर बनाई जाती है. लेकिन आजकल लोगों को इस तरह रोटियां बनाने में काफी दिक्कत आती है. आज हम इसकी सरल सी विधि लाएं हैं. आप इस तरीके से मक्की की रोटी आसानी से बनाइये, आपकी रोटियां कही से ना तो कटेंगी, न ही फटेंगी.

Makki ki Roti | मक्के की रोटी आसानी से बनाईये । Makki di Roti easy recipe

निर्देश

बनाने की विधि
बड़े प्याले में 2 कप मक्की का आटा लीजिए. इसमें ½ कप गेहूं का आटा, 2 से 3 टेबल स्पून बारीक कटा हरा धनिया, ½ छोटी चम्मच अजवायन, ¾ छोटी चम्मच नमक और 1 छोटी चम्मच तेल डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिला लीजिए.

makke ki roti

हल्के गुनगुने पानी का इस्तेमाल करते हुए नरम आटा तैयार कर लीजिए. ‘मक्की का आटा बाइन्ड करने के बाद, इसे 3 से 4 मिनिट मसल लीजिए. आटे को ढककर 10 मिनिट तक सैट होने के लिए रख दीजिए. इतना आटा लगाने में 1 कप से 1 छोटी चम्मच कम पानी लगा है.

makke ki roti

10 मिनिट बाद, हाथ को घी से चिकना कीजिए और आटे को 2 मिनिट और मसल लीजिए. गुंथे आटे से थोड़ा सा आटा लीजिए. इसको मसलते हुए गोल लोई तैयार कर लीजिए और थोड़ा सा दबाकर सूखे आटे में लपेट लीजिए.

makke ki roti

लोई को दोनों हाथों की उंगलियों से थोड़ा सा बड़ा कर लीजिए. इसे सूखे आटे में फिर से लपेटिए, अतिरिक्त आटा झाड़ दीजिए. इसी बीच तवा गरम होने रख दीजिए.

makke ki roti

रोटी को हल्का दबाव देते हुए मोटा बेल लीजिए.

makke ki roti

रोटी को हाथ में उठाकर दोनों हाथों के बीच थपकी देते हुए हल्का बड़ा लीजिए और गरम तवे पर रोटी सिकने के लिए डाल दीजिए. इसी दौरान, दूसरी रोटी भी इसी तरह तैयार कर लीजिए. रोटी जब ऊपर से गहरे रंग की लगने लगे, तो इसे पलट दीजिए.

makke ki roti

रोटी को दूसरी तरफ से हल्की ब्राउन चित्तियां आने तक सिकने दीजिए. चिमटे से रोटी उठाइए, इसे सीधे आंच पर घुमा घुमाकर दोनों ओर अच्छी ब्राउन चित्तियां आने तक सेक लीजिए. दूसरी रोटी को तवे पर सिकने के लिए डालिए और दूसरे चूल्हे पर रख दीजिए. सारी रोटियां इसी प्रकार बनाकर तैयार कर लीजिए.

makke ki roti

परोसिए
मक्की की स्वादिष्ट रोटियां तैयार हैं. रोटी पर घी लगाइए और इन गरमागरम रोटियों को सरसों के साग, हरे मटर की दाल या कोई भी ग्रेवी वाली सब्जी के साथ में परोसिए. साथ में गुड़ जरूर सर्व कीजिए, यह बहुत ही ज़ायकेदार लगता है.

सुझाव

  • रोटी अपने पसंद के अनुसार थोड़ी सी छोटी या बड़ी बना सकते हैं.
  • अगर लोई को सीधे बेल लें, तो रोटी की किनारे फट जाते हैं. इसलिए लोई को पहले हाथ से बड़ा जरूर लें.
  • रोटी को मोटा ही रखें. अगर पतला करेंगे, तो यह टूट सकती है.
  • रोटी को हाथ में उठाएं और हाथ के बीच में थोड़ा सा थपका लें. इससे अतिरिक्त आटा भी झड़ जाएगा और रोटी भी पतली हो जाएगी.
  • ये रोटियां सिकने में समय ज्यादा लेती हैं. इसलिए हमने दूसरा चूल्हा भी अॉन कर लिया है ताकि तवा ठंडा ना हो और रोटी भी अच्छे से सिक जाए.

Makki ki Roti । मक्की की रोटी आसानी से बनाइये | Makki di Roti easy recipe
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • मक्की का आटा- 2 कप (300 ग्राम)
  • गेहूं का आटा- ½ कप (75 ग्राम)
  • हरा धनिया- 2 से 3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • घी- 2 टेबल स्पून
  • नमक- ¾ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • अजवायन- ½ छोटी चम्मच
  • तेल- 1 छोटी चम्मच
Instructions
  1. बड़े प्याले में 2 कप मक्की का आटा लीजिए. इसमें ½ कप गेहूं का आटा, 2 से 3 टेबल स्पून बारीक कटा हरा धनिया,½ छोटी चम्मच अजवायन, ¾ छोटी चम्मच नमक और 1 छोटी चम्मच तेल डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिला लीजिए.
  2. हल्के गुनगुने पानी का इस्तेमाल करते हुए नरम आटा तैयार कर लीजिए. ‘मक्की का आटा बाइन्ड करने के बाद, इसे 3 से 4 मिनिट मसल लीजिए. आटे को ढककर 10 मिनिट तक सैट होने के लिए रख दीजिए. इतना आटा लगाने में 1 कप से 1 छोटी चम्मच कम पानी लगा है.
  3. मिनिट बाद, हाथ को घी से चिकना कीजिए और आटे को 2 मिनिट और मसल लीजिए.आटे से थोड़ा सा आटा लीजिए. इसको मसलते हुए गोल लोई तैयार कर लीजिए और थोड़ा सा दबाकर सूखे आटे में लपेट लीजिए.
  4. लोई को दोनों हाथों की उंगलियों से थोड़ा सा बड़ा कर लीजिए. इसे सूखे आटे में फिर से लपेटिए, अतिरिक्त आटा झाड़ दीजिए. इसी बीच तवा गरम होने रख दीजिए.
  5. रोटी को हल्का दबाव देते हुए मोटा बेल लीजिए.
  6. रोटी को हाथ में उठाकर दोनों हाथों के बीच थपकी देते हुए हल्का बड़ा लीजिए और गरम तवे पर रोटी सिकने के लिए डाल दीजिए. इसी दौरान, दूसरी रोटी भी इसी तरह तैयार कर लीजिए. रोटी जब ऊपर से गहरे रंग की लगने लगे, तो इसे पलट दीजिए.
  7. रोटी को दूसरी तरफ से हल्की ब्राउन चित्तियां आने तक सिकने दीजिए. चिमटे से रोटी उठाइए, इसे सीधे आंच पर घुमा घुमाकर दोनों ओर अच्छी ब्राउन चित्तियां आने तक सेक लीजिए. दूसरी रोटी को तवे पर सिकने के लिए डालिए और दूसरे चूल्हे पर रख दीजिए. सारी रोटियां इसी प्रकार बनाकर तैयार कर लीजिए.
  8. मक्की की स्वादिष्ट रोटियां तैयार हैं. रोटी पर घी लगाइए और इन गरमागरम रोटियों को सरसों का साग, हरे मटर की दाल या कोई भी ग्रेवी वाली सब्जी के साथ में परोसिए. साथ में गुड़ जरूर सर्व कीजिए, यह बहुत ही ज़ायकेदार लगता है.

 

तिल मूंगफली की गजक । Til Peanut Gazak । Til Mungfali Patti for Makar Sankranti

तिल मूंगफली की गजक सर्दियों में अक्सर लोग खाते रहते हैं. सक्रांति के त्यौहार पर तो इसे काफी विशेष माना गया है. यह गजक इतनी करारी होती है कि खाते ही मन खुश हो जाता है. बाजार में यह बहुतायत में मिलती है. इसे घर पर भी आसानी से बना सकते है. मिठास से भरपूर इस तिल मूंगफली की गजक को एक बार बनाकर एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिए और 2 महीने तक जब मन करे तब निकालकर खाइए.

Til Peanut Gazak | तिल मूंगफली की गजक । Til Mungfali Patti for Makar Sankranti

निर्देश

बनाने की विधि

कढ़ाही गरम करने रखिए. इसमें 1 कप तिल डाल दीजिए और तिल को मध्यम आंच पर हल्के से फूलने और रंग बदलने तक लगातार चलाते हुए भून लीजिए. तिल 3 मिनिट में भुन जाते हैं. भुने हुए तिल को एक प्लेट में निकाल लीजिए ताकि ये जल्दी से ठंडे हो जाएं.

til moongfali pattiगुड़ की चाशनी बनाने के लिए, कढ़ाही में 1 छोटी चम्मच घी डाल दीजिए. घी के पिघलने पर इसमें 1 कप बारीक तोड़ा हुआ गुड़ डाल दीजिए. इसे धीमी आंच पर पकने दीजिए, धीरे-धीरे पिघलने दीजिए. बीच-बीच में गुड़ को चैक करते रहिए.

til moongfali patti 1 कप मूंगफली के दानों को दरदरा मोटा-मोटा पीसकर प्याले में रख लीजिए. तिल के ठंडे होने पर इसमें से लगभग 1/4 कप तिल साबुत अलग रखकर बाकी तिल दरदरे पीस लीजिए. बोर्ड पर घी लगाकर चिकना कर तैयार करके रख लीजिए.

til moongfali pattiगुड़ के पिघलने के बाद आंच तेज कर दीजिए. गुड़ को झाग आने तक थोड़ा सा और पका लीजिए. बाद में, गुड़ की चाशनी चैक कर लीजिए. इसके लिए एक प्याली में थोड़ा सा पानी लीजिए. इसमें गुड़ की चाशनी टपका लीजिए. चाशनी चैक करते समय आंच धीमी कर लीजिए ताकि गुड़ जले ना. चाशनी के ठंडा होने के बाद इसे चैक कीजिए. अगर यह खिंच रही है, तो चाशनी कम पकी है. इसे थोड़ा सा और पका लीजिए.

til moongfali pattiफिर से चाशनी को उसी तरीके से चैक कीजिए. गुड़ की चाशनी के ठंडा होने के बाद इसे हाथ से तोड़कर देखिए. अगर यह टूट रहा है, तो चाशनी बनकर तैयार है. गैस बंद कर दीजिए.

til moongfali pattiचाशनी में मूंगफली के दाने और तिल डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए. गैस हल्की सी अॉन कर लीजिए ताकि यह ठंडा होकर तुरंत से जम ना जाए.

til moongfali pattiगजक का मिश्रण तैयार है, गैस बंद कर दीजिए. इसे चिकने किए हुए बोर्ड पर डालिए. साबुत तिल को ऊपर से छिड़क दीजिए.

til moongfali pattiहाथ और बेलन को थोड़ा सा घी लगाकर चिकना कर लीजिए. फिर, मिश्रण को हाथ से इकट्ठा करके एक जैसा कर लीजिए. यह गरम-गरम ही इकट्ठा करके सैट किया जाता है क्योंकि ठंडा होने पर यह जल्दी से जम जाता है.

til moongfali pattiथोड़े से तिल बोर्ड पर डालिए और मिश्रण के चारों ओर तिल लपेट लीजिए. इसे हाथ से दबाकर थोड़ा सा बढ़ा लीजिए. इसे 1/3 से 1/2 से.मी. की मोटाई रखते हुए बेलन से बेल लीजिए.

til moongfali pattiबेली हुई शीट को अपनी पसंद के अनुसार छोटे या बड़े टुकड़ों में काट लीजिए और ठंडा होने दीजिए. इसके बाद, इन टुकड़ों को बोर्ड से निकाल लीजिए.

til moongfali patti

परोसिए
सर्दियों की खास तिल मूंगफली की गजक बनकर तैयार है. यह बहुत ही क्रिस्पी है. इसे पूरी तरह से ठंडा होने के बाद एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख दीजिए और पूरे 1 से 2 महीने तक खाते रहिए.

सुझाव

  • चाशनी बनाते हुए थोड़ी सावधानी बरतें. अगर चाशनी थोड़ी कम पकी हो, तो गजक नरम बनेगी.
  • अगर चाशनी थोड़ी ज्यादा पक जाए, तो उसका स्वाद कढ़वा हो जाएगा और गजक का स्वाद भी अच्छा नही रहेगा. इसलिए चाशनी को चैक करते हुए बनाएं.
  • जब चाशनी की कन्सिस्टेन्सी चैक करें, तब आंच कम कर लें ताकि चाशनी जले ना.
  • हमने पिसे हुए मूंगफली के दाने और तिल चाशनी में डालते समय गैस बंद कर दी थी जिससे कि मिश्रण जले ना. जब ये थोड़ा सही से मिक्स हो जाए, तब हल्की सी गैस अॉन कर लीजिए ताकि मिश्रण ठंडा होकर जल्दी से सैट ना हो जाए.

तिल मूंगफली की गजक । Til Peanut Gazak । Til Mungfali Patti for Makar Sankranti
Author: 
Recipe type: Sweets
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • तिल- 1 कप (135 ग्राम)
  • मूंगफली के दाने- 1 कप (150 ग्राम)
  • गुड़- 1 कप (250 ग्राम) (क्रम्बल किया हुआ)
  • घी- 2 टेबल स्पून
Instructions
  1. कढ़ाही गरम करने रखिए. इसमें 1 कप तिल डाल दीजिए और तिल को मध्यम आंच पर हल्के से फूलने और रंग बदलने तक लगातार चलाते हुए भून लीजिए. तिल 3 मिनिट में भुन जाते हैं. भुने हुए तिल को एक प्लेट में निकाल लीजिए ताकि ये जल्दी से ठंडे हो जाएं.
  2. गुड़ की चाशनी बनाने के लिए, कढ़ाही में 1 छोटी चम्मच घी डाल दीजिए. घी के पिघलने पर इसमें 1 कप बारीक तोड़ा हुआ गुड़ डाल दीजिए. इसे धीमी आंच पर पकने दीजिए, धीरे-धीरे पिघलने दीजिए. बीच-बीच में गुड़ को चैक करते रहिए.
  3. कप मूंगफली के दानों को दरदरा मोटा-मोटा पीसकर प्याले में रख लीजिए. तिल के ठंडे होने पर इसमें से लगभग ¼ कप तिल साबुत अलग रखकर बाकी तिल दरदरे पीस लीजिए. बोर्ड पर घी लगाकर चिकना कर तैयार करके रख लीजिए.
  4. गुड़ के पिघलने के बाद आंच तेज कर दीजिए. गुड़ को झाग आने तक थोड़ा सा और पका लीजिए. बाद में, गुड़ की चाशनी चैक कर लीजिए. इसके लिए एक प्याली में थोड़ा सा पानी लीजिए. इसमें गुड़ की चाशनी टपका लीजिए. चाशनी चैक करते समय आंच धीमी कर लीजिए ताकि गुड़ जले ना. चाशनी के ठंडा होने के बाद इसे चैक कीजिए. अगर यह खिंच रही है, तो चाशनी कम पकी है. इसे थोड़ा सा और पका लीजिए.
  5. फिर से चाशनी को उसी तरीके से चैक कीजिए. गुड़ की चाशनी के ठंडा होने के बाद इसे हाथ से तोड़कर देखिए. अगर यह टूट रहा है, तो चाशनी बनकर तैयार है. गैस बंद कर दीजिए.
  6. चाशनी में मूंगफली के दाने और तिल डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिक्स कर लीजिए. गैस हल्की सी अॉन कर लीजिए ताकि यह ठंडा होकर तुरंत से जम ना जाए.
  7. गजक का मिश्रण तैयार है, गैस बंद कर दीजिए. इसे चिकने किए हुए बोर्ड पर डालिए. साबुत तिल को ऊपर से छिड़क दीजिए.
  8. हाथ और बेलन को थोड़ा सा घी लगाकर चिकना कर लीजिए. फिर, मिश्रण को हाथ से इकट्ठा करके एक जैसा कर लीजिए. यह गरम-गरम ही इकट्ठा करके सैट किया जाता है क्योंकि ठंडा होने पर यह जल्दी से जम जाता है.
  9. थोड़े से तिल बोर्ड पर डालिए और मिश्रण के चारों ओर तिल लपेट लीजिए. इसे हाथ से दबाकर थोड़ा सा बढ़ा लीजिए. इसे ⅓ से ½ से.मी. की मोटाई रखते हुए बेलन से बेल लीजिए.
  10. बेली हुई शीट को अपनी पसंद के अनुसार छोटे या बड़े टुकड़ों में काट लीजिए और ठंडा होने दीजिए. इसके बाद, इन टुकड़ों को बोर्ड से निकाल लीजिए.
  11. सर्दियों की खास तिल मूंगफली की गजक बनकर तैयार है. यह बहुत ही क्रिस्पी है. इसे पूरी तरह से ठंडा होने के बाद एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख दीजिए और पूरे 1 से 2 महीने तक खाते रहिए.

 

बची हुई दाल के पराठे। Leftover Dal Paratha । Dal Paratha recipe

दाल आपके घर में आए दिन बनती ही रहती होगी. अगर कभी बनी हुई दाल बच जाए, तो इसे फिर से ऎसे ही खाने का मन तो शायद ही कम लोगों का होता होगा लेकिन बची हुई दाल के पराठे बना लिए जाए, तो बनी हुई दाल भी बेकार नही जाती और आपको एक अलग स्वाद भी मिल जाता है. मसाला पराठा की तरह ही स्वादिष्ट लगने वाले बची हुई दाल के ये पराठे आप किसी भी समय मज़े से बनाकर खा सकते हैं. बच्चों के टिफिन में भी पैक करने के लिए यह एक बेहतरीन रेसिपी है.

Leftover Dal Paratha | बची हुई दाल का मसालेदार परांठा । Dal Paratha recipe

निर्देश

बनाने की विधि

प्याले में 2 कप गेहूं का आटा लीजिए. आटे के बीच में थोड़ी सी जगह बनाकर इसमें बची हुई दाल डाल दीजिए.

dal paratha

आटे में ½ छोटी चम्मच जीरा, ½ छोटी चम्मच नमक और 2 बारीक कटी हरी मिर्च डाल दीजिए. साथ ही 1 छोटी चम्मच तेल और 2 से 3 टेबल स्पून हरा धनिया भी डाल दीजिए. दाल को आटे में मिलाते हुए सादे पराठे जैसा नरम गूंथ लीजिए. आटा सख्त और सूखा लग रहा हो, तो इसमें थोड़ा सा पानी डालकर गूंथिए. इसमें 2 टेबल स्पून पानी का इस्तेमाल हुआ है.

dal paratha

आटे को ढककर 15 से 20 मिनिट के लिए सैट होने रख दीजिए. 20 मिनिट बाद, हाथ को थोड़े से तेल से चिकना करके आटे को मसलकर चिकना कर लीजिए.

dal paratha

पराठे बेलने के लिए आटे से लोइयां तोड़ लीजिए. इससे गोल लोई बनाकर चपटा करके सूखे आटे में लपेटिए.

dal paratha

पराठे को 3 से 4 इंच व्यास में गोल बेल लीजिए. इसके ऊपर थोड़ा सा तेल डाल लीजिए और चारों ओर एक जैसा फैला लीजिए. पराठे को आधा करते हुए मोड़िए और इसे फिर से आधा करते हुए मोड़ लीजिए. तिकोन लोई तैयार हो जाएगी. लोई को सूखे आटे में लपेट लीजिए और इसे तिकोने आकार में ही हल्का मोटा पराठा बेल लीजिए.

dal paratha

तवा गरम कीजिए. इस पर थोड़ा सा तेल डालकर चिकना कर लीजिए. गरम तवे पर पराठा सिकने के लिए डालिए और पराठे को नीचे से हल्का सा सेकिए और उसके बाद पलट दीजिए. पराठे को दूसरी ओर हल्की ब्राउन चित्ती आने तक सेकिए.

dal paratha

पराठे के दोनों ओर तेल लगा लीजिए और पराठे को मध्यम आंच पर पलट-पलट कर दोनों और ब्राउन चित्ती आने तक सेक लीजिए. सिके हुए पराठे को प्लेट पर रखी हुई प्याली पर रखिए या फिर खाने वाले की थाली में सीधे परोस दीजिए.

dal paratha

चौकोर पराठा बनाने के लिए लोई पहले वाले तरीके से ही बनाएं और सूखे आटे में लपेटकर इसे 5 से 6 इंच के व्यास में पतला बेल लीजिए. इसके ऊपर थोड़ा सा तेल डालकर चारों ओर एक जैसा फैलाएं.

dal paratha

पराठे को तीन हिस्सों में बांटते हुए फोल्ड कर लीजिए. फिर इसके ऊपर थोड़ा सा घी डालकर चारों तरफ फैला लीजिए और फिर से तीन हिस्से करते हुए मोड़ लीजिए. चौकोर लोई तैयार हो जाएगी. लोई को सूखे आटे में लपेटिए और चौकोर आकार में ही हल्का मोटा बेल लीजिए. पराठे को बिल्कुल तिकोन पराठे की तरह ही सेककर तैयार कर लीजिए.

dal paratha

परोसिए
बची हुई दाल के पराठे बनकर तैयार है. इतने आटे से 9 पराठे बनकर तैयार है. इन खस्ता और स्वादिष्ट पराठों को चटनी, अचार, रायता, दही या अपनी पसंद की किसी भी सब्जी के साथ गरमागरम परोसिए.

सुझाव

  • अगर आप इन पराठों को और ज्यादा मसालेदार बनाना चाहते हैं, तो इसमें लाल मिर्च पाउडर, गरम मसाला, कतरी हुई प्याज या अपनी पसंद के अनुसार मसाले डाल सकते हैं.
  • अगर आटा ज्यादा नरम हो रहा हो, तो उसमें थोड़ा सा सूखा आटा मिला लें.
  • पराठे को घी से भी बना सकते हैं.
  • पराठे आप अपनी पसंद के अनुसार बड़े या छोटे बना सकते हैं.
  • पराठा बेलते समय चिपकने लगे, तो इसे सूखे आटे में लपेटकर बेलिए.
  • आप पराठे नही खाना चाहते, तो इससे रोटी भी बना सकते हैं.
  • इन पराठों को किसी भी बची हुई दाल जैसे कि अरहर, मूंग, चना और मसूर की दाल से इसी तरह आटा गूंथकर बना जा सकते हैं.

बची हुई दाल के पराठे। Leftover Dal Paratha । Dal Paratha recipe
Author: 
Recipe type: Main Course
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • गेहूं का आटा- 2 कप (300 ग्राम)
  • बची हुई दाल- 1 प्याली
  • हरा धनिया- 2 से 3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • तेल- 3 से 4 टेबल स्पून
  • नमक- ½ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • जीरा- ½ छोटी चम्मच
  • हरी मिर्च- 2 (बारीक कटी हुई)
Instructions
  1. प्याले में 2 कप गेहूं का आटा लीजिए. आटे के बीच में थोड़ी सी जगह बनाकर इसमें बची हुई दाल डाल दीजिए.
  2. आटे में ½ छोटी चम्मच जीरा, ½ छोटी चम्मच नमक और 2 बारीक कटी हरी मिर्च डाल दीजिए. साथ ही 1 छोटी चम्मच तेल और 2 से 3 टेबल स्पून हरा धनिया भी डाल दीजिए. दाल को आटे में मिलाते हुए सादे पराठे जैसा नरम गूंथ लीजिए. आटा सख्त और सूखा लग रहा हो, तो इसमें थोड़ा सा पानी डालकर गूंथिए. इसमें 2 टेबल स्पून पानी का इस्तेमाल हुआ है.
  3. आटे को ढककर 15 से 20 मिनिट के लिए सैट होने रख दीजिए. 20 मिनिट बाद, हाथ को थोड़े से तेल से चिकना करके आटे को मसलकर चिकना कर लीजिए.
  4. पराठे बेलने के लिए आटे से लोइयां तोड़ लीजिए. इससे गोल लोई बनाकर चपटा करके सूखे आटे में लपेटिए
  5. पराठे को 3 से 4 इंच व्यास में गोल बेल लीजिए. इसके ऊपर थोड़ा सा तेल डाल लीजिए और चारों ओर एक जैसा फैला लीजिए. पराठे को आधा करते हुए मोड़िए और इसे फिर से आधा करते हुए मोड़ लीजिए. तिकोन लोई तैयार हो जाएगी. लोई को सूखे आटे में लपेट लीजिए और इसे तिकोने आकार में ही हल्का मोटा पराठा बेल लीजिए.
  6. तवा गरम कीजिए. इस पर थोड़ा सा तेल डालकर चिकना कर लीजिए. गरम तवे पर पराठा सिकने के लिए डालिए और पराठे को नीचे से हल्का सा सेकिए और उसके बाद पलट दीजिए. पराठे को दूसरी ओर हल्की ब्राउन चित्ती आने तक सेकिए.
  7. पराठे के दोनों ओर तेल लगा लीजिए और पराठे को मध्यम आंच पर पलट-पलट कर दोनों और ब्राउन चित्ती आने तक सेक लीजिए. सिके हुए पराठे को प्लेट पर रखी हुई प्याली पर रखिए या फिर खाने वाले की थाली में सीधे परोस दीजिए.
  8. चौकोर पराठा बनाने के लिए लोई पहले वाले तरीके से ही बनाएं और सूखे आटे में लपेटकर इसे 5 से 6 इंच के व्यास में पतला बेल लीजिए. इसके ऊपर थोड़ा सा तेल डालकर चारों ओर एक जैसा फैलाएं.
  9. पराठे को तीन हिस्सों में बांटते हुए फोल्ड कर लीजिए. फिर इसके ऊपर थोड़ा सा घी डालकर चारों तरफ फैला लीजिए और फिर से तीन हिस्से करते हुए मोड़ लीजिए. चौकोर लोई तैयार हो जाएगी. लोई को सूखे आटे में लपेटिए और चौकोर आकार में ही हल्का मोटा बेल लीजिए. पराठे को बिल्कुल तिकोन पराठे की तरह ही सेककर तैयार कर लीजिए.
  10. बची हुई दाल के पराठे बनकर तैयार है. इतने आटे से 9 पराठे बनकर तैयार है. इन खस्ता और स्वादिष्ट पराठों को चटनी, अचार, रायता, दही या अपनी पसंद की किसी भी सब्जी के साथ गरमागरम परोसिए.

 

भावनगरी गांठिया Bhavnagari Gathiya । How to make Bhavnagari Gathiya

बेसन, मसालों से बनने वाला बहुत ही उम्दा स्नैक्स- भावनगरी गांठिया, बच्चों से बुजुर्गों तक सभी को भाता है. यह क्रिस्पी और टेस्टी गांठियां दिन में किसी भी समय चाय, कॉफी के साथ या ऎसे ही खाली भी खा सकते हैं. लम्बे समय तक चलने वाली यह गुजराती नमकीन सभी बड़े चाव से खाते हैं. ये बेहद आसानी और जल्दी से बन जाती है. आइए इस मशहूर भावनागरी गांठिया को आप और हम मिलकर बनाएं.

Bhavnagari Gathiya | भावनगरी गांठिया । How to make Bhavnagari Gathiya

निर्देश

बनाने की विधि
पैन में ½ कप तेल डालकर गरम कर लीजिए. तेल गरम होने पर गैस बंद कर दीजिए. इसमें 1.25 छोटी चम्मच नमक और ½ छोटी चम्मच बेकिंग सोडा डालकर मिला लीजिए.

makhaniya gaathiyaएक बड़े प्याले में बेसन लीजिए. इसमें गरम तेल डाल दीजिए. हाथ से मसलकर ½ छोटी चम्मच अजवायन , 1 पिंच हींग और 1.5 छोटी चम्मच दरदरी कुटी काली मिर्च भी डाल दीजिए. सारी सामग्रियों को अच्छे से मिला लीजिए. इसमें थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर बहुत ही नरम आटा गूंथ लीजिए. इतना आटा लगाने में ¾ कप पानी का उपयोग हुआ है और आटे को कुल 10 मिनिट फैंट-फैंटकर तैयार किया है.

makhaniya gaathiyaगांठिया तलने के लिए कढ़ाही में तेल गरम करने के लिए रख दीजिए. सेव मशीन लीजिए. इसमें मोटे सेव वाली जाली लगाकर सैट कर दीजिए. हाथ को थोड़े से तेल से चिकना कर लीजिए और थोड़ा सा गुथा बेसन लेकर इसे लंबाई में आकार देते हुए मशीन में डाल दीजिए. मशीन को बंद कर लीजिए.

makhaniya gaathiyaतेल गरम होने पर इसे चैक कर लीजिए. गांठिया तलने के लिए तेल मध्यम तेज गरम और आंच मध्यम चाहिए. गरम तेल में मशीन से गांठिया बनाकर डाल दीजिए. जब तेल में झाग कम हो जाएं, तब गांठिया को पलट दीजिए.

makhaniya gaathiyaसिके हुए गांठिया को कलछी पर कढ़ाही के किनारे थोड़ी देर रोक लीजिए और फिर, प्लेट में निकाल लीजिए. सारे गांठियां इसी तरह से बनाकर तैयार कर लीजिए.

makhaniya gaathiya

परोसिए
भावनगरी गाठिया तैयार हैं. एक बार के गांठियां तलने में 2 मिनिट लग जाते हैं. इनको पूरी तरह से ठंडा होने के बाद तोड़कर किसी भी एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिए और पूरे 2 से 3 महीने तक खाते रहें.

सुझाव

  • वैसे आटे को हाथ से गूंथा जाता है लेकिन आप इसके लिए चम्मच का यूज भी कर सकते हैं.
  • आटे को पकौड़े के घोल की तरह पतला ना करें और ना ही ज्यादा सख्त लगाएं. इसे चपाती के आटे से भी नरम तैयार करें.
  • गाठिया तलते समय ध्यान रखें कि तेल मध्यम तेज गरम हो और आंच भी मध्यम हो.

भावनगरी गांठिया Bhavnagari Gathiya । How to make Bhavnagari Gathiya
Author: 
Recipe type: Snacks
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • बेसन- 2 कप (250 ग्राम)
  • तेल- ½ कप (100 ग्राम) और तलने के लिए
  • बेकिंग सोडा- ½ छोटी चम्मच
  • काली मिर्च- 1.5 छोटी चम्मच (दरदरी कुटी हुई)
  • अजवायन- 1 छोटी चम्मच
  • नमक- 1.5 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
  • हींग- 1 पिंच
Instructions
  1. पैन में ½ कप तेल डालकर गरम कर लीजिए. तेल गरम होने पर गैस बंद कर दीजिए. इसमें 1.25 छोटी चम्मच नमक और ½ छोटी चम्मच बेकिंग सोडा डालकर मिला लीजिए.
  2. एक बड़े प्याले में बेसन लीजिए. इसमें गरम तेल डाल दीजिए. हाथ से मसलकर ½ छोटी चम्मच अजवायन , 1 पिंच हींग और 1.5 छोटी चम्मच दरदरी कुटी काली मिर्च भी डाल दीजिए. सारी सामग्रियों को अच्छे से मिला लीजिए. इसमें थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर बहुत ही नरम आटा गूंथ लीजिए. इतना आटा लगाने में ¾ कप पानी का उपयोग हुआ है और आटे को कुल 10 मिनिट फैंट-फैंटकर तैयार किया है.
  3. गांठिया तलने के लिए कढ़ाही में तेल गरम करने के लिए रख दीजिए. सेव मशीन लीजिए. इसमें मोटे सेव वाली जाली लगाकर सैट कर दीजिए. हाथ को थोड़े से तेल से चिकना कर लीजिए और थोड़ा सा गुथा बेसन लेकर इसे लंबाई में आकार देते हुए मशीन में डाल दीजिए. मशीन को बंद कर लीजिए.
  4. तेल गरम होने पर इसे चैक कर लीजिए. गांठिया तलने के लिए तेल मध्यम तेज गरम और आंच मध्यम चाहिए. गरम तेल में मशीन से गांठिया बनाकर डाल दीजिए. जब तेल में झाग कम हो जाएं, तब गांठिया को पलट दीजिए.
  5. सिके हुए गांठिया को कलछी पर कढ़ाही के किनारे थोड़ी देर रोक लीजिए और फिर, प्लेट में निकाल लीजिए. सारे गांठियां इसी तरह से बनाकर तैयार कर लीजिए.
  6. भावनगरी गाठिया तैयार हैं. एक बार के गांठियां तलने में 2 मिनिट लग जाते हैं. इनको पूरी तरह से ठंडा होने के बाद तोड़कर किसी भी एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिए और पूरे 2 से 3 महीने तक खाते रहें.

 

चावल गुड़ के लड्डू । Chawal ke Laddu। Rice Flour Laddu with Jaggery Recipe

सर्दियों में तिल और गुड़ से बने पकवान बहुत ही मज़ेदार लगते हैं. अगर इसमें चावल का ट्विस्ट दे दिया जाए, तो स्वाद और भी बढ़ जाएगा. ये लड्डू जरा से घी से आसानी से बन जाते हैं और घी कम पसंद करने वाले भी इसे खाने से ना नही कर पाते हैं. स्वाद में उम्दा होने के साथ साथ ये लड्डू पौष्टिक भी होते हैं. तो इस थरथराती सर्दियों के मौसम में ये स्वास्थ्यवर्धक चावल गुड़ के लड्डू बनाकर रख लीजिए और पूरे एक माह तक जब मन करे तब खाइए.

Chawal ke Laddu | चावल गुड़ के लड्डू । Rice Flour Laddu wtih Jaggery Recipe

निर्देश

बनाने की विधि
कढ़ाही में चावल का आटा डाल दीजिए. गैस अॉन कीजिए और चावल का रंग बदलने तक 10 मिनिट इसे मध्यम आंच पर भून लीजिए. गैस बंद कीजिए और भुने आटे को निकालकर एक अलग प्याले में रख लीजिए.

rice jaggery ladoo

कढ़ाही में तिल डाल दीजिए. तिल को फूलने और रंग बदलने तक 2 मिनिट लगातार चलाते हुए मध्यम आंच पर भून लीजिए. तिल भुन जाने पर इनको आटे में मिला दीजिए.

rice jaggery ladoo

गुड़ से चाशनी बनाने के लिए कढ़ाही में 1 कप क्रम्बल्ड गुड़ और आधा कप पानी डाल दीजिए. गैस अॉन कीजिए. गुड़ को पानी में घुलने के 1 मिनिट बाद तक पका लीजिए. इसे 2 मिनिट पकाया गया है.

rice jaggery ladoo

चाशनी चैक करने के लिए, कुछ बूंदे प्याली में डालिए और ठंडा होने पर उंगली और अंगूठे के बीच में चिपकाकर देखिए, इसमें चिपचिपापन होना चाहिए. चाशनी तैयार है. गैस बंद कर दीजिए.

rice jaggery ladoo

तिल आटे में 1 कप कद्दूकस किया हुआ नारियल और ½ छोटी चम्मच इलायची पाउडर डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिलने तक मिक्स कीजिए.

rice jaggery ladoo

गुड़ के सीरप को इसमें छानकर डालिए. इसे मिला लीजिए. साथ ही 2 टेबल स्पून घी भी डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लीजिए. लड्डू बनाने के लिए मिश्रण तैयार है.

rice jaggery ladooहाथ को थोड़े से घी से चिकना कर लीजिए. थोड़ा सा मिश्रण लीजिए और गोल करके बाइन्ड करते हुए लड्डू बना लीजिए. सारे लड्डू इसी तरह बनाकर तैयार कर लीजिए.

rice jaggery ladoo

परोसिए
8. सर्दियों के खास चावल गुड़ के लड्डू तैयार हैं. इतने मिश्रण से 12 लड्डू बनकर तैयार हो जाते हैं. इनको पूरी तरह ठंडा होने के बाद किसी भी एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिए और पूरे 1 महीने तक खाते रहिए.

सुझाव

  • चावल का आटा बाजार में आसानी से मिल जाता है. आप इसे घर पर भी बना सकते हैं. चावल का आटा बनाने की विधि हमारे चैनल और वेबसाइट पर देख सकते हैं.
  • अगर आपके गुड़ में गंदगी लगे, तो आप इसे छान सकते हैं.
  • तिल, नारियल और गुड़ आप अपने स्वाद के अनुसार कम या ज्यादा ले सकते हैं.

चावल गुड़ के लड्डू । Chawal ke Laddu। Rice Flour Laddu with Jaggery Recipe
Author: 
Recipe type: Sweets
Cuisine: Indian
Prep time: 
Cook time: 
Total time: 
Serves: 4
 
Ingredients
  • चावल का आटा- 1.25 कप (200 ग्राम)
  • गुड़- 1 कप (200 ग्राम) (क्रम्बल किया हुआ)
  • तिल- 1 कप से कम (100 ग्राम)
  • सूखा नारियल- 1 कप (50 ग्राम)
  • घी- 2 टेबल स्पून
  • इलायची पाउडर- ½ छोटी चम्मच
Instructions
  1. कढ़ाही में चावल का आटा डाल दीजिए. गैस अॉन कीजिए और चावल का रंग बदलने तक 10 मिनिट इसे मध्यम आंच पर भून लीजिए. गैस बंद कीजिए और भुने आटे को निकालकर एक अलग प्याले में रख लीजिए.
  2. कढ़ाही में तिल डाल दीझिए. तिल को फूलने और रंग बदलने तक 2 मिनिट लगातार चलाते हुए मध्यम आंच पर भून लीजिए. तिल भुन जाने पर इनको आटे में मिला दीजिए.
  3. गुड़ से चाशनी बनाने के लिए कढ़ाही में 1 कप क्रम्बल्ड गुड़ और आधा कप पानी डाल दीजिए. गैस अॉन कीजिए. गुड़ को पानी में घुलने के 1 मिनिट बाद तक पका लीजिए. इसे 2 मिनिट पकाया गया है.
  4. चाशनी चैक करने के लिए, कुछ बूंदे प्याली में डालिए और ठंडा होने पर उंगली और अंगूठे के बीच में चिपकाकर देखिए, इसमें चिपचिपापन होना चाहिए. चाशनी तैयार है. गैस बंद कर दीजिए.
  5. तिल आटे में 1 कप कद्दूकस किया हुआ नारियल और ½ छोटी चम्मच इलायची पाउडर डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे से मिलने तक मिक्स कीजिए.
  6. गुड़ के सीरप को इसमें छानकर डालिए. इसे मिला लीजिए. साथ ही 2 टेबल स्पून घी भी डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लीजिए. लड्डू बनाने के लिए मिश्रण तैयार है.
  7. हाथ को थोड़े से घी से चिकना कर लीजिए. थोड़ा सा मिश्रण लीजिए और गोल करके बाइन्ड करते हुए लड्डू बना लीजिए. सारे लड्डू इसी तरह बनाकर तैयार कर लीजिए.
  8. सर्दियों के खास चावल गुड़ के लड्डू तैयार हैं. इतने मिश्रण से 12 लड्डू बनकर तैयार हो जाते हैं. इनको पूरी तरह ठंडा होने के बाद किसी भी एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिए और पूरे 1 महीने तक खाते रहिए.